इंदौरग्वालियरजबलपुरदेशभोपालमध्य प्रदेशराज्य

मॉस्को में PM मोदी भारतीयों से बोले: आप राष्ट्रदूत, 10 साल में हमारी प्रगति से हर कोई अचंभित; चुनौती को चुनौती देना मेरे DNA में

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय रूस दौरे पर हैं। मंगलवार (9 जुलाई) को उन्होंने मॉस्को में भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा कि मैंने तीसरे कार्यकाल में 3 गुना ज्यादा ताकत के साथ काम करने का प्रण लिया है। इन दिनों 3 अंक छाया हुआ है। हमारी सरकार का लक्ष्य है कि भारत को दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी इकोनॉमी बनाना। गरीबों के लिए 3 करोड़ आवास बनाना। तीसरे टर्म में 3 करोड़ लखपति दीदी बनाने का टारगेट है। यही 3 अंक का संयोग है। मोदी ने भारत और रूस की दोस्ती की तारीफ की। रेड कारपेट वेलकम के लिए प्रेसिडेंट पुलिन का आभार जताया। प्रधानमंत्री ने भारतीय समुदाय से कहा- जो मिशन में बैठे हैं, वो राजदूत हैं और आप राष्ट्रदूत।

नरेंद्र मोदी के संबोधन की बड़ी बातें…
पीएम मोदी ने कहा- मैं यहां अकेला नहीं आया हूं। आपके लिए हिंदुस्तान की मिट्टी की खुशबू साथ लेकर आया हूं। आप सभी जानते हैं कि भारत एक बार ठान ले तो वो लक्ष्य पूरा करके ही रहता है। भारत वो देश है, जो चंद्रयान को वहां पहुंचाता है, जहां दुनिया का कोई देश नहीं पहुंच पाया है। भारत दुनिया को डिजिटल ट्रांजैक्शन का रिलायबल मॉडल दे रहा है। भारत वो देश है, जहां दुनिया के तीसरे सबसे बड़े स्टार्टअप की कोशिश है। भारत रिकॉर्ड संख्या में पेटेंट फाइल कर रहा है और रिसर्च

 

 

चुनौती को चुनौती देना मेरे डीएनए में है: मोदी

  • प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- विजय उन्हीं के चरण चूमती है, जो हार मानने के लिए तैयार नहीं होते हैं, ये भावना सिर्फ क्रिकेट तक सीमित नहीं, बल्कि दूसरे खेलों में भी है। इस बार पेरिस ओलिंपिक के लिए भारत की ओर से शानदार टीम भेजी जा रहा है। आप देखना यह टीम कैसे अपना दम दिखाएगी। यही युवा पूंजी भारत को 21वीं सदी की नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने का सामर्थ भी दिखाती है।
  • साथियों आपने चुनाव का माहौल भी देखा होगा। मैंने कहा था कि पिछले 10 साल में भारत ने जो कि वो तो सिर्फ एक ट्रेलर है। आने वाले 10 साल काफी अहम होने वाले हैं। सेमीकंडक्टर, ग्रीन हाइड्रोजन, इलेक्ट्रिक व्हीकल तक भारत दुनिया के विकास का नया अध्याय लिखेगा। आज ग्लोबल इकोनॉमी का 15% भारत समयोग कर रहा है। मेरे तो डीएनए में है चुनौती को चुनौती देना।

‘सर पर लाल टोपी रूसी, फिर भी दिल है हिन्दुस्तानी’
मोदी बोले- भारत और रूस दुनिया को नई दिशा देंगे। रूस के साथ रिश्तों का कायल रहा हूं। रूस शब्द सुनते ही एक भाव आता है। भारत का सुख-दुख का साथी, भारत का भरोसेमंद देश। हमारे रशियन साथी इसे दुधवा कहते हैं और हम इसे दोस्ती। रूस में टेम्परेचर कितना भी माइनस में चला जाए, लेकिन भारत-रूस की दोस्ती हमेशा पॉजिटिव में रही है। ये रिश्ता म्युचुअल ट्रस्ट से बना है। वो एक गाना है ना, सर पर लाल टोपी रूसी, फिर भी दिल है हिन्दुस्तानी। श्रीमान राजकपूर और मिथुन दा ने भारत-रूस की दोस्ती को फिल्मों से आगे बढ़ाया है।

10 साल में 17 बार प्रेसिडेंट पुतिन से मिला हूं: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा- मैं इसी दोस्ती के लिए मेरे प्रिय मित्र प्रेसिडेंट पुतिन की सराहना करता हूं। बीते 10 साल में में छठी बार रूस आया हूं। इन सालों में हम दोनों 17 बार मिले हैं। जब हमारे स्टूडेंट संघर्ष के बीच फंसे थे तो प्रेसिडेंट पुतिन ने उन्हें भारत लौटने में मदद की थी। मैं इसके लिए उनका आभार व्यक्त करता हूं। आज हमारे कई युवा रशिया में पढ़ाई के लिए आते हैं। आप लोग यहां पर हर त्योहार बड़ी धूम-धाम से बनाते हैं। मैं आशा करूंगा कि इस बार 15 अगस्त तो और उत्साह से मनाएं। रूस के हमारे दोस्त भी आपके साथ इन आयोजनों में शामिल होते हैं।

जो मिशन में बैठे हैं, वो राजदूत हैं और आप राष्ट्रदूत: PM
पीएम मोदी ने कहा- आपसे एक गुड न्यूज शेयर करना चाहता हूं। भारत ने रूस में दो नए काउंस्लेट (दूतावास) खोलने का फैसला लिया है। इससे आना जाना और व्यापार कारोबार आसान होगा। 21वीं सदी भारत की सदी है, भारत दुनिया को विश्व बंधुत्व दे रहा है। जब भारत पीस, डिप्लोमैसी और डायलॉग की बात कहता है तो दुनिया सुनती है। जब भी कहीं संकट आता है तो भारत सबसे पहले पहुंचता है। आज दुनिया को इन्फ्लुएंस की नहीं कॉन्फ्लुएंस की जरूरत है। साथियों आप सभी रूम में भारत के ब्रांड एम्बेसडर हैं। जो मिशन में बैठे हैं, वो राजदूत हैं और आप राष्ट्रदूत हैं।

मॉस्को में पीएम मोदी का रेड कारपेट वेलकम हुआ
पीएम मोदी अपने तीसरे कार्यकाल में पहली बार रूस दौरे पर पहुंचे हैं। मॉस्को पहुंचने पर पहले दिन सोमवार को एयरपोर्ट पर उनका रेड कारपेट वेलकम हुआ और गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। रूस दौरे के दूसरे दिन (9 जुलाई को) प्रधानमंत्री मोदी एक कम्युनिटी इवेंट में हिस्सा लिया। इसमें भारतीय समुदाय ने उनके स्वागत के लिए खासी तैयारी की। मोदी रूस में रहने वाले भारतीयों से मिले।

Rate this post

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button