जबलपुरमध्य प्रदेश

योजना :स्वरोजगार से युवा होंगे आत्मनिर्भर: 22 हजार 700 युवाओं को प्रशिक्षित करने का लक्ष्य

 

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

नरसिंहपुर यशभारत। उद्यमिता विकास केन्द्र मध्यप्रदेश सेडमैप द्वारा प्रदेश के प्रत्येक जिले में सूक्ष्म, लघु एवं उद्यम विभाग भारत सरकार के तत्वाधान में कौशल विकास एवं उद्यमिता पर एक दिवस से लेकर डेढ़ माह तक के प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं। इन प्रशिक्षण कार्यक्रमों का उद्देश्य युवाओं को उद्योगों की मांग के अनुरूप प्रशिक्षित करना एवं उद्यमिता विकास के प्रति जागरूक करना है। सेडमैप की कार्यकारी संचालक श्रीमती अनुराधा सिंघई ने बताया कि प्रदेश के 53 जिलों में एक दिवसीय उद्यमिता जागरूकता शिविर, सात दिवसीय प्रबंधन विकास कार्यक्रम और डेढ़ माह के लिए उद्यमिता सह कौशल विकास प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। यह समस्त प्रशिक्षण कार्यक्रम विभिन्न क्षेत्रों में 15 तक सम्पन्न किये जायेंगे।

उन्होंने बताया कि रोजगार- स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए उक्त प्रशिक्षण कार्यक्रम पूरी तरह नि:शुल्क रखे गये हैं। कार्यक्रम में विषय विशेषज्ञों द्वारा उद्यम स्थापना से संबंधित जानकारी के साथ ही शासकीय स्वरोजगार योजनाओं की जानकारी भी दी जा रही है। साथ ही उद्योग स्थापना के इच्छुक व्यक्तियों की जिज्ञासाओं का भी समाधान किया जा रहा है। कार्यक्रम इस प्रकार तैयार किये गये हैं कि युवाओं को व्यावहारिक, सैद्धांतिक और प्रायोगिक प्रशिक्षण मिल सकें तथा स्वरोजगार से जुड़े जो भी उनके संशय हैं, वह दूर हो सकें।

केन्द्र की कार्यकारी संचालक श्रीमती सिंघई ने बताया कि प्रदेशभर में 624 प्रशिक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से 22 हजार 700 युवाओं को प्रशिक्षित करने का लक्ष्य रखा गया है। इसके अंतर्गत 200 उद्यमिता सह कौशल विकास प्रशिक्षण में 6 हजार, 150 प्रबंध विकास कार्यक्रम में 3 हजार और 50 उद्यमिता जागरूकता शिविर में 13 हजार 700 युवाओं को प्रशिक्षित किया जा रहा है। इनमें सर्वाधिक इंदौर में 43 और भोपाल जिले में 42 प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं। प्रशिक्षण कार्यक्रमों में सम्मिलित होने वाले युवा जिला समन्वयकों से सम्पर्क कर सकते हैं। अधिकारी जानकारी के लिए वेबसाइट पर उपलब्ध है। प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए जिले की आवश्यकतानुसार चयनित ट्रेड में 30- 30 युवाओं के बैच को प्रशिक्षण प्रदान करने की योजना पर तीव्रगति से काम किया जा रहा है। युवाओं को उद्योग स्थापना और शासकीय योजनाओं की सही एवं सटीक जानकारी एक ही स्थान पर मिल सके तथा प्रदेश के युवा अपनी शक्ति और असीम ऊर्जा का सही एवं दिशा में उपयोग कर हुनरमंद बन सकें।

देश हो या विदेश सभी जगह ऐसे युवाओं की आवश्यकता हैए जो कुशल व प्रशिक्षित हों। इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए सेडमैप द्वारा युवा शक्ति को जागरूक कर उन्हें कौशल से जोड़कर ऐसा हुनर प्रदान किया जा रहा है, ताकि वे अपना जीविकोपार्जन कुशलतापूर्वक कर सकें। वर्तमान समय की मांग के अनुरूप तकनीकी से सामंजस्य स्थापित करते हुए युवा रोजगार देने वाले बन सकें और उद्योगों की मांग भी पूरी हो सके। इसके लिए भविष्य में भी इस प्रकार के प्रशिक्षण कार्यक्रम निरंतर आयोजित किये जाने पर गंभीरतापूर्वक कार्य किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त उद्यमिता विकास केन्द्र मध्यप्रदेश. सेडमैप द्वारा ऐसी व्यवस्था भी की गई है कि प्रशिक्षण के उपरांत भी यदि युवाओं को रोजगार. स्वरोजगार से जुड़ी कठिनाई आती है, तो उसे दूर किया जा सके।

Rate this post

Related Articles

Back to top button