जबलपुरमध्य प्रदेशराज्य

थाना प्रभारी बरेला को भाजपा नेता रामेश्वर साहू के खिलाफ झूठ बोलना पड़ा महंगाः थाना प्रभारी के खिलाफ कोर्ट जाएंगे भाजपा नेता

जबलपुर । भाजपा नेता और जनपद उपाध्यक्ष रामेश्वर साहू और बरेला थाना प्रभारी रहे जितेंद्र पाटकर का विवाद थमने का नहीं ले रहा है। जितेंद्र पाटकर के तबादला होने के बाबजूद भाजपा नेता रामेश्वर साहू ने पूरे मामले में कांेर्ट जाने की बात कही। श्री साहू का कहना है कि जितेंद्र पाटकर ने झूठ बोलकर छवि खराब की है और इस झूठ का खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ेगा।

पूर्व थाना प्रभारी द्वारा बोला गया झूठ का सच यहां पढ़े
भाजपा नेता रामेश्वर साहू ने बताया कि थाना प्रभारी बरेला के द्वारा आरोप लगाया गया कि मेरे ऊपर 64 वाहन चोरी का प्रकरण थाना गढ़स में पंजीबद्ध है मेरे द्वारा सूचना के अधिकार अधिनियम के तहत रिकॉर्ड मांगा गया। जिस पर थाना गढ़ा में 64 वाहन चोरी का कोई प्रकरण पंजीवाद नहीं है इसके प्रमाण मेरे पास है। बरेला थाने में मारपीट और आपसी झगड़ा का प्रकरण दर्ज हुआ था जिसमें राजीनामा हो चुका है। थाना प्रभारी द्वारा कहा गया कि ग्राम बम्हनी में लूट का एक आवेदन एक आवेदक के द्वारा दिया गया है इसका कोई लिखित प्रमाण थाना प्रभारी के पास नहीं है, इसका साक्ष्य के रूप मे ग्राम पंचायत के माध्यम प्रस्तुत किया जा रहा है जिसका पंचायत द्वारा बताया गया है कि सरासर आरोप गलत है, इस प्रकार की कोई लूट की घटना नहीं घटी है। थाना प्रभारी बरेला द्वारा कहा जा रहा है रामेश्वर साहू थाना बरेला का निगरानी शुदा बदमाश है जबकि वर्तमान में मेरे ऊपर एक भी प्रकरण दर्ज नहीं है अगर हो तो थाना प्रभारी बरेला साक्षय प्रस्तुत करें वह सरासर झूठ और गलत है। मैं इस प्रेस कांफ्रेंस के माध्यम से सभी को अवगत करना चाहता हूं कि थाना प्रभारी के द्वारा मेरे विरोधियों से मिलकर मेरी राजनीतिक. छवि को धूमिल करने का प्रयास कर रहे हैं। जबलपुर संस्कारधानी की जनता एवं जिला पंचायत क्षेत्र क्रमांक तीन तथा मेरा राजनीतिक क्षेत्र मुझे जानता है पहचानता है। थाना प्रभारी बरेला के विरुद्ध मेरे द्वारा एसपी जबलपुर एवं कलेक्टर को दिनांक 10 3.2024 को अवैध शराब, जुआ, सट्टा ,अवैध मूरम, अवैध उत्खनन किये जाने बाबत लिखित दर्ज कराई थी जिसमेंबरेला थाना क्षेत्र में हो रहा है। तीन खदानों से मोरम के अवैध उत्खनन का वीडियो,नर्मदा नदी के चार घाट से अवैध तरीके से रेत का उत्खनन कर परिवहन करने की शिकायत, शारदा मंदिर के समीप लगे कंपनी के बड़े पैमाने पर अबैध स्टॉक जिस पर कम रॉयल्टी पर ज्यादा स्टॉक किया गया है। बरेला थाना क्षेत्र में भारी ओवरलोड वाहन रेत भरकर सड़कों पर लाइन लगाकर खड़े रहते हैं उसका भी वीडियो प्रस्तुत किया गया था। बरेला कलारी मैं महंगा दाम पर अवैध शराब की बिक्रीइसका वीडियो प्रस्तुत किया गया है। थाना प्रभारी बरेला के द्वारा शिकायत घाटों की जांच ना करते हुए किसी अन्य घाट का वीडियो बनाकर वरिष्ठ अधिकारियों गुमराह किया जा रहा है और कहा जा रहा है कि हमने जांच पूरी कर ली है कहीं भी अवैध रेत का स्टाक नहीं हो रहा हैजोकि पूर्णता असत्य है। विवाद का कारण मेरे जनपद पंचायत क्षेत्र में गांव-गांव अड्डा बनाकर शराब ठेकेदार द्वाराअबैध शराब की बिक्री की जा रही है। ईस अबैधशराब की बिक्री को लेकर. कुछ गांव के लोग मेरे पास कार्यालय आए हुए थे उस पर कार्यवाही के लिए मेरे द्वारा थाना प्रभारी बरेला से कहा गया कि लोग शिकायत लेकर आए हैं उस पर कार्यवाही कर उसे बंद कराओ तो उन्होंने कहा देखता हूं.।थाना प्रभारी बरेला के द्वारा धारा 107ध् 16 एवं 110 की झूठी कार्रवाई की गई है ताकि मेरे ऊपर दवाव बनाया जा सके। थाना प्रभारी बरेला द्वारा मेरी राजनीतिक छवि को धूमिल करने हेतु झूठ प्रकरणों में फसाने की कोशिश लगातार की जा रही है।जिसका मैं पुरजोर विरोध करता हूँ।ज्ञात होवे कि जबलपुर में वर्तमान में बरेला थाना प्रभारी और जिला पंचायत सदस्य, जनपद पंचायत उपअध्यक्ष के बीच विवाद हाई प्रोफाइल बना हुआ है जिसके चलते बरेला थाना प्रभारी को बरेला थाने से हटाया जा चुका है।

Rate this post

Related Articles

Back to top button