जबलपुरभोपालमध्य प्रदेशराज्य

देश में पहली बार सस्ती तकनीक का स्तन कैंसर क्लिनिकल ट्रायल जबलपुर मेंः नेपाल-बंग्लादेश सहित 15 संस्थान के विशेषज्ञ लेंगे हिस्सा

नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल काॅलेज की बड़ी उपलब्धि, डीन ने दी बधाई

जबलपुर, यशभारत। सस्ती तकनीक से स्तन कैंसर के सर्वोत्तम और विशेष तकनीक से इलाज करने में नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल अस्पताल ने पूरेे देश में लोहा मनवा लिया है। इसी के तहत देश का सस्ती तकनीक का स्तन कैंसर क्लिनिकल ट्रायल नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल अस्पताल में होने जा रहा है। क्लिनिकल ट्रायल में नेपाल-बंग्लादेश सहित 15 संस्थान के विशेषज्ञ हिस्सा लेंगे।
डा संजय यादव ने बताया कि स्तन सर्जरी यूनिट, सर्जरी विभाग पूरे राज्य में एवं मध्य भारत में सबसे उच्च स्तरीय इलाज प्रदान कर रही है। जबलपुर मेडिकल कालेज में की गई स्तन कैंसर रिसर्च को स्तन कैंसर की कांफ्रेंस विश्व कांग्रेस ऑफ सर्जरी में इंटरनेशनल ब्रेस्ट सर्जरी एसोसिएशन द्वारा फेलोशिप अवार्ड्स लिए चयन हो चुका है। सस्ती तकनीक का स्तन कैंसर क्लिनिकल ट्रायल संभवत जुलाई माह में होगी।

ग्लो एंड गार्ड ठेका कंपनी के कर्मचारी 5

सेंटिनल लिम्फ नोड बायोप्सी की तकनीक
डाॅक्टर संजय यादव ने बताया कि स्तन कैंसर पर प्रारंभिक स्तन कैंसर के रोगियों में सेंटिनल लिम्फ नोड बायोप्सी की तकनीक का भारत का सबसे बड़ा क्लिनिकल ट्रायल (फ्लूसेंट), सर्जरी विभाग, एनएससीबी मेडिकल कॉलेज, जबलपुर द्वारा किया जा रहा है। मेडिकल कॉलेज के तहत इस क्लिनिकल ट्रायल में एम्स दिल्ली एम्स पटना, एम्स बिलासपुर, नेपाल और बांग्लादेश सहित भारत के 15 संस्थान भाग लेंगे। डीन प्रोफेसर नवनीत सक्सेना, जो मेडिकल कॉलेज की अनुसंधान इकाई की कार्यकारी समिति के प्रमुख भी हैं, ने ज्वाइनिंग के समय कहा था कि अनुसंधान उनकी सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक होगा और अब मेडिकल कॉलेज स्तन कैंसर में सबसे बड़े नैदानिक ​​​​परीक्षणों में से एक का नेतृत्व कर रहा है।

स्तन कैंसर अनुसंधान के शीर्ष केंद्रों में नंबर एक में जबलपुर
स्तन, थायराइड और एंडोक्राइन सर्जन डॉ. संजय कुमार यादव ने कहा कि हम बहुत कम लागत वाली डाइ का उपयोग करके प्रारंभिक स्तन कैंसर के लिए सेंटिनल लिम्फ नोड बायोप्सी का मूल्यांकन करेंगे। इससे स्तन कैंसर एसएलएनबी सर्जरी की लागत में काफी कमी आई है। सामान्य लागत 5000-30000 के बीच कहीं भी हो सकती है लेकिन यहां इसकी कीमत 100 रुपये से भी कम है। डॉ. संजय मध्य भारत में इस तकनीक के अग्रणी हैं। सर्जरी विभाग के प्रमुख प्रोफेसर पवन अग्रवाल ने कहा कि हमारा ध्यान हमेशा ऐसे शोध पर रहता है जो सस्ता हो और सबसे गरीब मरीजों के लिए सबसे उपयोगी हो। मेडिकल कॉलेज मध्य भारत में स्तन कैंसर अनुसंधान के शीर्ष केंद्रों में से एक बन गया है और अधिकांश अनुसंधान सबसे कम लागत पर उन्नत स्तन कैंसर इलाज पर केंद्रित हैं।

ग्लो एंड गार्ड ठेका कंपनी के कर्मचारी 6

चार शोध अध्ययनों का चयन हुआ
डॉ. संजय कुमार यादव ने बताया कि इस वर्ष अगस्त में मलेशिया में होने जा रहे वर्ल्ड कांग्रेस ऑफ सर्जरी में हमारे चार शोध अध्ययनों का चयन हुआ है और उनमें से तीन को प्रतिष्ठित ट्रैवल फेलोशिप भी मिली है। डॉ. यादव ने यह भी बताया कि सभी उन्नत स्तन कैंसर सर्जरी जैसे ऑन्कोप्लास्टिक स्तन सर्जरी, स्थानीय फ्लैप का उपयोग करके स्तन पुनर्निर्माण, सेंटिनल लिम्फ नोड बायोप्सी, एंडोस्कोपिक निपल स्पेयरिंग मास्टेक्टॉमी आदि की सुविधाएं सर्जरी विभाग में मुफ्त उपलब्ध हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button