जबलपुरमध्य प्रदेश

प्रदेश में पहली बार कॉबिंग गश्त : वारंटियों की अब खैर नहीं

 

डीआईजी आरआएस परिहार कटनी में थाने का निरीक्षण करते हुए।

जबलपुर, यशभारत। प्रदेश में पुलिस महानिदेशक के अदेशानुसार प्रदेश के सभी जिलों में देर रात 12 बजे से अलसुबह 5 बजे तक कॉम्बिग गश्त की गई। जबलपुर जोन एडीजी उमेश जोगा के नेत्रत्व में जबलपुर, कटनी, छिंदबाड़ा सहित सिवनी और नरसिंहपुर में लगातार गश्त कर पुलिस ने कीर्तिमान स्थापित किया। जिसके बाद अब यह कहना अतिश्योक्ति नहीं की वारंटियों की अब खैर नहीं है। कॉम्बिंग गश्त के दौरान एडीजी श्री जोगा, डीआईजी आरआर एस परिहार सहित एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा के साथ स्वयं विभिन्न थानों में निरीक्षण करने पहुंचे और आवश्यक दिशा निर्देश दिए।कार्रवाई में जबलपुर अव्वल रहा।

जानकारी अनुसार जबलपुर कॉम्बिंग गश्त में जहां 20 राजपत्रित अधिकारी, 507 पुलिस बल सहित मैदान में उतरे और रात भर दबिश दी। जिसके चलते 354 तामील गिरफ्तारी वारंटियों को दबोचा गया। इसके साथ ही 207 स्थाई वारंटियों को भी गिरफ्तार किया गया। वहीं 3 फरार आरोपियों को दबोचकर कर एक ईनामी बदमाश भी धरा गया।

अन्य जिलों के यह है आंकड़े
वहीं कटनी में कॉम्बिंग गश्त में 6 राजपत्रित अधिकारी 240 पुलिस बल के साथ रात 12 बजे से सुुबह 5 बजे तक आरोपियों की धड़पकड़ की कार्रवाई करते रहे। कार्रवाई के दौरान पुलिस बल ने 152 तामली गिरफ्तारी वारंटियों सहित 45 तामीली स्थाई वारंटियों को दबोच लिया। तो वहीं छिंदबाड़ा में 9 राजपत्रित अधिकारी 335 के पुलिस बल के साथ गश्त की। जिसमें 270 तामीली गिरफ्तारी वारंटियों सहित 59 स्थाई वारंटियों को दबोचा गया। तो वहीं सिवनी में 62 और नरसिंगपुर में 71 तामीली गिरफ्तारी वारंटियों को दबोचा गया।

थानों का किया निरीक्षण

एडीजी उमेश जोगा ने बताया कि एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा सहित सभी अधिकारियों सहित थाना ओमती, गोरखपुर, विजय नगर, अधारताल, गोहलपुर, खमरिया , कैंट, रांझी सहित अनेक थानों का निरीक्षण किया और मौके पर आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। कॉम्बिंग गश्त पूरी तरह से सफल रही है। गश्त के दौरान एएसपी गोपाल खांडेलकर, प्रदीप शेंडे, समर वर्मा, शिवेश सिंग बघेल सहित सभी सीएसपी, थाना प्रभारी सहित पुलिस बल मौजूद रहा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button