जबलपुरभोपालमध्य प्रदेशराज्य

जिला पंचायत के अजीविका मिशन कार्यालय का ऑडियो वायरल: भोपाल में सिन्हा जी को 25 लाख रूपए देकर दीदी ने रूकवाया तबादला

जिला पंचायत कार्यालय के अजीविका मिशन की जिला परियोजना प्रबंधक श्वेता मेहतो का लेकर ऑडियो वायरल

जबलपुर, यशभारत। जिला पंचायत कार्यालय में संचालित अजीविका मिशन की जिला परियोजना प्रबंधक की कुर्सी को लेकर एक बार फिर घमासान मच गया है। सोशल मीडिया पर एक ऑडियो वायरल हो रहा है जिसमें एक महिला फोन पर दूसरे व्यक्ति से 25 लाख रूपए देकर श्वेता मेहतो का तबादला रूकवाने की बात कह रही है। इस संबंध में श्वेता मेहतो से फोन पर संपर्क करना चाहा परंतु उनसे बात नहीं हो सकी। मालूम हो कि अजीविका मिशन जिला परियोजना प्रबंधक श्वेता मेहतो का तबादला बालाघाट जिले कर दिया गया है परंतु श्वेता मेहतो तबादले वाले जिले में नौकरी करने नहीं पहंुची। जबकि इनके स्थान पर जिस अधिकारी को जिला परियोजना प्रबंधक बनाया गया था वह चार्ज पाने दर-दर भटक रहा है।

भोपाल के अधिकारियों की भूमिका संदिग्ध

किस तरह से अजीविका मिशन में तबादला रूकवाने दलाली चल रही है इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है जबलपुर अजीविका मिशन कार्यालय एक आॅडियो वायरल हो रहा है जिसमें एक महिला कर्मचारी और व्यक्ति बात कर रहे हैं। महिला कर्मचारी साफ तौर कह रही है कि दीदी ने तबादला रूकवाने 25 लाख रूपए भोपाल के किसी सिन्हा जी अधिकारी को दिए हैं।

ऑडियो वायरल में क्या पढ़े यहां….

  • नमस्कार मैडम जी… नमस्कार भाई साहब, कैसे हैं आप,… हमने सोचा आज अजीविका मिशन में बात करके फाइल की अपडेट ले लूं… पर मैडम ने फोन रिसीव नहीं किया तो सोचा आप ही को फोन कर लेता हूं ….भाई साहब फाइल में एक रिपोर्ट लगनी है, कल सीईओ मैडम के साइन कराके काॅल करती हूं… जी.. ठीक…ठीक बताईगा… श्वेता मैडम अभी यही हैं… हां ट्रांसफर हुआ था… मगर दीदी ने अभी रूकवा दिया है…. बढ़िया… रूकना भी चाहिए…तगड़ा झुगाड़ … मैडम का…हां.. सिन्हा सर की मदद है… सब सेटिंग की बात है… 6 साल हो रहे हैं इतना कोई कहां रूक पाता…ये बात तो आपकी भी ठीक है….एक बात कहना पड़ेगा… सिन्हा जी को दिए गए 25 लाख ऐसे थोड़ी न रूक जाता है…किसी का ट्रांसफर… जहां तक मेरी…जानकारी में तो सिन्हा जी लेते… देते… नहीं है. .. अरे कहां भैया… मैंने दीदी को अर्जेंट में 5 लाख दिए… वो भोपाल देकर आई हैं. चलो… अच्छा इसी बात पर कहना श्वेता मैडम से बात कर ले… इस माह दीदी का स्थगन आदेश आ जाएगा… सिन्हा जी से बात कर रही थी…. आप उनको अपडेट दे देना, थोड़ा सा मेरी फाइल को भी देख लेना… भाई लगे तो हैं… ठीक है इसी बीच मेरा आॅफिस आना होगा तो… आता हूं फिर मिलूंगा।

 

 

Rate this post

Yash Bharat

Editor With मीडिया के क्षेत्र में करीब 5 साल का अनुभव प्राप्त है। Yash Bharat न्यूज पेपर से करियर की शुरुआत की, जहां 1 साल कंटेंट राइटिंग और पेज डिजाइनिंग पर काम किया। यहां बिजनेस, ऑटो, नेशनल और इंटरटेनमेंट की खबरों पर काम कर रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button