जबलपुरमध्य प्रदेशराज्य

जबलपुर मेडिकल  बनेगा मध्यप्रदेश का पहला वन स्टॉप ब्रेस्ट क्लीनिक

जबलपुर, यशभारत। ब्रेस्ट कैंसर के संदिग्ध मरीजों को जल्द से जल्द उनकी बीमारी को डायग्नोस करने के लिए नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज जबलपुर में प्रदेश का पहला वन स्टॉप ब्रेस्ट क्लीनिक शुरू होगा। राज्य में जबलपुर का मेडिकल कॉलेज पहला सरकारी मेडिकल कॉलेज होगा जो यह पहल कैंसर मरीजों के लिए करने जा रहा है। सर्जरी विभाग में एक कमरे में यह क्लीनिक बनाया जा रहा है जहां पर मरीजों के लिए सुविधाएं और कसंलटेंट भी रहेंगे।

 

WhatsApp Image 2024 02 26 at 13.40.55
8-10 ब्रेस्ट कैंसर पीड़ित रोजाना आते हैं
चिकित्सकों के मुताबिक मेडिकल कॉलेज में नए-पुराने 8-10 मरीज रोजाना सामने आते हैं। करीब ब्रेस्ट कैंसर इतना कॉमन हो चुका है कि 7-8 में एक इससे पीड़ित मिल जाता है। ऐसे में नए मरीजों के लिए यह क्लीनिक वरदान की तरह साबित होगा। बताया जाता है कि अभी तक ब्रेस्ट कैंसर के संदिग्ध मरीजों को पहले सर्जरी, फिर मेमोग्राफी की जांच और इसके बाद एफएनसी की जांच कराना होती है। इस पूरी प्रक्रिया में कम से कम 10 से 15 दिन लग जाते हैं। रिपोर्ट आने के बाद मरीज को यह पता चल पाता है कि उसे सामान्य गांठ है कैंसर की गांठ। क्लीनिक शुरू होने से यहां पर पहला सरकारी मेडिकल कॉलेज मेडिकल कॉलेज स्तन थायराइड एवं एंडोक्राइन कैंसर विशेषज्ञ डॉ. संजय कुमार यादव ने बताया कि सर्जरी विभाग से उस दिन ही कसंलटेंट की जांच के साथ मेमोग्राफी की जांच और एफएनसी के लिए सैंपल हो जाएगी। सैंपलिंग के बाद संबंधित जांच लैब को प्राथमिकता के आधार पर इनके सैंपल लगाए जाएंगे। इससे जल्द से जल्द यह जानकारी या लगेगी कि मरीज को कैसर है या नहीं। साथ ही र मरीज को कहीं भटकना भी नहीं होगा।

5/5 - (1 vote)

Yash Bharat

Editor With मीडिया के क्षेत्र में करीब 5 साल का अनुभव प्राप्त है। Yash Bharat न्यूज पेपर से करियर की शुरुआत की, जहां 1 साल कंटेंट राइटिंग और पेज डिजाइनिंग पर काम किया। यहां बिजनेस, ऑटो, नेशनल और इंटरटेनमेंट की खबरों पर काम कर रहे हैं।

Related Articles

Back to top button