कटनीजबलपुरमध्य प्रदेश

अपराध में कमी लाने के किए जाए प्रयास – एसपी अभिजीत कुमार रंजन

कटनी, यशभारत। जिले में चोरी की वारदातों को रोकने तथा उनका पर्दाफाश करने के लिए पुलिस अधिकारियों को टीम भावना के तहत तालमेल बनाकर काम करना है। ऐसे चोरी के अपराधी, जो वर्तमान में जमानत पर है, उन पर सतत निगाह रखते हुए उनकी आजीविका के स्त्रोत पर निगरानी रखी जाए। चोरी, नकबजनी की वारदातों में कमी लाने हेतु सघन गस्त की जाए।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

यह निर्देश एसपी अभिजीत कुमार रंजन ने अपराध समीक्षा बैठक में थाना प्रभारियों को दिए। एसपी ने पिछले साल उत्कृष्ट काम करने वाले पुलिस अधिकारियों व जवानों को पुरस्कृत किया एवं थाना प्रभारियों को थाना क्षेत्र में भ्रमण करने व संभ्रात लोगों से बैठक कर पुलिस की कार्यप्रणाली के बारे में चर्चा करने हेतु निर्देशित किया, जिससे आमजन के मन में पुलिस के कार्य व उनकी प्रकृति के प्रति विश्वास रहे तथा न्याय अंतिम लक्ष्य है कि भावना से अवगत कराया जा सके। एसपी ने कहा कि वर्ष 2023 में जिस तरह अपराधियों के विरूद्ध लगातार कार्रवाई करने से अपराध में गिरावट आई, ठीक उसी प्रकार वर्ष 2024 में भी अपराध में कमी लाने के प्रयास किए जाए। बेहतर पुलिसिंग की जाए। एसपी ने सभी प्रभारियों को अपने-अपने थाना क्षेत्र में शांति एवं सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने हेतु सूचना तंत्र मजबूत कर संपत्ति संबंधी अपराध जैसे लूटए चोरीए धोखाधड़ी आदि को रोकने के लिए अधिक से अधिक लघु व प्रतिबंधात्मक अधिनियम के तहत कार्यवाही करने तथा रात्रि गस्त एवं पेट्रोलिंग को सुदृढ़ करने एवं थाना आने वाले फरियादियों की शिकायत को गंभीरता से सुनते हुए त्वरित कार्यवाही करने एवं सामुदायिक पुलिस के तहत वृहद स्तर पर स्कूल.कालेजों में जन जागरूकता के अभियान चलाने के निर्देश दिए। इस दौरान सभी अनुविभागीय अधिकारी, समस्त थाना, चौकी प्रभारीगण मौजूद रहे।

 

अपराधों के अनुसंधान में आधुनिक तकनीक का करें उपयोग
एसपी ने द्वारा समस्त थाना प्रभारियों को अपराधों के अनुसंधान में अधिकाधिक आधुनिक तकनिक प्रयोग करने एवं मप्र पुलिस के नये एप ई-रक्षक का उपयोग करने के निर्देश दिये। थानाधिकारियों को सीसीटीएनएस प्रोजेक्ट में ज्यादा से ज्यादा डाटा इन्द्राज करने के निर्देश दिये। समस्त विवेचना कार्य सीसीटीएनएस केस में ही सम्पादित करने के निर्देश दिये गये। थानों के रिकार्ड संधारण व कार्यवाहियों के संबंध में रिकार्ड मिलानए रजिस्टरों का भौतिक सत्यापन 20 जनवरी 24 तक पूर्ण करने के निर्देश दिये गये।

दो वर्षों के तुलनात्मक आंकड़ों का विश्लेषण
बैठक में एसपी ने जिले में घटित अपराध के दो वर्षों के तुलनात्मक आंकड़ों का विश्लेषण किया गया। अवलोकन स्वरूप इस वर्ष नाबालिकों के अपहरण में 12 प्रतिशत की कमी आई है। अन्य भादवि के अपराधों में कमी लाने हेतु लघु अधिनियम की धाराओं के तहत आम्र्स एक्ट में 40 प्रतिशत वृध्दि, जुआ एक्ट में 5 प्रतिशत वृध्दि, सट्टा एक्ट में 6 प्रतिशत वृद्धि, आबकारी एक्ट में 12 प्रतिशत वृद्धि, मप्र विस्फोटक पदार्थ अधिनियम में 27 प्रतिशत वृद्धि, एनडीपीएस एक्ट में 43 प्रतिशत वृद्धि, हुई है। विगत वर्ष की तुलना में इस वर्ष महिलाओं पर घटित अपराधों में 10 प्रतिशत की कमी आई है। अजा, अजजा पर घटित अपराधों में 42 प्रतिशत की कमी आई हैं। जिले में असामाजिक तत्वों एवं अपराधिक प्रावृत्ति के लोगों पर नियत्रंण करने हेतु 110, 14 प्रतिशत अधिक, 107-116 में 8 प्रतिशत वृद्धि, 151 के प्रकरणों में 30 प्रतिशत की वृद्धि, 145 के तहत 128 प्रतिशत वृद्धि, 122 में 100 प्रतिशत वृद्धि, आदतन आपराधियों के विरूध्द जिला बदर के प्रकरणों पूर्व वर्ष की तुलना में 121 प्रकरण कायम किये गये, जो कि पूर्व वर्ष से 59 प्रतिशत अधिक हैं। इसी प्रकार रासुका के प्रकरणों में पूर्व वर्ष की तुलना में 33 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई हैं। संपत्ति संबंधी अपराधों के विश्लेषण में पाया गया कि डकैती, लूट, साधारण चोरी, गृह भेदन, वाहन चोरी, रेत चोरी के प्रकरणों में कुल 222 प्रकरणों में अपराध खुलासा हुआ एवं 71 प्रतिशत संपत्ति बरामद की गई।

Rate this post

Related Articles

Back to top button