जबलपुरभोपालमध्य प्रदेशराज्य

ये आंखों से चुरा लेते थे काजल : वाहन चोर गिरोह के गुर्गे गिरफ्तार : 28 मोटरसाइकिल बरामद

नरसिंहपुर। जिले में पुलिस ने एक बड़े वाहन चोर गिरोह के सदस्यों को गिरफ्तार करते हुए 28 मोटरसाइकिल बरामद की है।

ज्ञात हो कि प्रार्थी धनसिंह ठाकुर पिता नारायण सिंह ठाकुर उम्र 32 वर्ष निवासी निरंजन वार्ड गाडरवारा ने थाना गाडरवारा जिला नरसिंहपुर में दिनांक 24 जून 2024 की रात उसके घर के बरामदे के गेट का ताला तोड़कर उसमें खड़ी हीरो स्प्लेंडर प्लस मोटरसाईकल एमपी 49 एमजे 5035 हो जाने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। गत 7 जुलाई 2024 को थाना गाडरवारा पुलिस टीम द्वारा पिपरिया रोड शनि मंदिर के पास वाहन चैकिंग दौरान एक वाहन चालक पिपरिया तरफ से एक लाल रंग की मोटरसाईकल हीरो स्प्लेंडर प्लस से आते दिखा। जिसकी नंबर प्लेट पर रजिस्ट्रेशन क्र. एमपी 04 एमसी 6819 लिखा हुआ है,व्हीकल डिटेक्सन पोर्टल पर चैक करने पर उक्त मोटरसाईकल पर अंकित चैचिस नंबर एवं मोटरसाईकल का मॉडल भिन्न पाया गया। उक्त मोटरसाईकल संदेहास्पद होने पर चालक का नाम पता पूछने पर अपना नाम दंगल उर्फ भुरा गुर्जर पिता शंकर सिह गुर्जर उम्र 36 साल निवासी रामनगर थाना सोहागपुर जिला नर्मदापुरम का होना बताया। जिससे क्रमबद्ध पूछताछ की गई। जिसने अपने मेमोरेंडम में उक्त मोटरसाईकल दीपक मेहरा निवासी इटारसी से करीबन 10 दिन पहले 10,000 रूपये में खरीदना एवं दीपक मेहरा के द्वारा मोटरसाईकल की असली नंबर प्लेट निकालकर अपने पास रखना एवं मोटरसाईकल में दूसरी नंबर प्लेट मोटरसाईकल में लगाना बताया। इसके अलावा उसके द्वारा 2 माह पहले दीपक मेहरा से चोरी की 3 अन्य मोटरसाईकल सस्ते दाम में खरीदना बताया। पुलिस टीम द्वारा आरोपी दंगल उर्फ भूरा गुर्जर के घर के पीछे खलियान में पेड़ के नीचे से बरामद की गई।

आरोपी दंगल उर्फ भूरा गुर्जर से पूछताछ पर उसने बताया कि पवन कीर निवासी डोलरिया ने भी दीपक मेहरा से चोरी की मोटरसाईकल खरीदना बताया। जो पवन कीर पिता देवीराम कीर उम्र 25 साल निवासी कजलास थाना डोलरिया जिला नर्मदापुरम को पुलिस अभिरक्षा में लेकर पूछताछ की गई। जिसने 11 माह पूर्व दीपक मेहरा के द्वारा चोरी की गई एक काले रंग की हीरो पेशन प्रो मोटरसाईकल सस्ते दाम 10,000 रूपये में खरीदना बताया।

उक्त दोनों आरोपीगण से पूछताछ पर ज्ञात हुआ कि मोटरसाईकल चोर दीपक मेहरा निवासी इटारसी ने चोरी की बहुत सारी गाड़ियाँ कहीं छिपाकर रखी है। जिसकी जानकारी शुभम गुर्जर निवासी रामनगर को होना बताया। शुभम गुर्जर से पूछताछ करने पर उसके द्वारा बताया गया कि मुख्य चोर दीपक मेहरा के द्वारा बताया गया था कि उसने भोपाल से बहुत सारी गाड़ियाँ नीलामी में खरीदी है और वह गाड़ियाँ सस्ते दामों पर जल्द ही बेचना चाहता है। जिसने उक्त ग्राम बोरनागुर्जर में छिपाकर रखना बताया। पुलिस टीम द्वारा ग्राम बोरनागुर्जर थाना सोहागपुर जिला नर्मदापुरम से झाड़ियों में छिपाकर रखी कुल 23 मोटरसाईकल बरामद की गई। शुभम गुर्जर के द्वारा बताया गया कि उसने उनमें से कोई गाड़ी नहीं खरीदी क्योंकि दीपक मेहरा ने बाद में बताया था कि वह मोटरसाईकलें चोरी करता है तथा यह सभी मोटरसाईकल चोरी की हैं।

पुलिस टीम द्वारा 9 जिलों से चोरी की गई कुल 28 मोटरसाईकल बरामद की गयी है उक्त मोटर साईकिल चोरों द्वारा जिला भोपाल से 17, जिला नर्मदापुरम से 3, जिला सिहोर से 2, जिला नरसिंहपुर, रायसेन, सागर, राजगढ़, बैतूल एवं छिंदवाड़ा से 1-1 मोटरसाइकिल चुरायी गई थी।

अग्रिम अनुसंधान हेतु प्रकरण के आरोपी दंगल उर्फ भुरा गुर्जर पिता शंकर सिह गुर्जर उम्र 36 साल निवासी रामनगर थाना सोहागपुर जिला नर्मदापुरम को न्यायालय के समक्ष पेश कर पुलिस रिमांड प्राप्त किया गया। कुख्यात वाहन चोर दीपक मेहरा निवासी इटारसी की गिरफ्तारी होने उपरांत चोरी की गई और अधिक मोटरसाईकल मिलने की संभावना है।

पुलिस टीम द्वारा पूछताछ करने पर ज्ञात हुआ कि मोटरसाईकल चोर ऐसी मोटरसाईकलों को चिन्हित करता है,जिसका लॉक आसानी से खुल जाये तथा जो मोटरसाईकल लॉक ना हो तथा मुख्यतः हीरो कंपनी की गाड़ी चोरी करने के लिये टारगेट करता है क्योंकि हीरो कंपनी की गाड़ियाँ आसानी से बिक जाती है। साथ ही गाड़ियाँ भीड़-भाड़ वाले ईलाकों से चोरी करता है। वाहन चोर, चोरी की गई मोटरसाईकलों की नंबर प्लेट बदलकर एवं ईंजन नंबर, चैचिस नंबर को घिसकर/पंच कर विरूपित कर देता था जिससे मोटरसाईकल की पहचान ना हो सके। चोर गिरोह द्वारा भोपाल को अपना मुख्य टारगेट बनाया गया था। चोरी के वाहनों एवं वाहन के दस्तावेजों में फर्जीवाड़ा कर बेचने की फिराक में थे।

Rate this post

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button