जबलपुरभोपालमध्य प्रदेशराज्य

मेडिकल कॉलेज में आज से 23 दिसंबर तक 6 दिवसीय सीएमई और कार्यशाला का आयोजन

 

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

जबलपुर, यशभारत। नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज में आज 18 से 23 दिसंबर तक 6 दिवसीय सीएमई और कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। महाविद्यालय के समस्त चिकित्सकों और चिकित्सा छात्रों को सीएमई में देश के उच्च संस्थानों से प्रशिक्षित विशेषज्ञ टीबी रोग के निदान और उपचार की नवीनतम जानकारियाँ देंगेे और प्रशिक्षित करेंगे । ज्ञातव्य हो कि महाविद्यालय के रेस्पिरेटरी मेडिसिन विभाग में देश के उच्च संस्थानों से प्रशिक्षित विशेषज्ञ मौजूद हैं। इनमें विभाग अध्यक्ष डॉ संजय भारती और डॉ ब्रह्म प्रकाश दिल्ली के राष्ट्रीय क्षय रोग संस्थान से प्रशिक्षण प्राप्त हैं। वहीं डॉ बृज बिहारी पटेल दिल्ली के सर गंगाराम हॉस्पिटल से प्रशिक्षण प्राप्त हैं। डॉ अविनाश जैन बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से प्रशिक्षित हैं । नेताजीसुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज जबलपुर में आयोजित ट्यूबरक्लोसिस ट्रेनिंग कार्यशाला में सभी चिकित्सकों, वरिष्ठ एवं कनिष्ठ रेसिडेंट चिकित्सकों को ट्यूबरक्लोसिस की जाँच एवं उपचार हेतु विशेष ट्रेनिंग दी जायेगी। अधिष्ठाता प्रोफेसर डॉ गीता गुईंन के मार्गदर्शन में प्रोफेसर डॉ नीलम टोप्पो, प्रोफेसर डॉ संजय भारती विभागाध्यक्ष रेस्पिरेटरी मेडिसिन विभाग, डॉ ब्रिजबिहारी पटेल असिस्टेंट प्रोफ़ेसर नोडल अधिकारी, प्रोफेसर डॉ मोनिका लज़ारस विभागाध्यक्ष शिशुरोग विभाग, डॉ ब्रह्मप्रकाश एसोसियेट प्रोफेसर, डॉ अविनाश जैन असिस्टेंटप्रोफेसर, डॉ सोनिया भारती असिस्टेंट प्रोफेसर, डॉ नैन्सी साहू असिस्टेंट प्रोफेसर द्वारा ट्रेनिंग दी जा रही है। ट्यूबरक्लोसिस ख़ासकर ड्रग रेसिस्टेंट ट्यूबरक्लोसिस की बढ़ती हुई संख्या एक चिंता का विषय है। इसमें सभी को जागरूक होना आवश्यक है। हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी द्वारा 2025 तक ट्यूबरक्लोसिस समाप्त करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इस तारतम्य में शासन प्रशासन द्वारा ट्यूबरक्लोसिस समाप्त करने हेतु गंभीर प्रयास किए जा रहे हैं।

Rate this post

Related Articles

Back to top button