जबलपुरमध्य प्रदेशराज्य

चारघाट को खनन माफिया छलनी कर रहे, अफसर कह रहे हमारी जिम्मेदारी नहीं है

ग्रामीणों की शिकायत पर तहसीलदार, खनिज और पुलिस ने काटी कन्नी

जबलपुर, यशभारत। गांव की धरोहर मां नर्मदा नदी रोजाना छलनी हो रही है, उसका अस्तिव खतरे में है। खनन माफिया अंधी कमाई के चक्कर में रोजाना ट्रकों से रेत निकाल रहे हैं लेकिन इन्हें रोकना वाला कोई नहीं है। तहसीलदार, खनिज विभाग और पुलिस को शिकायत की तो उनका कहना है कि खनन रोकना उनका काम नहीं है, कलेक्टर से शिकायत करने पर ही बात बनेगी। यह कहना है बरगी के चारघाट ग्रामीणों का, जो इस समय खनन माफिया के आतंक से परेशान है। सुबह से लेकर रात तक चारघाट नदी से अवैध रेत निकाली जा रही है, ग्रामीण परेशान है पर जिम्मेदार अधिकारी कुछ सुनने को तैयार नहीं है।

ग्रामीण मनोज अग्रवाल ने बताया कि चारघाट नदी से नाव से अवैध रेत उत्खनन कई माह से जारी है। इसकी शिकायत तहसीलदार, खनिज विभाग और पुलिस को कई बार की जा चुकी है लेकिन सभी जिम्मेदार अधिकारियों का कहना है कि कलेक्टर ही इसमें कुछ कर सकेंगे। गांव में हजारों की तादाद में लोग निवास कर रहे हैं, पानी के लिए सभी स्तोत्र है नदी है लेकिन अवैध रेत उत्खनन होने से ग्रामीण नदी का इस्तेमाल नहीं कर पा रहे हैं।

सरपंच-रोजगार सहायक सचिव के रिश्तेदार कर रहे उत्खनन
ग्रामीण मनोज अग्रवाल का आरोप है कि गांव के सरपंच और रोजगार सहायक सचिव के रिश्तेदार खुलेआम अवैध रेत उत्खनन कर रहे हैं। इसकी वजह से प्रशासनिक अधिकारी और पुलिस भी कार्रवाई नहीं कर रही है। अन्य ग्रामीणों का कहना है कि इसकी शिकायत अब कलेक्टर से की जाएगी, इसके बाद भी रेत खनन नहीं रूका तो कलेक्ट्रेट में धरना दिया जाएगा।

 

इनका कहना है
अवैध रेत उत्खनन होने नहीं दिया जाएगा, इस संबंध में जानकारी मंगाई जा रही है। चारघाट में रेत कैसे निकाली जा रही है इसकी जांच कराई जाएगी।
डॉ. इलैयाराजा टी, कलेक्टर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button