अब मेट्रो में शराब वाला सफर नहीं रहा आसान, एक से दूसरे शहर जाने में आइये बड़ी मुश्किलें, जानें नए नियम दिल्ली मेट्रो में सीलबंद शराब की दो बोतलें लेकर उत्तर प्रदेश (यूपी) के नोएडा आने वाले यात्री मुश्किल में फंस सकते हैं। आबकारी विभाग के अधिकारियों ने शनिवार को ऐसे लोगों को सावधान करते हुए यह बात कही है की आबकारी विभाग ने यह बात दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन द्वारा यात्रियों को अपनी सेवाओं के जरिये दो सीलबंद बोतल ले जाने की अनुमति दिए जाने के एक दिन बाद कही है की

दिल्ली के अलावा, डीएमआरसी का मेट्रो रेल नेटवर्क हरियाणा के गुड़गांव और फरीदाबाद और उत्तर प्रदेश के नोएडा और गाजियाबाद जैसे नजदीकी शहरों तक फैला हुआ है। अधिकारियों ने कहा कि उत्तर प्रदेश में मौजूदा नियम निकटवर्ती दिल्ली या हरियाणा से बिना सीलबंद केवल एक शराब की बोतल ले जाने की अनुमति देता है,

अब मेट्रो में शराब वाला सफर नहीं रहा आसान, एक से दूसरे शहर जाने में आइये बड़ी मुश्किलें, जानें नए नियम

download 2023 07 02T171625.234
अब मेट्रो में शराब वाला सफर नहीं रहा आसान, एक से दूसरे शहर जाने में आइये बड़ी मुश्किलें, जानें नए नियम

नोएडा जिला आबकारी अधिकारी सुबोध श्रीवास्तव ने बताया, हालांकि दिल्ली मेट्रो ने यात्रियों को शराब की दो सीलबंद बोतलें ले जाने की अनुमति दी है, लेकिन दिल्ली में किसी भी बदलाव के बावजूद, उत्तर प्रदेश आबकारी विभाग के नियम प्रदेश के सभी क्षेत्रों में लागू होंगे। अधिकारी ने बताया कि उत्पाद शुल्क विभाग मेट्रो स्टेशनों पर निगरानी बढ़ाएगा और उत्तर प्रदेश के बाहर से लाई गई सीलबंद शराब की बोतलों के साथ पकड़े जाने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई। श्रीवास्तव ने कहा, “हम यात्रियों को असुविधा से बचाने के लिए यूपी में उत्पाद शुल्क नियमों के बारे में लोगों के बीच जागरूकता बढ़ाने का भी प्रयास करेंगे.”

अब मेट्रो में शराब वाला सफर नहीं रहा आसान, एक से दूसरे शहर जाने में आइये बड़ी मुश्किलें, जानें नए नियम

download 2023 07 02T171638.762
अब मेट्रो में शराब वाला सफर नहीं रहा आसान, एक से दूसरे शहर जाने में आइये बड़ी मुश्किलें, जानें नए नियम

उत्तर प्रदेश की तुलना में हरियाणा और दिल्ली में शराब सस्ती है, जिसकी वजह से कई मौके पर सड़क के रास्ते दिल्ली से नोएडा सीलबंद शराब की बोतलें लाने वाले लोगों को गिरफ्तार किया गया है। एक अधिकारी ने बताया कि इस स्थिति में, अपराधी के खिलाफ उत्पाद शुल्क अधिनियम की धारा 63 (गैरकानूनी आयात, निर्यात, परिवहन, निर्माण, कब्ज़ा, बिक्री के लिए जुर्माना) के तहत कार्रवाई की जाती है, यह एक गैर-जमानती अपराध है।

 यह भी पढ़े :- 

Indian Railways:भूलकर भी ना करें इस ट्रेन का टिकट,सफर करते समय आएगा रोना,111 स्टेशनों पर है स्टॉपेज

Indian Railways रेलवे ने दी यात्रियों को खास सुविधा ट‍िकट बुकिंग के बाद भी कोच को अपग्रेड करना हुआ आसान जाने डिटेल्स

Indian Railways रेलवे ने दी यात्रियों को खास सुविधा ट‍िकट बुकिंग के बाद भी कोच को अपग्रेड करना हुआ आसान जाने डिटेल्स

JIO ने यूजर्स को दिया धमाकेदार प्लान,कम में मिलेगी ढेर सारी मुफ्त सुविधाएं जाने डिटेल्स

अब मेट्रो में शराब वाला सफर नहीं रहा आसान, एक से दूसरे शहर जाने में आइये बड़ी मुश्किलें, जानें नए नियम

Rate this post

yash bharat

Author -अपने 3 वर्षों के मीडिया करियर में नेशनल, पॉलिटिक्स, मनोरंजन, लाइफ़स्टाइल, ज्योतिष जैसी बीटों पर काम किया है और टाइम्सबुल में वो ज्योतिष और धर्म पर लिख रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button