इंदौरकटनीग्वालियरजबलपुरभोपालमध्य प्रदेशराज्य

dogs in Baba Mahakal temple: बाबा महाकाल मंदिर में कुत्तों का आतंक, आंध्र प्रदेश से आए श्रद्धालु का पेट काट खाया, दिल्ली की डॉक्टर पर भी अटैक

जानें कैसे कुत्तों ने किया हमला
आंध्र प्रदेश के रंगारेड्डी शहर से आए मुलुगु राजकिरण रविवार सुबह भस्म आरती करने के बाद मंदिर परिसर के अन्य मंदिरों के दर्शन कर रहे थे। इसी बीच एक कुत्ता राजकिरण पर झपट गया। कुत्ते ने राजकिरण के पेट में काट खाया। कुत्ते के काटने के बाद  राजकिरण को अस्पताल ले जाना गया। राजकिरण मंदिर समिति से विनती कर कहा है कि कुत्तों पर अंकुश लगाकर मंदिर से बाहर करें।

छह दिन पहले दिल्ली के डॉक्टर को कुत्ते ने काटा
बता दें कि छह दिन पहले महाकाल मंदिर में दर्शन करने आईं दिल्ली की डॉक्टर के पैर में कुत्ते ने काट लिया था। डॉ.जूही सारस्वत अपने पति के साथ दिल्ली से बाबा महाकाल के दर्शन करने आईं थी। महाकाल मंदिर में पूजा के बाद वे परिसर में बने दूसरे मंदिरों में दर्शन कर रही थीं।तभी कुत्तों का झुंड श्रद्धालुओं के बीच आया।इनमें से एक कुत्ते ने जूही के पैर में काट लिया था। इसके बाद मंदिर में संचालित अस्पताल में डॉ. जूही का इलाज किया था।

मंदिर के कर्मचारी भी कुत्तों से परेशान 
बता दें कि कुत्ते के बढ़ते आतंक को देखते हुए मंदिर समिति की ओर से कई बार नगर निगम को लेटर लिखे जा चुके हैं। मंदिर परिसर में 6 से ज्यादा आवारा कुत्ते हैं। मंदिर समिति के कर्मचारी तक इन कुत्तों से परेशान हैं। दो दिन पहले नगर निगम कमिश्नर ने महाकाल मंदिर और आसपास के क्षेत्रों से 22 कुत्ते पकड़ने का दावा किया था।

भोपाल में दो बच्चों की मौत ने सबको कर दिया था हैरान 

  • बता दें कि भोपाल में कुत्तों के झुंड ने 7 साल के बच्चे को नोंच कर मार डाला था। कुत्ते 7 महीने के इस बच्चे को पार्क से घसीटकर ले गए और उसका एक पूरा हाथ खा लिया था। बच्चे का शव लहूलुहान मिला था। पूरे शरीर पर कुत्तों के दांत और नाखूनों के निशान थे। 10 जनवरी को मिनाल रेसीडेंसी में दर्दनाक घटना घटित हुई थी।
  • इस घटन के कुछ दिन बाद भोपाल में ही कुत्ते के काटने के 15 दिन बाद 4 साल के बच्चे की मौत हो गई थी। कुत्ते के काटने के बाद बच्चा अजीब हरकतें करने लगा था। बेहोश हो जाने पर अस्पताल ले गए। डॉक्टर ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया।
1/5 - (1 vote)

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button