इंदौरग्वालियरजबलपुरदेशभोपालमध्य प्रदेशराज्य

पीएम मोदी ने दी संस्कारधानी को नई सौगात: डुमना एयरपोर्ट टर्मिनल भवन का प्रधानमंत्री ने किया वर्चुअली लोकार्पण

जबलपुर, यशभारत। डुमना एयरपोर्ट की खूबसूरत इमारत आज जनता के लिए खुल जाएगी। प्रधानमंत्री मोदी ने वर्चुअली रूप से इसका शुभारंभ किया। जबलपुर के साथ देशभर के 17 एयरपोर्ट में वर्चुअली जुड़कर लोकार्पण और शिलान्यास के कार्यक्रम हुआ। स्थानीय स्तर पर एयरपोर्ट प्रबंधन ने कार्यक्रम का आयोजन किया। एयरपोर्ट के कार्यक्रम में मप्र के उप मुख्‍यमंत्री राजेंद्र शुक्‍ल के साथ मप्र के लोक निर्माण मंत्री राकेश सिंह और राज्‍यसभा सदस्‍य विवेक तन्‍खा तथा सुमित्रा वाल्मीकि मौजूद रहे। पीएम नरेंद्र मोदी ने 9,811 करोड़ की लागत से अन्य हवाई अड्डे परियोजना का उद्घाटन और शिलान्यास किया। पीएम नरेंद्र मोदी इस कार्यक्रम में वर्चुअल जुड़े, जबकि केन्द्रीय उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ग्वालियर में मौजूद रहे। सीएम डॉ मोहन यादव और राज्‍यपाल मंगुभाई पटेल भी ग्‍वालियर में मौजूद थे।

 

जबलपुर में लगभग 450 करोड़ की लागत से निर्मित जबलपुर के डुमना एयरपोर्ट की नई टर्मिनल बिल्डिंग एवं अन्य निर्माण कार्यों का लोकार्पण प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार 10 मार्च को प्रात: 10:45 बजे वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से किया। कार्यक्रम में केंद्रिय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, केंद्रीय राज्य मंत्री वीके सिंह, वीसी के माध्यम से जुड़ें।
डुमना एयरपोर्ट में मुख्य समारोह पर मंच पर मध्य प्रदेश के डिप्टी सीएम राजेंद्र शुक्ल, लोक निर्माण मंत्री राकेश सिंह, राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा, राज्यसभा सांसद सुमित्रा वाल्मीकि, महापौर जगत बहादुर सिंह अन्नू, विधायक अशोक रोहाणी, विधायक सुशील तिवारी इंदू, विधायक डॉ अभिलाष पांडे,लोकसभा प्रत्याशी आशीष दुबे ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस दौरान लोकार्पण समारोह में पूरे संभाग भर के शहरों से हजारों की संख्या में लोग लोकार्पण के गवाह बने। इस समारोह में स्थानीय लोक कलाकारों ने शानदार लोक नृत्य से सबका मन मोह लिया।

महाकोशल वासियों के लिये यह गर्व का क्षण -राकेश सिंह
लोक निर्माण मंत्री राकेश सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा जबलपुर एयरपोर्ट की आधुनिकरण केवल जबलपुर ही नहीं, तो सारे महाकोशल वासियों के लिये यह गर्व का क्षण हैं हम विकास का नया अध्याय लिखने जा रहे है और इस नये टर्मिनल भवन से और विस्तारित हवाई पट्टी से अनेक नई उड़ानों का प्रारंभ होगा जिसका लाभ जबलपुर के सर्वांगीण विकास में मिलेगा। उल्लखेनीय है की सांसद रहते हुए लोक निर्माण मंत्री राकेश सिंह के सतत प्रयास का परिणाम था कि कभी जबलपुर की छोटी सी हवाई पट्टी पर गायें चरा करती थी पर सांसद बनने के बाद राकेश सिंह ने लगातार प्रयास किए और और जबलपुर में एअर डेक्कन की सेवाएं प्रारंभ हुई इसके बाद स्पाईस जेट, किंगफिशर, अलायंस एयर और बाद मे इंडिगो ने यहां अपनी उडाने प्रारंभ की और जबलपुर यह मुंबई, दिल्ली, हैदराबाद, पुणे, अहमदाबाद, कोलकाता, बिलासपुर, बंगलोर आदी शहरों से सीधे हवाई सेवा के माध्यम से जुड गया।

नई टर्मिनल बिल्डिंग जबलपुर के लिए बड़ी सौगात: तन्खा
राज्यसभा सांसद विवेक कृष्ण तन्खा ने कहा कि डुमना एयरपोर्ट की नई टर्मिनल बिल्डिंग का लोकार्पण जबलपुर के लिए बड़ी सौगात है। इससे शहर ही नहीं, बल्कि आसपास के अंचलों को भी राहत मिलेगी।इस सौगात के पीछे 35 वर्षों से ज्यादा समय तक किया गया संघर्ष हित और सामूहिक प्रयास भी शामिल हैं। मंत्री डुमना एयरपोर्ट के विस्तारीकरण में कर सबसे बड़ी भूमिका मप्र हाई कोर्ट की बथ सतत मॉनिटरिंग की है, क्योंकि इसके म बिना कुछ भी संभव नहीं होता। श्री तन्खा ने कहा है कि डुमना एयरपोर्ट के विकास और जबलपुर से बड़े शहरों के लिएएयर कनेक्टिविटी के लिए लंबी कानूनी प्रक्रिया के साथ सामाजिक व राजनीतिक स्तर पर लड़ाइयाँ लड़ी गई। इसमें मप्र हाई कोर्ट के साथ पूर्व केन्द्रीय मंत्री शरद यादव, पूर्व वित्त मंत्री कर्नल अजय नारायण मुश्रान के साथ वकील, छात्र, डॉक्टर्स, व्यापारी के साथ हर वर्ग के लोगों की मेहनत शामिल है। अब यहाँ से अन्य शहरों के लिए ज्यादा से ज्यादा कनेक्टिविटी बढ़ाने के प्रयास होने चाहिए। श्री तन्खा ने बताया कि राज्यसभा सांसद बनने के बाद उन्होंने भी संसद में डुमना एयरपोर्ट के विकास के बजट, फ्लाइट्स समेत तमाम मुद्दों को लेकर समय-समय पर आवाज उठाई है।

्रअत्याधुनिक सुविधाओं से लैस एयरपोर्ट
जबलपुर का डुमना एयरपोर्ट अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है। यहां विमान कम्पनियों के लिए जहां छह से आठ काउंटर्स हैं। एयर टर्मिनल के नए भवन के अंदर इंटरनेशनल एयरपोर्ट जैसी सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं। डुमना एयरपोर्ट के आधुनिक टर्मिनल भवन में इंडोनेशिया से लाए गए दो एयरोब्रिज इंस्टॉल किए गए है।
यहां पर अब पैसेंजर को टर्मिनल भवन से विमान तक बस से नहीं पहुंचना होगा। टर्मिनल भवन से सीधे एयरोब्रिज के जरिए विमान के भीतर पैसेंजर दाखिल हो पाएंगे। यहां का रनवे प्रदेश का दूसरा सबसे बड़ा रनवे है। ऐसा माना जा रहा है कि जल्द ही यहां से और भी फ्लाइट्स शुरू हो सकती है।

स्पाइस जेट ने शुरू की फ्लाइट्स
स्पाइस जेट द्वारा एक मार्च से जबलपुर एयरपोर्ट से दिल्ली और मुंबई के लिए सीधी उड़ाने शुरू की हैं। तीन विमान जो मुबंई के लिए बंद हो गई थीं वह 28 मार्च से एक बार फिर प्रारंभ हो रही है। इसके अलावा 12 मार्च से जबलपुर से जगदलपुर की विमान सेवा प्रारंभ हो रही है। एयरपोर्ट के प्रभारी डायरेक्टर व्हीके सूरी ने बताया कि प्रधानमंत्री की उड़ान योजना के तहत आरसीएस विमान सेवा है। यह जगदलपुर से सुबह करीब 11.50 बजे जबलपुर आएगी। ऐसा माना जा रहा है कि इन फ्लाइट्स के शुरू होने के बाद स्पाइस द्वारा पुणे, हैदराबाद, अहमदाबाद, कोलकाता और चेन्नई के लिए भी उड़ाने शुरू की जा सकती है। हालांकि इसमें थोड़ा जरुर लगेगा
अब कोहरा भी नहीं रोक सकेगा उड़ान
घना कोहरा और बारिश के दौरान विमान डुमना एयरपोर्ट पर लैंडिंग और टैकऑफ के लिए एयरपोर्ट पर थ्री केटेगिरी का इंस्टूमेंट लैंडिंग सिस्टम (आइएलएस) सिस्टम इंस्टॉल कर दिया गया है। यह आईएलएस इंक्यूपमेन्ट सिस्टम सीधे विमान से कनेक्ट होगा और 800 मीटर की विजिबिलिटी में भी पायलट को संकेत भेज रनवे पर विमान लैंड करवाने में पायलट की मदद करेगा। ष्ठत्रष्ट्र से मार्च के आखिरी सप्ताह तक इसके संचालन के लिए हरी झंडी मिलने की उम्मीद है।

ये है नई सौगात
425 करोड़ रुपए है सम्पूर्ण विस्तार कार्य की लागत
500 यात्री क्षमता होगी नए टर्मिनल बिल्डिंग की
9000 वर्ग फीट है टर्मिनल बिल्डिंग का क्षेत्रफल
अब यह होगा नया
एक लाख पंद्रह हजार तीन सौ पंद्रह वर्ग फुट के क्षेत्र में फैले इस टर्मिनल भवन में तीन एयरोब्रिज, उन्नत बैगेज स्क्रीनिंग सिस्टम, लैंडस्केप क्षेत्र में आधुनिक फूड कोर्ट, 300 से अधिक कारों और बसों के लिए सुनियोजित कार पार्किंग बनाई जा रही है। प्रस्तावित टर्मिनल भवन यात्रियों का स्वागत जीवंत गोंड पेंटिंग,स्थानीय हस्तशिल्प, भित्ति चित्र और मध्य प्रदेश के लोकप्रिय पर्यटन स्थलों की झलक के साथ करेगा।

अभी इन शहरों से है एयर कनेक्टिविटी

विमान कम्पनी कहां से-कहां तक
इंडिगो जबलपुर-दिल्ली-जबलपुर
एलाइंस एयर जबलपुर-दिल्ली-जबलपुर
एलाइंस एयर जबलपुर-हैदराबाद-जबलपुर

Rate this post

Yash Bharat

Editor With मीडिया के क्षेत्र में करीब 5 साल का अनुभव प्राप्त है। Yash Bharat न्यूज पेपर से करियर की शुरुआत की, जहां 1 साल कंटेंट राइटिंग और पेज डिजाइनिंग पर काम किया। यहां बिजनेस, ऑटो, नेशनल और इंटरटेनमेंट की खबरों पर काम कर रहे हैं।

Related Articles

Back to top button