इंदौरकटनीग्वालियरजबलपुरदेशभोपालमध्य प्रदेशराज्य

Mohan Cabinet Meeting: 233 करोड़ में विमान खरीदेगी MP सरकार, 9271 करोड़ की सिंचाई परियोजनाओं को मंजूरी

मध्य प्रदेश की कैबिनेट बैठक में बुधवार को अहम निर्णय लिए गए। एमपी की मोहन यादव सरकार ने विमान खरीदने का निर्णय लिया है। कैबिनेट बैठक में मंत्रिमंडल ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। पेपरलेस विधानसभा व प्रदेश की 7 बड़ी सिंचाई परियोजनाओं को कैबिनेट की मंजूरी मिली है।

 

मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने मंत्रिमंडल के फैसलों की जानकारी दी। बताया कि सरकार का विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। जिसके बाद किराए पर विमान लिया गया है। एक्सपर्ट की राय के बाद सरकार कनाडा की बमबार्डियर कंपनी से जेट विमान खरीदने का निर्णय लिया है। इसकी कीमत 233 करोड़ रुपए है।

 

 

23 करोड़ से पेपरलेस बनेगी MP विधानसभा 
मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने बताया, मप्र विधानसभा को पेपर लेस बनाया जाएगा। केंद्र सरकार के ग्रीन गवर्नेंस प्रोजेक्ट के तहत नेशनल ई-विधानसभा एप्लीकेशन के तहत यह काम किया जाएगा। इस प्रोजेक्ट में 23 करोड़ खर्च होंगे। 60% केंद्र सरकार और 40% राज्य सरकार देगी। विधायकों और कर्मचारियों को प्रशिक्षित कर पेपरलेस काम को बढ़ावा दिया जाएगा। ई-गवर्नेंस का बेहतर उदाहरण साबित होगा।

 

 

घुमंतू और अर्ध घुमंतु छात्रों की स्कॉलरशिप बढ़ाई
मोहन यादव कैबिनेट ने घुमंतू और अर्ध घुमंतु छात्रों को एससी-एसटी छात्रों के बराबर छात्रवृत्ति देने का निर्णय लिया है। पहले यह राशि कम थी। कैबिनेट बैठक में मप्र की 7 सिंचाई परियोजनाओं को भी स्वीकृति मिली है। इनमें 9271 करोड़ रुपए खर्च होंगे। सीधी में बोकारो सिंचाई परियोजना को मंजूरी मिली है। जिसकी लागत 46 है और इससे 11 गांव के 10 लाख से अधिक किसानों को फायदा होगा।

 

 

217 करोड से बनेगी सांवेर जेल 
सांवेर जेल का निर्माण हाउसिंग बोर्ड की  बजाय पीडब्ल्यूडी करेगा। इसके लिए 217 करोड स्वीकृत किए गए हैं। क्षमता से अधिक कैदी होने के चलते इंदौर जेल सांवेर में शिफ्ट किए जाने की तैयारी है।

 

 

इंदौर में बनाएंगे पौधरोपण का रिकॉर्ड 
कैलाश विजयवर्गीय ने बताया, 14 जुलाई को इंदौर में वृहद पौधरोपण किया जाएगा। इसमें केंद्रीय मंत्री अमित शाह शामिल होंगे। इस दौरान एक साथ 11 लाख पौधे रोपकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाए जाने का लक्ष्य है। 20 करोड़ पेड़ लोगों ने दिए हैं। जन भागीदारी से इतना बड़ा देश का पहला पौधरोपण अभियान है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button