जबलपुरमध्य प्रदेश

आईएसआई से संबंध रखने वालों के रिश्ते बजरंग दल से : पत्रकारवार्ता में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का आरोप

पूर्ण बहुमत से एमपी की सत्ता में वापसी करेगी कांगे्रस

कटनी,यशभारत। पूर्व मुख्यमंत्री एवं वरिष्ठ कांगे्रस नेता दिग्विजिय सिंह ने आज यहां पत्रकारों से बातचीत में साफ आरोप लगाया कि कर्नाटक में बजरंगदल से जुड़े लोग ऐसे लोगों की सिफारिश कर रहे थे जिनके संबंध पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई से है और देश की सुरक्षा के लिए खतरा बने हुए हैं। चुनाव में बजरंगबली की तुलना बजरंगदल से कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कर्नाटक की जनता को भ्रमित करने की कोशिश की जिसका जनता ने कांगे्रस के पक्ष में परिणाम देकर मुहतोड़ जवाब दिया है। नतीजों ने साबित कर दिया कि देश में अब यह सब नहीं चलेगा। भाजपा हर चुनाव में विकास की बात से अपना अभियान शुरू करती है और अंत में हिन्दु-मुस्लिम, पाकिस्तान- हिन्दुस्तान पर आकर समाज को बांटने का काम करती है। दिग्विजय सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश में बेरोजगारी, भुखमरी, कमीशनखोरी और भ्रष्टाचार से परेशान जनता इस सरकार को विदा करने का मन बना चुकी है। कटनी समेत प्रदेश में किस स्तर की कमीशनखोरी है यह यहां के ठेकेदार बेहतर जानते होंगे। आसन्न विधानसभा चुनाव में पूरे बहुमत के साथ मध्यप्रदेश में भी कांगे्रस की सरकार बनेगी।
पत्रकारों के सवालों के जवाब में दिग्गीराजा ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को 20 साल में लाड़ली बहना की याद क्यों नहीं आई। चुनाव के समय लाड़ली बहना के नाम से जो योजना चलाई जा रही है, दरअसल वह कांगे्रस की सरकारों की नकल है। उन्होंने कहा कि पिछले लोकसभा चुनाव में महिलाओं को 6 हजार रुपये देने का वचन कांगे्रस के घोषणापत्र में शामिल था। हिमांचल में सरकार बनते ही महिलाओं को 1500 रूपये प्रतिमाह दिये जा रहे हैं। कर्नाटक में भी 2000 रुपये प्रतिमाह देने का वचन हमारी सरकार निभायेगी। दिग्विजय सिंह ने साफ कहा कि केंद्र की मोदी सरकार बड़े औद्योगिक घरानों से रिश्ते निभाते हुए मुनाफे के सारे संस्थान उन्हें सौंप रही है। देश में किसान और मजदूर हताशा का शिकार हैं। उनकी तरफ सोचने वाला इस सरकार में कोई नहीं है। आदिवासियों के साथ भी भाजपा सरकार ने छलावा किया है। आदिवासियों को ये लोग वनवासी का नाम देते हैं। आदिवासी छात्रों की सीटों का कोटा भी इन्होंने कम कर दिया। 2018 में कमलनाथ के नेतृत्व में प्रदेश में कांगे्रस की सरकार बनते ही किसानों का कर्जा माफ करने की प्रक्रिया शुरू हो गई थी। मु यमंत्री शिवराज सिंह चौहान दिल पर हाथ रखकर स्वयं बतायें कि उनके गांव में किसान का कर्जा माफ हुआ या नहीं। वरिष्ठ कांगे्रस नेता कहा कि प्रदेश में कांगे्रस की वापसी होते ही पुरानी दर पर बिजली दी जाएगी। इसके अलावा 500 रुपये में गैस सिलेंडर और महिलाओं को नारी स मान योजना के तहत 1500 रुपये दिये जाएंगे। पुरानी पेंशन बहाल करने की घोषणा भी प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष कमलनाथ ने की है। एक सवाल के जवाब में दिग्विजय सिंह ने कहा कि जिन सीटों पर पिछले तीन या चार चुनाव से कांगे्रस को हार का मुह देखना पड़ रहा है उन सीटों के लिए पार्टी विशेष रणनीति तैयार कर रही है। वे स्वयं और कांगे्रस नेता रामेश्वर नीखरा इसी सिलसिले में कटनी आए हैं। उन्होंने कहा कि कटनी बुंदेलखंड, बघेलखंड एवं महाकौशल को जोडऩे वाला प्रमुख राजनीतिक एवं व्यापारिक केंद्र रहा है। यह अलग बात है कि पिछले कुछ चुनावों से कांगे्रस को यहां अपेक्षित सफलता नहीं मिली। दिग्विजय ने कहा कि चारों विधानसभा क्षेत्रों के नेताओं और कार्यकर्ताओं से मुलाकात की जा रही है और विधानसभा चुनाव के परिपे्रक्ष्य में जो भी जरूरी निर्णय होंगे वे लिए जाएंगे। दिग्विजय सिंह ने कहा कि जिस तरह से पैसा बाटकर और अवैधानिक रूप से कमलनाथ सरकार गिराई गई उसका बदला मध्यप्रदेश की जनता इस बार जरूर लेगी। पत्रकारवार्ता में वरिष्ठ कांगे्रस नेता रामेश्वर नीखरा, कटनी जिले के संगठन प्रभारी रमेश चौधरी, जिला कांगे्रस शहर अध्यक्ष विक्रम ख परिया, ग्रामीण अध्यक्ष करण सिंह चौहान, पूर्व विधायक निशिथ पटेल, सौरभ सिंह, पद्मा शुक्ला, मिथलेश जैन, मनु दीक्षित, अंशु मिश्रा आदि सहित अन्य नेताओं की मौजूदगी रही।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button