भोपालमध्य प्रदेश

24 घंटे में मिल जाए कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट, होम आयसोलेशन में हर मरीज को दें मेडिकल किट

भोपाल
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना टेस्ट की संख्या बढ़ाई जाए और उसकी रिपोर्ट 24 घंटे में आना सुनिश्चित किया जाए। होम आयसोलेशन की व्यवस्था को पुख्ता बनाया जाए तथा होम आयसोलेशन में रह रहे हर मरीज को नि:शुल्क दवाई की किट उपलब्ध कराई जाए।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में कोरोना के इलाज के लिए अस्पतालों में बिस्तरों, ऑक्सीजन, इंजेक्शन, दवाओं आदि की सुविधा निर्बाध रूप से मिलती रहे, यह सुनिश्चित किया जाए। साथ ही इन सुविधाओं की जानकारी कॉल सेंटर 1075 आदि के माध्यम से जनता को निरंतर मिलती रहे।

मुख्यमंत्री चौहान आज निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, लोक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान, अपर मुख्य सचिव गृह राजेश राजौरा, स्वास्थ्य आयुक्त आकाश त्रिपाठी आदि उपस्थित थे।

समय पर पहुँच जाए सभी जिलों में ऑक्सीजन
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में ऑक्सीजन की आपूर्ति निरंतर बढ़ती जा रही है तथा उपयोग के हिसाब से ऑक्सीजन मिल रही है। यह सुनिश्चित किया जाए कि प्राप्त ऑक्सीजन सभी जिलों को समय पर उपलब्ध हो जाए।

चार हजार ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की व्यवस्था
प्रदेश के विभिन्न जिलों में चार हजार ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की व्यवस्था की जा रही है। इस संबंध में आदेश जारी कर दिए गए हैं। दो हजार कंसंट्रेटर पहले दिए जा चुके हैं तथा 150 कंसंट्रेटर और आ गए हैं। इसी प्रकार सभी जिलों में कुल 58 ऑक्सीजन संयंत्र चालू किए जाने के संबंध में कार्यवाही की जा रही है। इनमें से 21 लग गए हैं तथा 13 शीघ्र चालू होंगे।

प्रदेश में 63 हजार 889 एक्टिव प्रकरण
प्रदेश में कोरोना के 63 हजार 889 एक्टिव प्रकरण हैं। कोरोना के 11 हजार 269 नए प्रकरण आए हैं। प्रदेश में कोरोना संक्रमण बढ़ने की गति धीमी हुई है। एक्टिव प्रकरणों में से 68 प्रतिशत होम आयसोलेशन तथा 32 प्रतिशत अस्पतालों में हैं।

विमान से मंगाए इंजेक्शन
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि रेमडेसिविर इंजेक्शन की त्वरित आपूर्ति के लिए उन्हें विमान से मंगाने की व्यवस्था की जाए। हेट्रो कम्पनी को एक लाख रेमडेसिविर इंजेक्शन का आर्डर दिया गया है।

निर्धारित दर पर ही हो कोरोना जाँच एवं इलाज
मुख्यमंत्री चौहान ने निर्देश दिए कि निजी लैब, अस्पतालों द्वारा निर्धारित दर पर ही कोरोना टेस्ट, सीटी स्केन तथा कोरोना का उपचार किया जाए। अस्पताल टेस्ट एवं इलाज की दरें बाहर प्रदर्शित करें। जो अस्पताल निर्धारित दरों से अधिक शुल्क लें, उनके खिलाफ कार्यवाही की जाए।

टेस्टिंग के लिए न लगे लाइन
मुख्यमंत्री चौहान ने शासकीय एवं निजी लेब में कोरोना टेस्ट क्षमता बढ़ाने के निर्देश दिए। साथ ही वहां इस प्रकार की व्यवस्था की जाए कि किसी भी व्यक्ति को कोरोना टेस्ट करवाने के लिए लाइन में न लगना पड़े।

सभी जिलों में चालू हुए सीसीसी
प्रदेश के सभी जिलों में 110 कोविड केयर सेंटर प्रारंभ कर दिए गए हैं। इनमें 6,153 बिस्तरों की उपलब्धता है। मुख्यमंत्री चौहान ने निर्देश दिए कि जिन मरीजों को होम आयसोलेशन के लिए उनके घर में जगह नहीं है, उन्हें सीसीसी में रखा जाए। यहाँ दवाओं, चाय, नाश्ता, भोजन आदि सभी व्यवस्थाएँ अच्छी हों।

होम आयसोलेशन व्यवस्था को पुख्ता करें
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि होम आयसोलेशन व्यवस्था को इतना सुदृढ़ बनाया जाए कि मरीजों को अस्पताल जाने की जरूरत ही न पड़े। होम आयसोलेशन में दवाओं की किट, टेलीमेडिसिन के साथ ही निरंतर निगरानी हो। दिन में दो बार मरीज से बात की जाए। होम आयसोलेशन में रह रहे मरीजों को शहरी क्षेत्र में नगरीय निकाय एवं ग्रामीण क्षेत्र में पंचायतों के माध्यम से नि:शुल्क दवाओं की किट वितरित की जाएगी। वर्तमान में प्रदेश में 44 हजार 999 मरीज होम आयसोलेशन में हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button