जबलपुरमध्य प्रदेश

आदिवासी गोंड समुदाय का प्रथम परिचय सम्मेलन; सात जन्मों का साथ पाकर खिल उठे चेहरे

 

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

डिण्डौरी। शासकीय सेवाओं से सेवानिवृत गोंड आदिवासी समुदाय का जिला स्तरीय प्रथम परिचय सम्मेलन विगत दिवस कोणार्क मैरिज काडर्न में संपन्न हुआ। कायर्क्रम बड़ादेव के गोंगो एवं वीरांगना दुगार्वतीए, महाराजा शंकर शााहए, कुंवर रघुनाथ शाह, भगवान बिरसा मुण्डा तथा मामा टंट्या भील के तैल चित्र पर माल्यापर्ण व दीपप्रज्वलन के साथ कायर्क्रम प्रारम्भ हुआ। तत्पश्चात सभी वरिष्ठजनों का हल्दी चावल का टीका लगाकर स्वागत किया गया।

इस अवसर पर उपस्थित समुदाय के सेवानिवृत शिक्षक  पुनवा सिंह मार्को उम्र 94 वर्ष एंव सेवानिवृत डीएसपी गोविन्द सिह मरावी उम्र 86 वर्ष का शाल्य श्रीफल भेंट कर सम्मान एवं उनके दीघार्यु होने की कामना की गई, तत्पश्चात सभी का परिचय प्राप्त किया गया। इसके बाद सम्मेलन आयोजित कराने के उद्देष्य और उसकी आवश्यकता मनोहर सिंह तेकाम सेवानिवृत सीएमओ के द्वारा विस्तृत विचार रखा गया, श्री तारा सिह धुर्वे सेवानिवृत जिला आबाकारी अधिकारी ने गोंड समुदाय के वतर्मान परिस्थितियों तकनीकी शिक्षा से रोजगार संभावना अवसर मिलने पर अपने ओजस्वी विचारों से सभी को प्रभावित कियाए पवर्त सिंह पट्टा सेवानिवृत महाप्रबंधक उद्योग विभाग ने युवओं के बेरोजगारी दूर कराने के लिए नौकरी या स्वरोजगार, कृषि आधारित व्यवसाय करने का सुझाव दिया गया। कायर्क्रम में अंतिम वक्ता के रूप में  जगत सिंह आर्मो सेवानिवृत महानिरीक्षक पंजीयन विभाग ने गोंड़ समुदाय में एकता और संगठन में अपनी बात रखते हुए समुदाय के सवार्गीण विकास में सेवानिवृत प्रबुद्धजनों की महत्वपूणर् भूमिका का रेखांकित करते हुए सामाजिक संगठन बनाने का प्रस्ताव रखा और सभी लोगों की सहमति से गिरवर सिंह तेकाम को महासचिव के पद पर मनोनित किया गया। इसी तरह श्री प्रताप सिंह पट्टा का कोषाध्यक्ष एवं श्री रविन्द्र सिह मरावी अमरपुर,  रंगीलाल सिंह परस्ते डिण्डौरीए श्री हरि सिंह परस्ते शहपुरा, नेम सिंह सैयाम समनापुर, कुंदन सिंह सूरयाम बजाग, फुन्दी सिंह मरावी करंजिया को सदस्य मनोनित किया गया। इसके अतिरिक्त जिला मुख्यालय में समुदाय के लिए सवर्सुविधा युक्त भवन बनाने के लिए जिला प्रशासन से शासकीय भूमी की मांग करने और समुदाय के सहयोग से भवन निमार्ण कराया जावे। कायर्क्रम में इन्द्र सिंह मरकाम,  ढोली सिंह परस्तेए, हरभजन सिंह मरावी, श्री फूल सिंह नेताम,  प्रेम सिंह मरकाम,  चरण सिंह परस्ते,  ओमकार सिंह मार्को, करन सिंह परस्ते, श्री लाल सिंह उद्दे,  भजन लाल कुंजाम,  टीकाराम पेन्द्रो, अंगद सिंह मरावी,  फूलचंद सैयाम,  श्याम सिंह धुवेर्ए श्री फूल सिंह मरावी,  नन्द कुमार पट्टा,  तोक सिंह मरावी,  वीरेन्द्र कुमार धुर्वे, श्रीमति सोनिया सिंग्राम, श्रीमति रज्जी मरावी, श्रीमति उमिर्ला परस्ते, श्रीमति रामबाई तेकाम एवं अन्य बुद्धजीवियों की उपस्थिति स्मरीणीर्य रहेगा कायर्क्रम की सफलता में आकाष अध्यक्ष  रवि सिंह तेकाम एवं आषिफ उलाड़ी की भूमिका अहम रही कायर्क्रम का सफल संचालन  गिरवर सिंह तेकाम के द्वारा किया गया।

Rate this post

Related Articles

Back to top button