देशमध्य प्रदेश

केमिकल से भरा टैंकर होटल में घुसा, 2 जिंदा जले:भीषण आग में 5 दुकान जलकर राख हुई, टायर फटने से हुआ बेकाबू

केमिकल से भरा टैंकर देर रात बेकाबू होकर बाड़मेर के पास मेगा हाईवे से नीचे उतर गया। फिर एक होटल और दुकान के अंदर घुस गया। इस दौरान टैंकर में आग लग गई। चंद मिनटों में आग भीषण हो गई। इसमें दो लोग जिंदा जल गए। आग ने आसपास की 5 दुकानों को भी चपेट में ले लिया। घटना बाड़मेर जिले के सिणधरी कस्बे के सर्किल की है। जानकारी मिलने पर प्रशासन व पुलिस मौके पर पहुंची। मेगा हाईवे पर जाम लग गया।

घटना रात करीब 10:15 बजे की है। आग की सूचना पर फायर ब्रिगेड की गाड़ी मौके पर पहुंची। रात करीब 1 बजे तक आग पर काबू पाया लिया गया। वहीं, केमिकल से धुंआ बुधवार सुबह तक निकलता रहा। मौके पर जिला कलेक्टर अरुण पुरोहित, एसपी दिगंत आनंद, बालोतरा एडीएम अश्विनी पंवार, सिणधरी एसडीएम रामसिंह गुर्जर, तहसीदार ममता लहुआ, बालोतरा एएसपी, सीताराम खोजा, सिणधरी थानाधिकारी सुरेंद्र चौधरी सहित जिले के तमाम अधिकारी पहुंचे।

फायर बिग्रेड की 5 गाड़ियों व स्थानीय दर्जनों पानी टैंकरों से आग को कंट्रोल किया गया।
फायर बिग्रेड की 5 गाड़ियों व स्थानीय दर्जनों पानी टैंकरों से आग को कंट्रोल किया गया।

तहसीलदार ममता लहुआ ने बताया- मंगलवार रात को केमिकल से भरा टैंकर गुजरात से बालोतरा की तरफ जा रहा था। करीब 10:15 बजे टैंकर का टायर फटा। टैंकर बेकाबू होकर होटल और दुकान के अंदर घुस गया। केमिकल रिसाव होने से आग पर कंट्रोल पाना मुश्किल हो गया। वहीं, बाड़मेर की रागेश्वरी कंपनी से और बालोतरा नगर परिषद, सीईटीपी(प्रदूषक नियंत्रक मंडल) से 5 फायर बिग्रेड मौके पर पहुंची। स्थानीय पानी टैंकरों की मदद से करीब 2 घंटे बाद आग पर काबू पाया गया।

होटल में बैठा युवक भी जिंदा जला

सिणधरी थानाधिकारी सुरेंद्र चौधरी के मुताबिक करीब डेढ़ बजे दो लोगों के जिदां जलने की पुष्टि हुई। इसमें एक होटल पर बैठा हुआ व्यक्ति और एक टैंकर ड्राइवर है। इसके अलावा हादसे के समय होटल पर कितने लोग थे। इसके लिए तलाशी ली जा रही है। मृतकों की संख्या बढ़ भी सकती है। रेस्क्यू जारी है।

आग लगने के बाद लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई।
आग लगने के बाद लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई।

काश फायर बिग्रेड होती

फायर बिग्रेड मौके पर पहुंची, तब तक आग विकराल हो चुकी थी। आसपास के लोगों ने ट्रैक्टर टैंकरों से आग पर काबू पाने का प्रयास किया, लेकिन केमिल होने से खतरा ज्यादा था। ललिता टी स्टॉल, सुभाष मेडिकल, मरुधर ट्रेवल्स, न्यू बाबा रामदेव टी स्टॉल व वी तेजाजी होटल समेत करीब 5 दुकानों ने आग ने चपेट में ले लिया। सिणधरी में लंबे समय से दमकल की मांग की जा रही है, लेकिन इसी अनसुना किया जा रहा है।

प्रशासन पीछे कच्ची बस्ती को करवाया खाली

प्रशासन ने आग बढ़ती देख दुकानों के पीछे बसी कच्ची बस्ती को खाली करवाया। वहीं, स्थानीय लोग व जनप्रतिनिधि ने होटल के पीछे की तरफ से खिड़की तोड़कर लोगों को बाहर निकाला। स्थानीय लोग व प्रशासन पानी के टैंकरों व मिट्‌टी से आग बुझाने का भी प्रयास किया गया।

मेगा हाइवे पर लगा जाम

घटना के बाद मेगा हाईवे पर दोनों तरफ जाम लग गया। जाम करीब पांच घंटे बाद खुलवाया गया। सिणधरी कस्बे के सर्किल के दोनों तरफ वाहनों की लंबी लाइनें लगी रही। पुलिस की कड़ी मशक्कत के बाद जाम खुलवाया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button