इंदौरग्वालियरजबलपुरदेशभोपालमध्य प्रदेशराज्य

मोदी का विपक्ष पर हमला: PM ने कहा- ‘EVM जिंदा है या नहीं’,10 साल में कांग्रेस से 100 का आंकड़ा भी पार नहीं हुआ

लोकसभा चुनाव में NDA गठबंधन को बहुमत मिलने के बाद शुक्रवार 7 जून को

 

दिल्ली में संसदीय दल की बैठक हुई। इस बैठक में नरेंद्र मोदी के नाम पर सभी सहयोगी दलों ने समर्थन दिया। संसदीय दल का नेता चुने जाने के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने विपक्ष पर तीखा तंज कसा। उन्होंने ईवीएम (इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन) पर उठाए गए सवालों का जवाब दिया। 4 जून को चुनाव परिणाम घोषित होने के दौरान अपने व्यस्त शेड्यूल के बीच मोदी ने फोन पर बातचीत में मजाकिया लहजे में पूछा, “आंकड़े तो ठीक हैं, लेकिन ईवीएम जिंदा है या नहीं।”

मुझे लगा ईवीएम की अर्थी निकाली जाएगी
मोदी ने कहा कि कुछ लोग हर बार चुनाव प्रक्रिया पर सवाल उठाते हैं। उन्होंने कहा कि मुझे लग रहा था कि वे ईवीएम की अर्थी निकालेंगे, लेकिन ईवीएम ने सबको जवाब दे दिया। मोदी का इशारा उन विपक्षी पार्टियों की तरफ था जो हर चुनाव के बाद ईवीएम की विश्वसनीयता पर सवाल खड़ा करते हैं। इस बार भी चुनाव के दौरान कई विपक्षी नेताओं ने ईवीएम को लेकर शिकायत की थी।

चुनाव आयोग के काम में बाधा डालने की कोशिश हुई
प्रधानमंत्री ने बताया कि विपक्ष ने चुनाव आयोग के काम में बाधा डालने की कोशिश की। इसके लिए सुप्रीम कोर्ट का सहारा लिया। उन्होंने कहा, “ये लोग सुप्रीम कोर्ट का सहारा लेकर चुनाव में रुकावट डालने की कोशिश में थे। चुनाव के पीक ऑवर्स में कोशिश हुई कि संवैधानिक संस्था पर इतने आरोप लगाएं कि बाद में परिणाम पर सवाल उठा सकें।”

यूपीआई और आधार पर भी सवाल उठाए गए
मोदी ने यह भी कहा कि यह केवल ईवीएम तक सीमित नहीं है, बल्कि यूपीआई और आधार जैसी प्रगतिशील तकनीकों पर भी ऐसे ही सवाल उठाए गए। उन्होंने कहा, कि ये लोग आधार को रोकने के लिए भी लोग सुप्रीम कोर्ट में गए। ये प्रगति के विरोधी है। इंडिी अलायंस के लोग आधुनिकता के विरोधी हैं। जब भी कुछ नया किया जाता है इंडी गठबंधन के लोग उसका विरोध करते हैं।

चाय बेचने वाला यहां तक कैसे पहुंचा गया
प्रधानमंत्री ने दुनिया में भारत की लोकतांत्रिक छवि को बनाए रखने पर जोर देते हुए कहा कि एक तरफ मैं दुनिया भर में ढोल पीट रहा हूं कि हम मदर ऑफ डेमोक्रेसी हैं। वहीं दूसरी ओर ये कह रहे हैं कि यहां डेमोक्रेसी ही नहीं है। मोदी बैठ गया है। चाय बेचने वाला यहां तक कैसे पहुंचा गया। जरूर कुछ न कुछ गड़बड़ की होगी, इसलिए यहां तक पहुंचा है।

हम ना कभी हारे थे और ना ही हारेंगे
अपने भाषण के दौरान नरेंद्र मोदी ने एनएडीए के सभी नव निर्वाचित सांसदों को संबोधित करते हुए कहा कि हम ना तो कभी हारे थे ओर ना ही कभी हारेंगे। हमारे संस्कार ऐसे नहीं है कि हम जीत का उन्माद नहीं पालते और ना ही पराजित लोगों का मजाक उड़ाते हैं। हारे हुए लोगों का मजाक उड़ाने की विकृति हममें नहीं है।

इंडी अलायंस अब और तेजी से डूबेगा
मोदी ने कहा कि 10 साल बाद भी कांग्रेस 100 सीटों का आंकड़ा नहीं छू पाएगी। अगर हम 2014, 2019 और 2024 के चुनावों को मिला दें।तो कांग्रेस को इस चुनाव में उतनी सीटें भी नहीं मिलीं, जितनी भाजपा को मिलीं। मैं साफ तौर पर देख सकता हूं कि इंडी अलायंस के लोग पहले धीरे-धीरे डूब रहे थे अब वे और तेज गति से डूबने वाले हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button