जबलपुरमध्य प्रदेश

यशभारत की खबर का असर : अमानक धान की खरीदी का भंडाफोड़, केन्द्रों में मिली 27 हजार 854 बोरी घटिया धान 

कटनी, यशभारत। धान उपार्जन केन्द्रों में गड़बडिय़ों को लेकर यशभारत की खबरों पर कार्यवाही हुई है। केन्द्रों में अमानक धान की खरीदी करने की शिकायतों के बाद कलेक्टर अवि प्रसाद के निर्देश पर 6 तहसीलों में 20 अधिकारियों ने केन्द्रों पर जाकर जांच पड़ताल की। सूत्रों के मुताबिक जिले में अब तक 43 हजार 287 किसानों से 3 लाख 91 हजार टन से अधिक धान की खरीदी की जा चुकी है। इसमे अब तक की गई जांच में 27 हजार 854 बोरी धान अमानक होने की वजह से रिजेक्ट कर दी गई है। धान खरीदी के अंतिम दिनों में केंद्र प्रभारी, समिति प्रबंधक और सर्वेयरों की सांठगांव से घटिया धान की खरीदी की जा रही है। यहां यह भी उल्लेखनीय है कि भोपाल से आए सर्वेयर कंपनी के अधिकारियों ने वेयरहाउसों में भंडारण के लिए पहुंची धान की गुणवत्ता भी परखी थी, जिसमे बड़ी गड़बड़ी का खुलासा हुआ था।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

जानकारी के अनुसार जिले में एक लाख 56 किलोग्राम निम्न गुणवत्ता की अमानक धान भंडारण के लिए वेयर हाउसों में भेजी गई है। रिजेक्ट धान में टूटन, मिट्टी, चावल व कचरा अधिक पाया गया है। नान एफएक्यू धान का उपार्जन, भंडारण पाए जाने पर विभागीय अधिकारियों एवं प्रशासनिक कर्मचारियों को खरीदी केंद्रों का निरीक्षण कर जांच प्रतिवेदन प्रस्तुत करने कहा गया है। 18 खरीदी केंद्रों प्रियर्दशनी विपणन सहकारी समिति मर्यादित विजयराघवगढ़, विपणन सहकारी समिति मर्यादित बहोरीबंद, विपणन सहकारी समिति मर्यादित रीठी, खरीदी केन्द्र विजयराघवगढ़, पिपरियाकला, सलैयाकोहारी, उमरियापान, खाम्हा, सिलौड़ी, बकलेहटा, रीठी, कूड़ा, बहोरीबंद, चांदनखेडा, पथराडी पिपरिया कूडऩ, बरही बाकल, देवरीमंगेला के समिति प्रबंधकों को नोटिस जारी किए गए हैं।

इन अधिकारियों ने केन्द्रों पर पहुंचकर की जांच

धान उपार्जन समितियों और उपार्जन कंद्रों में संग्रहित अमानक धान के परीक्षण के लिए जिले की 6 तहसीलों के लिए 20 अधिकारियों का जांच दल में शामिल किया गया है। विकासखंड बहोरीबंद, ढीमरखेड़ा, रीठी एवं बड़वारा में उपार्जित स्कंध का भंडारण रामाकृष्णा वेयर हाउस, मां ईश्वरा वेयर हाउस, पूजा वेयर हाउस, श्रीनाथ वेयर हाउस कैलवारा, गोविंद वेयर हाउस एवं ओम वेयर हाउस में भंडारित धान अमानक स्तर की पाए जाने के कारण रिजेक्ट कर उपार्जन केन्द्र को वापिस की गई है। बहोरीबंद एवं स्लीमनाबाद के लिए नायब तहसीलदार बांकल आदित्य प्रसाद द्विवेदी, नायब तहसीलदार स्लीमनाबाद राजकुमार नामदेव, सहकारिता निरीक्षक एस के जैन, कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी पीयूष शुक्ला और गुणवत्ता निरीक्षक सर्वेयर कमलेश मिश्रा को जांच दल में शामिल किया गया है। ढीमरखेड़ा तहसील के लिए नायब तहसीलदार उमरियापान आशीष चतुर्वेदी, नायब तहसीलदार सिलौंडी दिनेश असाटी, सहकारिता निरीक्षक एच एन प्रजापति, कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी ब्रजेश कुमार जाटव, गुणवत्ता निरीक्षक महेश यादव को जांच दल में सम्मिलित किया गया है।

ये अधिकारी भी करेंगे जांच

इसके अलावा रीठी तहसील के लिए गठित जांच दल में नायब तहसीलदार खगेश भलावी, सहायक आपूर्ति अधिकारी सज्जन सिंह परिहार, सहकारिता निरीक्षक एस के जैन और गुणवत्ता निरीक्षक अंशुमन तिवारी शामिल हैं। इसके अलावा विजयराघवगढ़ एवं बरही तहसील के लिए गठित जांच दल में नायब तहसीलदार प्रसंन्न कुमार वर्मा नायब तहसीलदार मनोज यादव, कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी रविन्द्र कुमार पटेल व यज्ञदत्त त्रिपाठीए सहकारिता निरीक्षक बेबी नेना मेहरा एवं गुणवत्ता निरीक्षण शिवम मिश्रा शामिल हैं।

इन समितियों की पहुंची थी धान

जानकारी के अनुसार गोविंद वेयर हाउस में महाकाल विपणन सहकारी समिति हथियागढ़ की 750 बोरी, प्राथमिक कृषि साख समिति कूडऩ की 514 बोरी, मां ईश्वरा वेयर हाउस में पानउमरिया केंद्र से 431 बोरी धान, 1828 बोरी धान, खाम्हा 396, सिलौड़ी 2306, झिन्ना पिपरिया की 460 बोरी धान रिजेक्ट हुई है। रामाकृष्णा वेयर हाउस झुकेही में प्रियदर्शनी की 1896, विजयराघवगढ़ की 577, पिपरियाकला की 3200, बगदरा की 2101 बोरी, सलैया कोहारी की 1248 बोरी धान रिजेक्ट हुई है। पूजा वेयर हाउस में प्राथमिक कृषि साख समिति बकलेहटा की 1884 बोरी, कृषि विपणन सहकारी रीठी की 936 बोरी, प्राथमिक कृषि समिति रीठी की 1030 बोरी धान रिजेक्ट हुई है। श्री ओम वेयर हाउस में बरही बाकल की 357 बोरी धान, श्रीनाथ वेयर हाउस कैलवारा में प्राथमिक कृषि साख समिति कूडऩ की 40 बोरी, विपणन सहकारी समिति बहोरीबंद की 625 बोरीए कूड़ा 700 बोरी, चांदनखेड़ा 484 बोरी, कूड़ा 49 बोरी धान व नर्मदांचल में 1500 बोरी रिजेक्ट हुई है।

18 खरीदी केन्द्रों के समिति प्रबंधकों को कारण बताओ नोटिस

जिले में धान उपार्जन अवधि में 2 दिवस ही शेष है। जिले में 84 उपार्जन केन्द्रों द्वारा उपार्जन कार्य किया जा रहा है। सहायक आयुक्त सहकारिता ने बताया कि भोपाल की टीम के निरीक्षण के दौरान जिले में कई खरीदी केन्द्रो द्वारा नान एफण्एण्क्यू धान का उपार्जन भण्डारण किये जाने सम्बंधी प्रकरण संज्ञान में आने पर अधिकारियों एवं प्रशासनिक कर्मचारियों को खरीदी केन्द्रो का निरीक्षण कर जांच प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के साथ ही 18 खरीदी केन्द्रो प्रियर्दशनी विपणन सहकारी समिति मर्यादित विजयराधवगढ़, विपणन सहकारी समिति मर्यादित बहोरीबंद, विपणन सहकारी समिति मर्यादित रीठी, खरीदी केन्द्र विजयराघवगढ़, पिपरियाकला सलैयाकोहारी, उमरियापान, खाम्हा, सिलौड़ी, बकलेहटा रीठी, कूडा, बहोरीबंद, चांदनखेडा, पथराडी पिपरिया कूडन, बरही बाकल, देवरीमंगेला के समिति प्रबंधकों को कारण बताओ सूचना पत्र जारी किये गये है। सहायक आयुक्त सहकारिता ने बताया कि जांच प्रतिवेदन रिर्पोट एवं स्पष्टीकरण के पश्चात सम्बधित दोषी कर्मचारियों के विरूद्ध नियमानुसार अनुशासनात्मक कार्यवाही की जावेगी।

Rate this post

Related Articles

Back to top button