जबलपुरमध्य प्रदेश

आस्था: मां नर्मदा के प्रति ऐसी आस्था, जो है अद्भुत …पढ़े पूरी खबर

मंडला यशभारत । जिले के दोनों ओर जबलपुर मार्ग से प्रवेश करके मंडला डिंडोरी अमरकंटक होकर दूसरी ओर उत्तर दक्षिण कि ओर अमरकंटक से डिंडोरी होते हुए मोहगांव, देवगांव मुनू के रास्ते रामनगर सूर्य कुंड संगम महाराजपुर हो सिवनी जिले कि लगभग मंडला डिंडोरी अमरकंटक की दोनों लगभग 300 कि मी के आसपास की दूरी है जिले आज महाराष्ट्र के पैदल दंडवत परिक्रमा करते चल रहे थे तो महाराष्ट्र परथनई ग्राम के जिला नांदेड़ से परिक्रमा केलिए निकले गंगाधर चंद्रभान कदम औकारेश्वर से 15 दिसंबर को परिक्रमा प्रारंभ 12 जनवरी को साईकिल से रामनगर पहुंचे ।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

उन्होंने बताया कि वो रोड रास्ते के हिसाब से 50 से 100 किलोमीटर प्रतिदिन चल लेता हूं मां नर्मदा जी कि अद्भुभत महिमा और उन्हीं कि कृपा से आगे बढ़ रहा हूं ह, भ,प, परशुराम महाराज कानवडे (कइर्तन-प्रवचन) अपने साथी मित्र सेवानिवृत्त पशु-चिकित्सक डॉ जगदेव भोर के साथ सपरिवार पत्नी के साथ 25 दिसंबर को औकारेश्वर से मोटरसाइकिल से परिक्रमा प्रारंभ कर 12 जनवरी को रामनगर पहुंचे उन्होंने बताया कि हम प्रतिदिन 150 से 200 किलोमीटर तक दूरी तय कर लेते है ओर ऐसा लग रहा है कि मौसम ठीक रहा तो 25 दिन में परिक्रमा पूर्ण कर लेंगे परशुराम महाराज कानवडे ने बताया कि मैं पहले पैदल परिक्रमा भी किया है लेकिन पैदल परिक्रमा अदभुत जगह जगह मां नर्मदा जी के जल कि किलकारियां की गूंज व झलकियां का एहसास होता है

Rate this post

Related Articles

Back to top button