देश

PM मोदी ने वाराणसी में कोरोना के कारण खराब स्थिति को देखते हुए लोकल प्रशासन के साथ ली मीटिंग

 

पीएमओ ने जानकारी दी है कि कोरोना महामारी के कारण वाराणसी में खराब होती स्थितियों के संबंध में प्रधानमंत्री एक रिव्यू मीटिंग ली. इस मीटिंग में सीनियर अधिकारियों के साथ-साथ लोकल प्रशासन से जुड़े लोग भी थे. इसके अलावा इस मीटिंग में वाराणसी के अस्पतालों में कोविड से लड़ रहे डॉक्टर भी शामिल थे. ये मीटिंग 11 बजे से शुरू हुई थी.

बैठक के दौरान प्रधानमंत्री द्वारा कोरोना से बचाव तथा कोरोना संक्रमित मरीजों के समुचित उपचार हेतु टेस्टिंग, बेड, दवाइयाँ, वैक्सिीन, तथा मैन पावर आदि की जानकारी ली गई. उन्होंने जनता को हर संभव सहायता त्वरित रूप से उपलब्ध कराने हेतु अधिकारियों को निर्देशित किया.

चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री ने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि ‘‘दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी‘‘ का पालन सभी लोगों द्वारा किया जाये. प्रधानमंत्री ने वैक्सीनेशन अभियान के महत्त्व पर बल देते हुए कहा की प्रशासन 45 साल से ज्यादा की उम्र के सभी लोगों को इस हेतु जागरूक करें. उन्होंने प्रशासन को भी पूरी संवेदनशीलता से वाराणसी के लोगों की संभव सहायता करने के लिए कहा.

प्रधानमंत्री ने देश के सभी डॉक्टरों, सभी मेडिकल स्टाफ का आभार व्यक्त करते हुए कहा की इस संकट की घडी में भी वह अपने कर्त्तव्य का निष्ठापूर्ण पालन कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि हमें पिछले साल के अनुभवों से सीखते हुए सतर्क रहकर आगे बढ़ना है.

प्रधानमंत्री ने बताया कि वाराणसी के प्रतिनिधि के रूप में वह आम जनता से भी निरंतर फीडबैक ले रहे हैं. उन्होंने बताया कि वाराणसी में पिछले 5-6 वर्षों में मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर के विस्तार और आधुनिकीकरण से कोरोना से लड़ने में सहायता मिली है. इसके साथ वाराणसी में बेड्स, आईसीयू और ऑक्सिजन की उपलब्धता को बढ़ाया जा रहा है. मरीजों की बढ़ी हुई संख्या से उत्पन्न दबाव को देखते हुए हर स्तर पर प्रयास बढाने की जरुरत पर भी प्रधानमंत्री ने विशेष बल दिया. उन्होंने कहा कि जिस तरह वाराणसी प्रशासन ने तेजी के साथ ‘काशी कोविड रिस्पोन्स सेन्टर’ स्थापित किया है, वैसी ही तेजी हर कार्य में लायी जानी चाहिए.

प्रधानमंत्री ने ‘Test, Track और Treat’ पर जोर देते हुए कहा कि first wave की तरह भी वायरस से जीतने के लिए यही रणनीति अपनानी होगी. उन्होंने संक्रमित व्यक्तियों की contract tracing और test reports को जल्द से जल्द उपलब्ध कराने पर भी बल दिया. उन्होंने home isolation में रह रहे मरीजों और उनके परिवार के प्रति भी सभी जिम्मेदारियों के संवेदनशील तरीके से निर्वहन का निर्देश दिया.

बीती रात भी प्रधानमंत्री ने रात आठ बजे अधिकारियों के साथ देश में खराब होती कोविड स्थिति पर मीटिंग की थी. कल सुबह PM मोदी ने कुंभ मेले को प्रतीकात्मक रखने की संतों से अपील की थी. लेकिन इसके बाद ही उन्होंने बंगाल चुनाव में प्रचार के लिए दो बड़ी रैलियां कीं.

देश में वेंटिलेटर से लेकर, रेमडेसिविर मेडिसिन, ऑक्सीजन की भारी किल्लत हो रही है. बीते चौबीस घंटे में ही देश में दो लाख, 60 हजार से ज्यादा कोरोना मामले सामने आ रहे हैं. ये लगातार चौथा दिन है जब देश में दो लाख प्रतिदिन के हिसाब से नए कोरोना मामले सामने आए हैं. ऐसे में स्वास्थ्य व्यवस्थाएं भी लचर नजर आ रही हैं, वाराणसी में नाईट कर्फ्यू लागू है, कोरोना के कारण पूरे यूपी में एक दिन का संपूर्ण लॉकडाउन लगाया गया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button