देश

हॉस्टल में ब्लास्ट, 7 स्टूडेंट्स झुलसे

जान बचाने के लिए खिड़की से कूदे, कोटा में भीषण हादसा

 

जान बचाने के लिए खिड़की से कूदे, कोटा में भीषण हादसा
कोटा, यशभारत। राजस्थान के कोटा में आज सुबह करीब 6 बजे एक हॉस्टल में ट्रांसफार्मर ब्लास्ट हो गया। धमाका होते ही भीषण आग लग गई, जिसमें झुलसने से 7 स्टूडेंट बुरी तरह घायल हुए। वहीं कई स्टूडेंट जान बचाने के लिए खिड़की से कूद गए। हॉस्टल स्टाफ और लोगों ने बचाव अभियान चलाते हुए हॉस्टल में फंसे स्टूडेंट्स को बाहर निकाला।
घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया है। जान बचाने के लिए खिड़की से कूदे छात्रों को फ्रैक्चर हुआ है। बताया जा रहा है कि हॉस्टल में करीब 70 स्टूडेंट्स रहते थे, जो इंजीनियरिंग, मेडिकल की तैयारी करने के लिए कोटा आए हैं। आग लगने की जानकारी मिलते ही फायर ब्रिगेड की गाडिय़ां मौके पर पहुंची। पुलिस और प्रशासन के अधिकारी भी मौके पर मौजूद हैं।

ऊंची-ऊंची लपटें देख स्टूडेंट्स में मची भगदड़
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, हादसा कोटा शहर के कुन्हाड़ी इलाके में बने आदर्श हॉस्टल में हुआ। ग्राउंड फ्लोर पर बिजली का ट्रांसफार्मर लगा है, जिसमें अचानक जोरदार धमाका हुआ। इसके बाद भीषण आग लग गई, जिसमें ऊपर की मंजिलों को भी अपनी चपेट में ले लिया। आग की ऊंची-ऊंची लपटें देखकर स्टूडेंट्स में अफरा तफरी मच गई।
स्टूडेंट्स जान बचाने के लिए इधर उधर भागने लगे। मची भगदड़ में आग में झुलसने से 7 स्टूडेंट्स बुरी तरह घायल हो गए। दूसरे स्टूडेंट्स चादर लपेटकर खिड़की से कूदने लगे। अर्पित पांडेय नामक स्टूडेंट सीधे ही खिड़की से कूद गया और उसका पैर टूट गया। अर्पित को रूक्चस् हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। झुलसे छात्रों की हालत भी खतरे से बाहर है।

2 घंटे की मशक्कत के बाद बुझाई गई आग
कोटा नगर निगम के ष्टस्नह्र राकेश व्यास के अनुसार, हादसे के वक्त स्टूडेंट्स नींद के आगोश में थे। वहीं कुछ स्टूडेंट्स सुबह के समय पढ़ाई कर रहे थे, जिन्होंने अपनी खिड़कियों के बाहर आग की लपटें देखीं तो उन्हें हादसे का पता चला। जानकारी मिलते ही कोटा फायर स्टेशन से दमकल वाहन मौके पर पहुंचे। करीब 2 घंटे की मशक्कत के बाद आग बुझाई जा सकी।
कुन्हाड़ी थाना पुलिस और दमकल विभाग की टीम बिजली विभाग के साथ मिलकर ट्रांसफार्मर में ब्लासट की जांच कर रहे हैं। पता लगाया जा रहा है कि हॉस्टल के अंदर लगे ट्रांसफार्मर के लिए परमिशन और हृह्रष्ट ली गई थी या नहीं। फायर कर्मियों ने खिड़की में सीढ़ी लगाकर फंसे स्टूडेंट्स को रेस्क्यू किया। सभी बच्चे सुरक्षित हैं, जानी नुकसान नहीं हुआ, लेकिन माली नुकसान काफी हुआ है।

Rate this post

Yash Bharat

Editor With मीडिया के क्षेत्र में करीब 5 साल का अनुभव प्राप्त है। Yash Bharat न्यूज पेपर से करियर की शुरुआत की, जहां 1 साल कंटेंट राइटिंग और पेज डिजाइनिंग पर काम किया। यहां बिजनेस, ऑटो, नेशनल और इंटरटेनमेंट की खबरों पर काम कर रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button