👉हाईकोर्ट ने पन्ना टाइगर रिजर्व फरेस्ट के डिप्यटी डायरेक्टर को जारी किया गिरफ्तारी वारंट !

orig 25 1626386626

👉हाईकोर्ट द्वारा दिए गए पर्याप्त अवसरो के वावजूद भी आदेश की नहीं की कंपलाईनस !

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

👉आखिरी अवसर दिया था हाईकोर्ट ने आदेश की कंपलाईनस के लिए फिर भी नहीं दीं कोई तर्जी !

👉 डिप्टी डायरेक्टर पन्ना टाइगर रिजर्व के जे.एल. रामहरि के विरुद्ध हाई कोर्ट ने किया 10 हजार का गिरफ्तारी वारंट जारी !

👉 हाई कोर्ट के स्पष्ट आदेश एवं निर्देशों के बावजूद भी नहीं किया कर्मचारी को नियमित !

👉 जिस आदेश को हाईकोर्ट कर चुकी है निरस्त उसी आदेश मे तारीख़ बदलकर अवमानना में किया कंप्लायंस रिपोर्ट के साथ प्रस्तुत !

👉जबलपुर ।:- मध्य प्रदेश हाई कोर्ट जबलपुर में दायर अवमानना याचिका क्रमांक CONC/1059/ 2022 के आवेदक शिवदयाल नापित विरुद्ध ए पी सिंह एवं अन्य के विरूध आरोप है कि अनआवेदक गणों द्वारा माननीय उच्च न्यायालय जबलपुर मे दायर याचिका क्रमांक डब्ल्यूपी 9618/ 2020 मे याचिका कर्ता द्वारा वयारलेस अपरेटर के पद पर 1984 से कार्यरत है जिसे बिना सूचना के पद से हटा दिया गया था, जिसके विरूध श्रम न्यायलय सागर मे दायर प्रकरण मे आवेदक की सेवा समाप्ति आदेश को अवैधानिक घोषित करते हुए आवेदक शिवदयाल नपित को बिना पिछले वेतन के सेवा मे पुनर्नस्थापित किए जाने का दिनांक 16/10/2008 को अवार्ड पारित किया गया है! लेकिन पन्ना टाइगर फरेस्ट के डिप्टी डायरेक्टर ने श्रम न्यायलय के आदेश के परिपालन मे 9 वर्ष बाद दिनांक 09/02/2017 को सेवा मे पुनर्स्थापित किया गया ! याचिकाकर्ता द्वारा विभाग में शासन की प्रचलित नियमों के अनुसार नियमित किए जाने का निवेदन किया गया था जिसे डिप्टी डायरेक्टर पन्ना टाइगर रिजर्व द्वारा यह कहते हुए खारिज कर दिया गया कि मध्यप्रदेश शासन की प्रचलित पालसी दिनांक 07/10/2016 के अंतर्गत आपकी सेवाएं नियमित नहीं की जा सकती तब पन्ना टाइगर रिजर्व के उक्त आदेश के विरुद्ध याचिकाकर्ता द्वारा हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की गई थी उक्त याचिका क्रमांक 9618/2020 को हाईकोर्ट ने एलाऊ करते हुए डिप्टी डायरेक्टर पन्ना टाइगर रिजर्व द्वारा पारित आदेश दिनांक 19/5/2020 को निरस्त करके स्पष्ट आदेश दिया गया था कि 60 के अंदर याचिकाकर्ता को नियमित करके स्पीकिंग आदेश जारी करें ! लेकिन डिप्टी डायरेक्टर पन्ना टाइगर रिजर्व द्वारा हाईकोर्ट के उक्त आदेश के बावजूद भी सेवाओं को नियमितीकरण करने से संबंधित कोई भी आदेश पारित नहीं किया गया, तब याचिका कर्ता द्वारा माननीय उच्च न्यायालय जबलपुर में अवमानना याचिका क्रमांक 1059/2022 दाखिल की गई ! हाईकोर्ट ने उक्त याचिका मे 15/6/2022 को A.P. सिंह प्रमुख सचिव वन विभाग भोपाल,प्रदीप त्रिपाठी मुख्य वन संरक्षक भोपाल तथा J.I. रामहरि को शोकाज नोटिस जारी किए गए थे ! दिनांक 28/7/2022 को हाईकोर्ट मे अनावेदको द्वारा जबाब दाखिल करके उसी आदेश को जिसे हाईकोर्ट दिनांक 16.12.2021 को निरस्त कर चुकी थी उसी आदेश मे तारीख़ बदलकर अनावेदको द्वारा कंपलाईनस रिपोर्ट के साथ हाईकोर्ट मे दाखिल कर दिया गया, फिर भी हाईकोर्ट ने दिनांक 04/7/2023 को आदेश की कंपलाईनस करने हेतु अनावेदक गण के लिए एक मौका और दिया गया की दिनांक 24/7/23 तक कंप्लायंस रिपोर्ट हाईकोर्ट मे दाखिल करें लेकिन अनावेदको ने उक्त आदेश को भी कोई तर्जी नहीं दीं गई तब हाईकोर्ट द्वारा अनवेदको के उक्त आचरण को दृष्टिगत रखते हुए दिनांक 24/7/23 को ₹10000 का जमानतीय गिरफ्तारी वारंट जारी करने का आदेश दिया गया है तथा दिनांक 17 अगस्त 2023 को हाईकोर्ट में उपस्थित होने का निर्देश भी दिया गया है ! याचिकाकर्ता की ओर से पैरवी अधिवक्ता रामेश्वर सिंह ठाकुर ने की !

4/5 - (4 votes)