कटनीजबलपुरमध्य प्रदेश

प्रेमिका से छुटकारा पाने गला दबाकर की थी हत्या : खेत में फेंक दिया था कंकाल, कैमोर के अंधे हत्याकांड का खुलासा

 

कटनी, यशभारत। विवाह के बाद प्रेमिका से छुटकारा पाने के लिए प्रेमी ने उसे मिलने के बहाने खेत की मेड़ पर बुलाया और यहां मौका पाते ही गला दबाकर हत्या कर दी। हत्या करने के बाद प्रेमी ने प्रेमिका की लाश को गेहूं के खेत के बीचोबीच ले जाकर फेंक दिया। हत्या की यह सनसनीखेज वारदात कैमोर थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम जमुआनीकला में विगत 19 फरवरी को घटित हुई थी। किसान जब खेत में जुताई कर रहा था, तब महिला का कंकाल पाया गया था। कंकाल मिलने के बाद पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई थी। कैमोर पुलिस ने इस अंधे हत्याकांड का पर्दाफाश करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

 

गौरतलब है कि करीब एक सप्ताह पहले कैमोर थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम जमुआनी कला में किसान के खेत में गांव की ही एक महिला का कंकाल पाया गया था। कंकाल बरामद करते हुए उसकी शिनाख्त 40 वर्षीय संगीता कोल के रूप में की गई, जो पिछले करीब डेढ़ महीने से लापता थी। पुलिस ने मामले की जांच शुरू की और हत्या कांड का खुलासा किया। विजयराघवगढ़ एसडीओपी केपी सिंह ने बताया कि ग्राम जमुआनी कला निवासी 30 वर्षीय गणेश गुप्ता के संगीता कोल से संबंध थे। गत वर्ष गणेश का विवाह हो गया था और उसके संगीता के साथ संबंध होने की जानकारी उसकी पत्नी को लग गई थी। पत्नी के सामने अवैध संबंध उजागर होने के बाद से ही गणेश अपनी प्रेमिका संगीता से छुटकारा पाना चाहता था। उसने 19 फरवरी की रात संगीता को मिलने के बहाने खेत की मेड़ पर बुलाया और वहां पर उसकी गला दबाकर हत्या कर दी। हत्या करने के बाद गणेश ने संगीता की लाश को गेहूं के खेत के बीचोबीच ले जाकर फेंक दिया।

मोबाइल स्विच ऑफ करके स्वेटर के पॉकिट में डाल दिया था आरोपी ने

जिस खेत में संगीता का कंकाल पाया गया था, उससे 200 मीटर की दूरी पर उसके प्रेमी गणेश का घर है। महिला गांव में अकेली ही रहती थी। उसका पति और बेटा मजदूरी करने के लिए किसी दूसरे शहर में रह रहे थे। महिला और गणेश के बीच पिछले दो-तीन सालों से संबंध थे। दोनों मोबाइल पर घंटों बातें भी किया करते थे। गणेश ने महिला की हत्या करने के बाद उसके मोबाइल को स्विच ऑफ करके उसकी स्वेटर के पॉकिट में डाल दिया था।

कॉल डिटेल से सामने आया सच

विजयराघवगढ़ एसडीओपी ने बताया कि बेहद चुनौती पूर्ण इस हत्याकांड में महिला की कॉल डिटेल को जब पुलिस ने गंभीरता पूर्वक अध्ययन किया तो फिर दो-तीन लोगों से महिला की बातचीत होने की बात सामने आई। आरोपी गणेश महिला से हमेशा घंटों बात करता था। जब उस पर संदेह हुआ तो पुलिस द्वारा गांव में मुखबिरों को सक्रिय किया गया और पूरे साक्ष्य एकत्र किए गए। संदेह के आधार पर जब आरोपी गणेश को पकडक़र उससे पूछताछ की गई तो उसने सारी सच्चाई उगल दी। संगीता की हत्या के मामले में उसके आशिक गणेश को हिरासत में लेते हुए उसके खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है।

इनकी रही सराहनीय भूमिका

इस अंधे हत्याकांड का खुलासा पुलिस अधीक्षक अभिजीत कुमार रंजन के निर्देशन में एसडीओपी विजयराघवगढ़ केपी सिंह के मार्गदर्शन में कैमोर टीआई अरविन्द चौबे, प्रधान आरक्षक प्रेमशंकर पटेल, आरक्षक सुशील पटेल, सौरभ कुमार, विक्रम सिंह, विनोद कुमार, अंकुल बागरी, महिला आरक्षक प्रिया सिंह की सराहनीय भूमिका रही।

Rate this post

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button