कटनीमध्य प्रदेश

सूचना तंत्र को मजबूत करें थाना प्रभारी, छोटी से छोटी सूचना को गंभीरता से लेकर लें एक्शन

एसपी ने ली क्राइम मीटिंग, थाना प्रभारियों को दी हिदायत

कटनी, यश भारत। पुलिस अधीक्षक अभिजीत रंजन द्वारा पुलिस लाइन पुलिस कॉन्फ्रेंस हॉल में मासिक अपराध समीक्षा की बैठक आयोजित की गई। क्राइम मीटिंग में एसपी ने वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी, सड़क दुर्घटनाओं में नियंत्रण, अवैध हथियार एवं नशाखोरों के विरुद्ध कार्यवाही हेतु अनुविभागीय पुलिस अधिकारी एवं शहरी थाना/चौकी प्रभारियों को निर्देशित किया। मीटिंग में जिले के शहरी थानों के अपराध, प्रतिबंधात्मक कार्यवाही, वाहन चेकिंग एवं अन्य कार्यवाहियों की समीक्षा करते हुए पुलिस अधीक्षक द्वारा अनुविभागीय पुलिस अधिकारियों एवं थाना प्रभारी को लंबित शिकायतों, लंबित गंभीर अपराधों के शीघ्रता से निकाल हेतु निर्देशित किया गया। साथ ही सड़क दुर्घटनाओं में नियंत्रण हेतु यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों के विरुद्ध वैधानिक कार्यवाही, शहर में निर्धारित समय में प्रतिबंधित वाहनों के आवागमन पर रोक तथा ध्वनि विस्तारक यंत्रों पर नियंत्रण हेतु निर्देशित किया गया। साथ ही अनावश्यक एकत्र हुए अराजक तत्वों, हवाबाजों, अनियंत्रित गति से वाहन चलाने वालों तथा रात्रि में अनावश्यक घूमने वाले लोगों, संदिग्ध व्यक्तियों पर आवश्यक कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया। जिले के समस्त थाना क्षेत्र अंतर्गत जिला बदर आरोपी जो जिले की भौगोलिक सीमा के अंदर पाए जाते हैं, उनकी शीघ्र गिरफ्तारी, तथा निगरानी, गुंडा बदमाशों की निरंतर निगरानी, क्षेत्र में शांति भंग या माहौल खराब करने वाले लोगों के विरुद्ध प्रतिबंधात्मक कार्यवाही के साथ साथ आदतन अपराधियों की जमानत निरस्तीकरण कार्यवाही हेतु भी निर्देशित किया गया।
पुलिस अधीक्षक द्वारा मिशन मोड पर लंबित अपराध, चालान, मर्ग, शिकायत, महिला संबंधी अपराध, बच्चों पर घटित पोक्सो एक्ट के अपराध, वाहन चोरी, नकबजनी, अवैध हथियार संबंधी अपराध, चिन्हित प्रकरणों की शीर्षवार विस्तृत समीक्षा की गई l जिसमें अपराधवार थाना प्रभारियों को विधि सम्मत कार्रवाई करते हुए जप्ती, अपराधियों की गिरफ्तारी, चालान आदि का निराकरण करने हेतु निर्देशित किया गया।

15 दिन में पेश करें चालान

Related Articles

एसपी ने कहा कि साधारण मारपीट, आबकारी एक्ट, आर्म्स एक्ट, जुआ, सट्टा आदि के प्रकरणों का 15 दिवस के अंदर नियमानुसार क़ानूनी कार्यवाही पूर्ण कर माननीय न्यायालय में चालान पेश करायें, कोई भी प्रकरण बिना वजह लंबित नही होना चाहिये।

*जेल से रिहा अपराधियों से करें पूछताछ*

लंबित धारा 363 भादवि के प्रकरण में अपहृत अवयस्क बालक/बालिकाओ की हर सम्भव प्रयास कर दस्तयाबी हेतु निर्देशित करते हुये घटित हुये सम्पत्ति संबंधी अपराधों में चोरी गई सम्पत्ति की बरामदगी के हर सम्भव प्रयास करें इस हेतु पूर्व में पकड़े गये एवं जेल से रिहा हुये सम्पत्ति सम्बंधी अपराधियों से पूछताछ करते हुये उनकी गुजर बसर की जांच करें।

फरार आरोपियों की संपत्ति करें कुर्क

एैसे आरोपी जो लंबे समय से फरार है, उनकी सम्पत्ति कुर्क हेतु उनके विरूद्ध नियमानुसार 82, 83 जाफौ के तहत कार्यवाही की जाये, साथ ही सहयोगी एवं आश्रय देने वाले के विरूद्ध 212, 216 आईपीसी के तहत भी कार्यवाही की जाये। लंबित सी.एम. हैल्प लाईन की शिकायतों का प्राथमिकता के आधार पर त्वरित संतुष्टीपूर्ण निकाल करें। साथ ही सी.सी.टी.एन.एस. में सभी प्रकार की प्रविष्टियों को एवं रोड एक्सिडेंट के प्रकरणों का डाटा आई रेड एप इंटीग्रेटिड रोड एक्सिडेंट डाटाबेस में समय का विशेष ध्यान रखते हुये अपलोड करें।

*एसपी ने ये भी दिए निर्देश*

पुलिस अधीक्षक द्वारा सभी अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि सभी थाना प्रभारी अपने क्षेत्र में नियमित रूप से भ्रमण कर जनता से जनसंवाद करेंगे। अवैध गतिविधियों शराब, जुआ सट्टा, मादक पदार्थों की तस्करी के खिलाफ और सख्ती से कार्रवाई की जाए। खुले में शराब पीने वालों, असामाजिक तत्वों और दहशत फैलाने वालों के खिलाफ भी सख्त कार्यवाही की जाए।सभी थाना प्रभारी अपने थाना क्षेत्र के आसूचना संकलन को और मजबूत करे। छोटी से छोटी सूचना को गंभीरता से लेकर कार्रवाई के निर्देश दिए गए। स्थाई वारण्टी-गिरफ़्तारी वारंटियों की भी धरपकड़ करने के निर्देश दिए गए। थाना प्रभारी अपने अपने थाना क्षेत्रों में गुण्ड़ो को चिन्हित कर उनके विरूद्व कार्यवाही सुनिश्चित करें। थाना क्षेत्रों में किसी गंभीर अपराध के घटित होने पर संबंधित थाना प्रभारी एवं संबंधित राजपत्रित अधिकारी पुलिस आवश्यक रूप से मौका मुआयना करें। गौवंश तस्करी एवं परिवहन में संलिप्त व्यक्तियों को चिन्हित कर उनके विरूद्व कार्यवाही सुनिश्चित करें। थाना प्रभारी महिला संबंधी अपराधों में संवेदनशीलता बरती जाकर अपराधों का समय सीमा में निराकरण करना सुनिश्चित करें। थाना प्रभारी एवं चौकी प्रभारी थाना प्रभारी स्वंय रात्रि में थाना क्षेत्रों में लगने वाली गश्त को प्रभावी रूप से करवाना सुनिश्चित करें। 173 (8) एवं 299 जा.फौ. के प्रकरणों में फरार चल रहे आरोपी की पतासाजी करते हुये शीघ्र गिरफ्तारी करते हुए प्रकरणों का प्राथमिकता के आधार पर निकाल करायें ।

*इनकी रही उपस्थिति*

अपराध समीक्षा बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संतोष डेहरिया, नगर पुलिस अधीक्षक श्रीमति ख्याति मिश्रा, डीएसपी आजाक प्रभात शुक्ला, रक्षित निरीक्षक रक्षित केंद्र कटनी श्रीमती संध्या राजपूत, थाना यातायात प्रभारी रक्षित निरीक्षक राहुल पाण्डेय एवं शहर के समस्त थाना प्रभारी, चौकी प्रभारी उपस्थित रहे।Screenshot 20240511 210631 WhatsApp Screenshot 20240511 210640 WhatsApp

Rate this post

Yash Bharat

Editor With मीडिया के क्षेत्र में करीब 5 साल का अनुभव प्राप्त है। Yash Bharat न्यूज पेपर से करियर की शुरुआत की, जहां 1 साल कंटेंट राइटिंग और पेज डिजाइनिंग पर काम किया। यहां बिजनेस, ऑटो, नेशनल और इंटरटेनमेंट की खबरों पर काम कर रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button