जबलपुरमध्य प्रदेश

खुशखबरी : जबलपुर में बहुत जल्द बनेगा वन्य प्राणियों के लिए रेस्क्यू सेंटर

जबलपुर, यश भारत l जबलपुर में जल्द चिड़ियाघर और घायल वन्य प्राणियों के लिए रेस्क्यू सेंटर बनेगा। जिसकी चलते बहुत जल्द यहां वन्य जीवन के बच्चों को पर्यटक निहार सकेंगेl इस परियोजना पर लंबे समय से काम चल रहा है। अब इसके लिए जगह चिन्हित करने की कवायद की जा रही है। इसके लिए तीन जगहों का प्रस्ताव वन विभाग के पास आया है। इसमें ग्राम मोहनिया, संग्राम सागर ओर बरगी वन क्षेत्र है।

गौरतलब है कि जबलपुर में अभी ऐसा कोई स्थान नहीं है, जहां बच्चे वन्य प्राणियों को देख सकें। जबलपुर शहर के आसपास का क्षेत्र जंगली जानवरों के लिए अनुकूल है।

 

चिड़ियाघर के बनने से पहले उसमें रेस्क्यू सेंटर बनना जरूरी है। इसकी अनुमति सेंट्रल जू एथॉरिटी से लेना होती है। जबलपुर में वेटरनरी कॉलेज और यूनिवर्सिटी भी है। यहां कई प्रकार के जंगली जानवरों को इलाज के लिए लाया जाता है। लेकिन ऐसी कोई बड़ी जगह नही है, जहां उन्हें खुले स्थान में रखा जा सके। रेस्क्यू सेंटर उनके लिए भी उपयोगी होगा।

 

650 एकड़ जमीन को चिन्हित किया गया था

इससे पहले चिड़ियाघर एवं रेस्क्यू सेंटर के लिए भेड़ाघाट के समीप ग्राम खैरी से लगी वन विभाग की 650 एकड़ जमीन को चिन्हित किया गया था। भेड़ाघाट के पास गौरी और ललपुर ग्राम के बीच का यह स्थान इसके लिए चिन्हित किया गया था। यह स्थान इसलिए उचित था क्योंकि यह भेड़ाघाट के समीप हैं। यहां पर्यटकों आना-जाना रहता है। इसकी डीपीआर तैयार करवाने के लिए वन विभाग की तरफ से एजेंसी भी तय कर दी गई थी। बाद में उसे अलग कर दिया गया। वहीं जिला प्रशासन की तरफ से ठाकुरताल एवं मदन महल की पहाड़ियों में इसे बनाने का प्रस्ताव दिया गया।

Rate this post

Related Articles

Back to top button