जबलपुरभोपालमध्य प्रदेश

कमलनाथ की जगह पटवारी बने कांग्रेस अध्यक्ष, सिंघार नेता प्रतिपक्ष……….. सवर्ण, आदिवासी, पिछड़ों के सहारे कांग्रेस में नए युग की शुरुआत

जबलपुर यश भारत।कांग्रेस ने शनिवार को अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) से आने वाले 50 वर्षीय जीतू पटवारी को पार्टी की मध्य प्रदेश इकाई का अध्यक्ष नियुक्त किया। पटवारी पार्टी के वरिष्ठ नेता कमलनाथ की जगह लेंगे। आदिवासी समुदाय से आने वाले राज्य के पूर्व मंत्री 48 वर्षीय उमंग सिंघार को कांग्रेस विधायक दल का नेता और एक ब्राह्मण युवा हेमंत कटारे (38) को उप नेता प्रतिपक्ष नियुक्त किया गया है। कांग्रेस की वरिष्ठ नेत्री और नेता प्रतिपक्ष रही स्व. जमुना देवी के भतीजे आदिवासी नेता उमंग सिंघार चार बार के विधायक है। 2018 से 2020 तक वे वन मंत्री रहे। धार जिले के गंधवानी विधान सभा क्षेत्र से सिंघार इस बार चौथी बार चुने गए हैं। 2018 में जब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार थी, तब उमंग सिंघार वन मंत्री थे। बीजेपी अक्सर युवाओं को मौका देती है। ऐसे में कांग्रेस ने इस बार यह संदेश देने की कोशिश की है कि कांग्रेस में भी युवाओं को मौका मिल सकता है। कांग्रेस जीतू पटवारी को जिम्मेदारी देकर यह संदेश देने की कोशिश कर रही है वंशवाद की राजनीति से अलग युवाओं को मौका दे रहे हैं। कांग्रेस ने इस बार युवा चेहरे को मौका दिया है। जीतू पटवारी किसी भी खेमे के नहीं हैं। राहुल गांधी के करीबी माने जाते हैं, हालांकि इस बार राऊ विधानसभा सीट से अपना चुनाव हार गए हैं। पटवारी ओबीसी वर्ग से आते हैं। लोकसभा चुनाव 2024 में ओबीसी वोटर्स को साधने के लिए कांग्रेस ने नया प्रयोग किया है। आइए जानते हैं वो पांच कारण जिससे हाई कमान ने राहुल गांधी के करीबी जीतू पटवारी को प्रदेश अध्यक्ष बनाया है।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!
5/5 - (1 vote)

Related Articles

Back to top button