जबलपुरमध्य प्रदेशराज्य

TI ने दुल्हन को मारी लात, तोड़ा देवी-देवताओं का मंदिर, जानिए क्या-क्या लगे आरोप

छिंदवाड़ा. मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में दो दिन पहले पुलिस टीम पर हुए कथित हमले का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा. इस मामले में जनपद तामिया की टीआई प्रीति मिश्रा पर गंभीर आरोप लगे हैं. असंगठित कामगार कांग्रेस के जिलाध्यक्ष वासुदेव शर्मा ने आरोप लगाया कि तामिया TI प्रीती मिश्रा जूते पहनकर शादी के पूजा स्थल में घुस गईं. दुल्हन को लात मारी और शादी के लिए आदिवासी परंपरा के अनुसार तैयार किए गए देवी-देवताओं के स्थल को जूतों से रौंद दिया.

गौरतलब है कि जनपद तामिया के ग्राम साजकुई के मरालढाना में बुधवार की रात विवाह कार्यक्रम जबरदस्त हंगामा हुआ था. वासुदेव शर्मा ने कहा कि यह बेहद शर्मनाक एवं निंदनीय घटना है. घटना के जो वीडियो, फोटो और रिपोर्टिंग सामने आई है, वह पुलिस प्रशासन की ओर से उपलब्ध कराई गई एकपक्षीय एवं आधी-अधूरी जानकारी है. सच तो यह है कि जो आदिवासी टीआई के सामने ठीक से खड़े नहीं हो सकते, वो हमला कैसे कर सकते हैं.

इस तरह बढ़ता गया विवाद
शर्मा ने कहा कि टीआई प्रीति ने वहां मौजूद महिलाओं को गंदी-गंदी गालियां दीं. इसका महिलाओं ने विरोध किया. प्रीति यहीं नहीं रुकीं उन्होंने घर के अंदर खाना खा रहे लोगों को भी मारा. उनके खाने की प्लेटों को बिखेर दिया. शर्मा के अनुसार वहां मौजूद प्रशासन के दूसरे अधिकारी लोगों को समझा रहे थे. लोग भी शांत थे, लेकिन हिंसा टीआई मिश्रा के उत्पात मचाने के बाद हुई. असंगठित कामगार कांग्रेस ने मांग की है कि गिरफ्तार ग्रामीणों क रिहा किया जाए.
ये है मामला

गौरतलब है कि 13 मई को पुलिस को सूचना मिली कि साजकुई पंचायत के ग्राम मरालढाना में एक आदिवासी परिवार के घर विवाह हो रहा है. इसमें दो सौ से अधिक लोगों शामिल हो रहे हैं. इस शिकायत के बाद तहसीलदार मनोज चौरसिया, तामिया थाना प्रभारी प्रीति मिश्रा अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचीं. बताया जाता है कि जब अधिकारी ग्रामीणों को समझा रहे थे, तब वे भड़क गए और टीम पर हमला कर दिया. इसमें थाना प्रभारी प्रीति मिश्रा, ड्राइवर, नायब तहसीलदार और तहसीलदार के दोनों ड्राइवर घायल हो गए.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button