जबलपुरभोपालमध्य प्रदेशराज्य

गोकलपुर सरकारी स्कूल के टीचर की कहानी, संकुल प्राचार्य से कहा बच्चे गधे इसलिए नहीं पढ़ाता हूं

लापरवाह शिक्षक जीव विज्ञान का विषय विशेषज्ञ पर कभी बच्चों नहीं पढ़ाया, डीईओ ने लिया संज्ञान

जबलपुर, यशभारत। फरवरी माह में माध्यमिक शिक्षा मंडल की बोर्ड परीक्षाएं शुरू होने वाली है ऐसे में बच्चों को बेहतर अध्यापन कार्य मिले इसके लिए जिला शिक्षा अधिकारी लगातार स्कूलों का निरीक्षण कर रहे हैं। इसी के तहत गोकलपुर शासकीय स्कूल में पदस्थ शिक्षक का एक अनोखा मामला सामने आया है। शिक्षक जीव विज्ञान का विषय विशेषज्ञ है परंतु आज तक विद्यार्थियों को उसने जीव विज्ञान के बारे में नहीं पढ़ाया है। हैरान करने वाली बात ये है कि शिक्षक द्वारा पढ़ाई नहीं कराए जाने के पीछे कारण बच्चे गधे होना बताया है। इस पूरे मामले में संकुल प्राचार्य ने जिला शिक्षा अधिकारी को एक नोट शीट भेजी है जिसमें शिक्षक का पूरा कारनामा लिखा गया है।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

नोट शीट में क्या लिखा यहां पढ़े
नोट-शीट के माध्यम से इस कार्यालय को अवगत कराया गया कि आप जीवविज्ञान विषय कि विषय शिक्षक है, आप विद्यालय समय पर उपस्थित नहीं होते हैं, आपके द्वारा जीवविज्ञान विषय पढाने में रूची नहीं ली जाती आपके द्वारा छात्राओ को प्रेक्टीकल नही कराया जाता है, आप परीक्षा प्रभारी है, इसके उपरांत भी परीक्षा का कार्य समय पर नहीं किया जाता है, आपके द्वारा छ: माही उत्तरपुस्तिकाओ को आज दिनांक तक चेक नही किया गया, अर्द्धवार्षिक परीक्षा में अनुगूंज छात्राओं की परीक्षा लेने पर सेट ए अर्थशास्त्र और हिन्दी में पहले भी दिया गया था और वर्तमान में बिना देखें बिना संज्ञान के फिर से ए सेट दिया गया। जबकि पेन डाइव में बी सेट उपलब्ध था आपके द्वारा विद्यालय का प्रत्येक कार्य को कारने से मना किया जाता है, 20 दिसंबर को संयुक्त संचलक, लोक शिक्षण जबलपुर संभाग जबलपुर जब विद्यालय में औचक निरीक्षण में विद्यालय आये तो आपके द्वारा प्राचार्य को बिना अवगत कराये विद्यालय से बहार चाले जाना जब संस्था प्राचार्य द्वारा आपको बुलाया गया तब आप विद्यालय में उपस्थित हुये। आप आपना विषय जीव विज्ञान पढाने में ब्लैकबोर्ड का प्रयोग नहीं करते है, ब्लैकबोर्ड में आपके द्वारा चित्र नही बनाये जाते बिना चित्र के छात्राओं पढाया जाता है, आपके विषय कि छात्रा आपके विषय में बहुत ज्यादा कमजोर है, बच्चों को पढाने के लिये कहने पर आपके द्वारा यह कहा जाता है, कि बच्चे गधे है, यह कहकर पढाने से किनारा काट लेते है।

डीईओ ने शिक्षक पर कार्रवाई के लिए भोपाल भेजी जानकारी
जिला शिक्षा अधिकारी घनश्याम सोनी ने शिक्षक को नोटिस भेजते हुए कहा कि आपके द्वारा आज दिनांक तक कक्षा 12 वीं का रिजल्ट संस्था प्राचार्य के समक्ष प्रस्तुत नहीं किया गया है, आप हमेश विद्यालय से बिना प्राचार्य को अवगत कराये बिना विद्यालय से चाले जाते है। आपके द्वारा कक्षा बारहवीं का परीक्षा परिणाम विमर्श पोर्टल में अपलोड किया गया किंतु प्राचार्य को आज तक यह नही बताया गया कि परीक्षा परिणाम कितना बना एवं परीक्षा परिणाम दिखाया भी नही गया। जिससे स्पष्ट होता है, कि आपके द्वारा शासकीय कार्यों में लापरवाही किया जाकर स्वेच्छाचारिता किया जाना प्रथम दृष्टया प्रमाणित पाया जाता है। आपका उक्त कृत्य आपके पदीय दायित्वों के विपरीत इसलिए आपके खिलाफ कार्रवाई के लिए विभाग प्रमुख को लिखा जााएगा।

4.3/5 - (3 votes)

Yash Bharat

Editor With मीडिया के क्षेत्र में करीब 5 साल का अनुभव प्राप्त है। Yash Bharat न्यूज पेपर से करियर की शुरुआत की, जहां 1 साल कंटेंट राइटिंग और पेज डिजाइनिंग पर काम किया। यहां बिजनेस, ऑटो, नेशनल और इंटरटेनमेंट की खबरों पर काम कर रहे हैं।

Related Articles

Back to top button