इंदौरग्वालियरजबलपुरभोपालमध्य प्रदेशराज्य

अब स्कूली बच्चों की ऑनलाइन लगेगी अटेंडेंस राज शिक्षा केंद्र जारी किया आदेश

जबलपुर यश भारत। सरकारी स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति बढ़ाने के लिए और उनका मन पढ़ाई में लगे इसके लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने नया प्लान तैयार किया है। इसके तहत अब स्कूली बच्चों की ऑनलाइन अटेंडेंस लगेगी इस संबंध में राज शिक्षा केंद्र ने आदेश जारी करते हुए समस्त जिला शिक्षा अधिकारी जिला परियोजना समन्वयक सहित शिक्षा विभाग के अधिकारियों को पत्र भेजा है।

राज्य शिक्षा केंद्र आयुक्त ने अपने पत्र में कहा है कि शिक्षा के अधिकार अधिनियम के अंतर्गत शाला जाने योग्य बच्चों का शाला में नामांकन, शाला में उपस्थिति एवं गुणवत्ता युक्त शिक्षा प्रदाय करने का प्रावधान है। वर्तमान में म०प्र० शासन के द्वारा शिक्षा को प्राथमिकता में लेते हुये अध्ययनरत बच्चों की शैक्षणिक गुणवत्ता में उपलब्धि हेतु सतत प्रयास किये जा रहें है। अध्ययनरत बच्चों में गुणवत्ता उपलब्धि के लिये यह आवश्यक है कि बच्चें शाला में नियमित रूप से उपस्थित हो। वर्तमान में शाला में आने वाले बच्चों की दैनिक उपस्थिति की मॉनिटरिंग हेतु कोई व्यवस्था नहीं है। अतः विभाग द्वारा एक ऐसा तंत्र विकसित किया गया है, जिससे छात्रों की राज्य, जिला एवं विकासखंड स्तर पर दैनिक मॉनिटरिंग की सके। इस सिस्टम को हाज़री ऑनलाईन अटेन्डेन्स सिस्टम के नाम से जाना जायेगा।

 

उददेश्य

 

छात्रों की दैनिक उपस्थिति हेतु सिस्टम विकसित कर छात्रों की औसत उपस्थिति सुनिश्चित करते हुये गुणवत्ता युक्त शिक्षा को प्रभावी बनाना ।

 

• कमजोर उपस्थिति वाले छात्रों की जानकारी एकत्रित कर कारणों का अध्ययन करते हुये युक्तियुक्त समाधान तैयार करना।

 

• मॉनिटरिंग तंत्र को प्रभावी एवं उत्तरदायी बनाना। प्रक्रिया

 

• विभाग द्वारा हाज़री ऑनलाईन अटेन्डेन्स सिस्टम के लिये मोबाईल एप्प तैयार किया गया है। • एम-शिक्षामित्र एप्प को प्लेस्टोर से डाउनलोड / अपडेट करके हाज़री मॉडयूल के माध्यम से

 

शाला के प्रधानाध्यापक / संस्था प्रभारी बच्चों / शिक्षकों की उपस्थिति दर्ज कर सकेगें।

 

• उस स्कूल में पदस्थ शिक्षकों एवं प्रधानाध्यापक की जानकारी HRMIS से उपलब्ध होगी। • एप्प में शालावार कर्मचारियों को जोड़ने या हटाने के लिये DDO से संर्पक कर जानकारी

 

अपडेट की जा सकेगी।

 

• प्रदेश के दुरस्थ क्षेत्रों में समान्यतः मोबाईल नेटवर्क की उपलब्धता नहीं होने के कारण मोबाईल एप्प को इस तरह डिजाईन किया गया है जिससे इसे ऑफलाईन उपयोग किया जा सके। यूजर नेटवर्क एरिया में आने पर डेटा स्वतः अपलोड हो सकेगा।

 

3/ एप्प के माध्यम से दैनिक रूप से की जाने वाली गतिविधिया

 

शाला के प्रधानाध्यापक शाला में पदस्थ शिक्षक एवं बच्चों प्रतिदिन हाज़री मॉडयूल एप्प के माध्यम से शाला प्रारंभ होने के एक घंटे के अन्दर छात्रों की उपस्थिति दर्ज करेगे। इससे बच्चों की शाला में प्रतिदिन उपस्थिति ज्ञात हो सकेगी।

 

साय:05 बजे के बाद बच्चों की उपस्थिति दर्ज नहीं की जा सकेगी।

 

एप्प पर कक्षावार शाला में दर्ज बच्चों की जानकारी समग्र शिक्षा पोर्टल पर दर्ज नामांकन अनुसार उपलब्ध होगी।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button