जबलपुर

साइबर अपराध की अनदेखी दुनिया से रूबरू कराएगी टेपवॉर्म फिल्म.. Releasing on Watch My Film.com platform on 5th July

5 जुलाई को वॉच माय फिल्म डॉट कॉम प्लेटफॉर्म पर हो रही रिलीज

मनोरंजन के साथ साइबर अपराध से बचने बनाई शॉर्ट फिल्म टेपवॉर्म

जबलपुर के युवा कलाकारों की मेहनत रंग लाई

कलानभा फिल्म्स प्रोडक्शन के बैनर तले डेढ़ साल में तैयार की गई फिल्म

जबलपुर,यशभारत। वर्तमान समय में सायबर अपराध पुलिस और प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती है। इन अपराधों के विभिन्न स्वरूपों से लोगों को जागरूक करती हुई जबलपुर के कलाकारों द्वारा पेश की गई 26 मिनिट की शॅार्ट फिल्म टेपवॉर्म 5 जुलाई को वॉच माय फिल्म डॉट कॉम में रिलीज हो रही है। कलानभा फिल्म्स प्रोडक्शन के बैनर तले शहर के कलाकारों द्वारा डेढ साल में इस फिल्म को तैयार किया गया है। प्रोड्यूसर प्रिंस पटैल ने यशभारत को बताया कि मनोरंजन के साथ-साथ साइबर अपराध अपराध से बचने के लिए फिल्म का निर्माण किया गया है जिसमें साइबर अपराध से जुड़ी कई कहानियोंं को शामिल करके जागरूकता फैलाई गई है। इस फिल्म को समीक्षकों से काफी सराहना भी मिल रही है।

फिल्म का निर्माण शहर के कलाकार प्रिंस पटेल द्वारा किया गया है और इसका निर्देशन भानु प्रकाश ने किया है। फिल्म में शहर के युवा कलाकारों ने अपने अभिनय कौशल से जान डाल दी है। टेपवॉर्म फिल्म आपको साइबर अपराध की अनदेखी दुनिया से रूबरू करवाएगी।

 

जबलपुर के इन कलाकारों ने फिल्म में किया अभिनय
जानकारी के अनुसार फिल्म में जबलपुर के रहने वाले कलाकार रोहित सिंह, प्रिंस पटैल, अनुभव सोनी, पल्लवी कटारे, विवेक पांडे, शेखर ने अभिनय किया है। फिल्म प्रोड्यूसर की भूमिका निभा रहे विजय नगर निवासी कलाकार प्रिंस पटैल, उमाशंकर पटैल, उर्मिला पटैल के बेटे हैं। प्रिंस वर्ष 2014 से रंगमंच से जुड़े हुए हैं जिन्होंने श्रीराम कॉलेज से एमबीए किया हुआ है। वहीं डायरेक्टर भानू प्रकाश निवासी अधारताल हैं।

कुछ इस तरह देख सकेंगे फिल्म
वॉच माय फिल्म डॉट कॉम में जाकर प्लेटफॉर्म दिखेगा। फिर टेपवार्म लिखते ही फिल्म देखी जा सकेगी। इसके अलावा कलानभा फिल्म प्रोडक्शन के यूट्यूब व फेसबुक पेज पर भी फिल्म आप डायरेक्टर देख सकते हैं।

ऐसे बना रहे साइबर क्राइम का शिकार
टेपवॉर्म जैसे कीड़े इंसान के पेट में रहते हैं, लेकिन आज के डिजिटल युग में ये कीड़े इंसान के दिमाग में डिजिटल कचरे की तरह घुस चुके हैं। यही डिजिटल टेपवॉर्म हमें और आपको साइबर क्राइम का शिकार बना देते हैं। इस फिल्म में दिखाया गया है कि कैसे साइबर अपराध हमारे जीवन को प्रभावित करता है और हमें उनसे बचने के लिए सतर्क रहने की जरूरत है।
००००००००००००
००००००००००००००

Rate this post

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button