जबलपुर

सालों सें लंबित मामले सुलझने पर खिल उठे आवेदकों के चेहरे, मध्यप्रदेश में 58 हजार से ज्यादा प्रकरण निपटाए गए

 

राष्ट्रीय लोक अदालत में करीब 5 अरब से अधिक का मुआवजा किया गया वितरित

 

जबलपुर,यशभारत। आपसी रजामंदी से नेशनल लोक अदालत में जब सालों से लंबित पड़े मामले सुलझे तो आवेदकों के चेहरे खुशी से खिल उठे। जानकारी के अनुसार प्रदेश भर में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में 58 हजार से अधिक प्रकरणों को आपसी सामंजस्य से निराकृत किया गया है जिसमें करीब 4 अरब 77 करोड़ 75 लाख 371 रुपए का मुआवज वितरित किया गया है।

प्रकरणों के निराकरण से पहले मुख्य न्यायाधीश रवि मलिमठ के मार्गदर्शन में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत का शुभारंभ मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यपालक अध्यक्ष न्यायमूर्ति शीलू नागू और हाईकोर्ट विधिक सेवा समिति के अध्यक्ष न्यायमूर्ति विवेक अग्रवाल ने किया । जानकारी के अनुसार हाईकोर्ट की मुख्यपीठ जबलपुर और खंडपीठ इंदौर, ग्वालियर में 6 खंडपीठों का निराकरण के लिए गठन किया गया था।

प्राधिकरण के सदस्य सचिव रत्नेश चंद्र सिंह बिसेन ने जानकारी देते हुए बताया कि नेशनल लोक अदालत में लंबित 1 लाख 92 हजार 588 प्रकरणों को निराकरण के लिए रखा गया था जिसमें से 24 हजार 758 प्रकरणों का आपसी रजामंदी से निराकरण किया गया। इस दौरान आवेदकों को करीब 3 अरब 43 करोड़ 25 लाख 22 हजार 581 रुपए का मुआवजा वितरित किया गया।

जिला कोर्ट में 39 करोड़ 58 लाख 58 हजार का मुआवजा वितरित
जिला कोर्ट में 4631 प्रकरणों का निराकरण किया गया। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के अध्यक्ष प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश आलोक अवस्थी के मार्गदर्शन में जिला न्याययालय में आपसी सामंजस्य से 4631 प्रकरणों का निराकरण करते हुए 39 करोड़ 58 लाख 58 हजार 438 रुपए का मुआवजा वितरित किया गया। इन प्रकरणों के निराकरण के लिए 78 खंडपीठों का गठन किया गया था।
०००००००००००००

Rate this post

Yash Bharat

Editor With मीडिया के क्षेत्र में करीब 5 साल का अनुभव प्राप्त है। Yash Bharat न्यूज पेपर से करियर की शुरुआत की, जहां 1 साल कंटेंट राइटिंग और पेज डिजाइनिंग पर काम किया। यहां बिजनेस, ऑटो, नेशनल और इंटरटेनमेंट की खबरों पर काम कर रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button