जबलपुरभोपालमध्य प्रदेशराज्य

खदान से पार हो रहा करोड़ों का कोयला ? : काले कारोबार में नहीं लग पा रहा अंकुश

यश भारत कोतमा |  अनूपपुर जिले के आमाडांड कोयला खदान में कोयले का काला कारोबार चल रहा है। रोड सेल के नाम पर हर माह आमाडांड खदान से करोड़ों रुपए का कोयला हेरफेर कर पार हो रहा है।

 

सूत्रों की माने तो कॉलरी प्रबंधन की साठ गांठ से कोयले का काला कारोबार हो रहा है। कर्मचारियों से लेकर बड़े अधिकारियों की सांठगांठ की वजह से कोल इंडिया को कोयला चोरी से क्षति भी पहुंच रही है। कुछ दिन पूर्व निकासी में हेरफेर का एक और मामला सामने आया है।

 

कोयला खदान से फर्जी नंबर प्लेट लगाने के साथ स्टीकर चिपकाकर अवैध तरीके से वाहन निकाले जा रहे थे।

 

तीन स्तर पर जांच, फिर भी निकल जाती हैं गाडिय़ां

खदान से कोयला निकासी के पूर्व अलग-अलग स्तर जांच के लिए सुरक्षा के इंतजाम हैं। खदान में कंपनी के सुरक्षा प्रहरी के साथ कांटा-घर और लोडिंग प्वाइंट रहता है। अधिकारियों की मानें तो प्वाइंट पर बिना दस्तावेज और प्रमाण के कोयला लोड वाहनों के अंदर आने और जाने की पासिंग नहीं बनाई जा सकती है। तीन अलग-अलग स्तर पर सुरक्षा पहरा होने के बावजूद सांठगांठ से कोयला निकल रहा है।

 

हर माह एक लाख टन कोयला रोड सेल से होता है सप्लाई

विभागीय जानकारी के अनुसार, आमाडांड खुली खदान से हर माह लगभग एक लाख टन कोयला रोडसेल के माध्यम से खदानों से निकलता है। एसइसीएल की राजनगर ओसीएम और आमाडांड खदान इन दिनों कोयला उत्पादन में सबसे आगे है। पांच हजार टन हर दिन उत्पादन होता है। इसमें आधे से ज्यादा कोयला रोड सेल के माध्यम से बड़े वाहनों से सप्लाई कर दिया जाता है। आमाडांड खदान से 5 हजार टन, राजनगर ओ सी एम से 1 हजार टन, कोरजा कॉलरी से 1 हजार टन रोडसेल के माध्यम से भेजा जाता है।

 

फर्जी प्लेट लगाकर आमाडांड से कोयले का परिवहन एस ई सी एल की आमाडांड ओसीएम खदान से भी अवैध तरीके से कोयला परिवहन का मामला सामने आया था। २९ नवंबर को फर्जी नंबर प्लेट लगाकर कोयले का परिवहन करते हुए एक वाहन जब्त किया था। यहां पर कॉलरी के भीतर ही प्रबंधन ने अवैध तरीके से परिवहन करते हुए जब्त किया था। यहां पर सप्लाई की तैयारी थी लेकिन इसके पहले ही कुछ कर्मचारियों के साथ वाहन मालिकों की गठजोड़ सामने आ गई। जिस पर कॉलरी प्रबंधन ने कार्रवाई करते हुए सप्लाई से पहले ही वाहन जप्त करवा दिया।

 

इनका कहना है…..

आमाडांड खुली खदान में सख्त निगाह रखी गई है, विशेष रूप से हमारी नजर खदान में है, रामनगर थाना के निरीक्षक को विशेष रूप से आगाज कर दिया गया है की आमाडांड खुली खदान में विशेष नजर बनाए रखो|

इसरार मंसूरी ,अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक

 

 

Rate this post

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button