बिहारराज्य

11वीं की छात्रा की सूचना से जेल ब्रेक की बड़ी कोशिश हुई नाकाम

मुजफ्फपुर  
मुजफ्फरपुर में रविवार की शाम पांच बंदियों की जेल से भागने की कोशिश 11वीं की छात्रा ने विफल कर दिया। जेल की पहली दीवार से दो बंदियों के कूदते ही छात्रा ने तत्काल इसकी सूचना अपने माता-पिता को दी। माता पिता की सूचना पर जेल के अधिकारियों ने तलाशी अभियान चलाया और दोनों को पकड़ लिया। पूछताछ में पता चला कि उन दोनों के साथ तीन अन्य बंदियों ने भागने का प्लान बनाया था। समय पर सूचना मिल जाने से सभी की योजना विफल हो गई। 

मुजफ्फरपुर की शहीद खुदी राम बोस सेंट्रल जेल के सुपरिटेंडेंट राजीव कुमार के अनुसार रविवार की शाम गिनती के दौरान दो बंदी गायब मिले। तत्काल ही चेकिंग अभियान चलाया गया। इसी दौरान एक छात्रा की मां का फोन उनके पास आया। उसने दो बंदियों को जेल की भीतरी दीवार से कूदते हुए देखा था। उसने बताया कि दीवार के पास ही पानी से भरी खाई के पास दोनों छिपे हैं। इसके बाद दोनों को वहां से पकड़ लिया गया। दोनों ने पूछताछ में अपने तीन और साथियों का नाम बताया जो उनके साथ ही भागने वाले थे। 

उन्होंने बताया कि 11वीं की छात्रा की तत्काल पहल से बंदियों को पकड़ लिया गया। रविवार की रात करीब आठ बजे छात्रा अपने घर की छत पर टहल रही थी। इसी दौरान उसने दो लोगों को जेल की भीतरी दीवार से नीचे पानी से भरी खाई की तरफ कूदते हुए देखा। कूदने के बाद दोनों रेंगते हुए अगली दीवार के पास तक गए और वहीं छिप गए। छात्रा ने इसकी जानकारी अपनी मां औऱ पिता को दी। छात्रा की मां एक जेल अधिकारी को जानती थीं। उन्होंने इस बारे में तत्काल उन्हें बताया। इस बीच कुछ स्थानीय लोगों ने भी शोर मचाया। इससे दोनों को पकड़ लिया गया। 

जेल आईजी ने की जांच
सेंट्रल जेल से बंदी के भागने के मामले में जांच को सोमवार को जेल आईजी मिथिलेश मिश्रा पहुंचे। जेल अधीक्षक राजीव कुमार सिंह और जेल उपाधीक्षक सुनील कुमार मौर्य की मौजूदगी में मामले की जांच की। कक्षपाल और जेल के अंदर जाकर बंदियों से घटना के संबंध में पूछताछ की। 
चोरी के मामले में बंद कांटी के जुम्मन मियां उर्फ कनकटवा और रेप के मामले में बंद करजा रक्शा के अभिषेक सिंह ने जेल की पहली चहारदीवारी फांद कर भागने की कोशिश की थी। पुलिस के साथ एसडीओ पूर्वी डॉ. कुंदन कुमार व नगर डीएसपी रामनरेश पासवान भी जेल पहुंचकर मामले की छानबीन की थी। फिलहाल चार कक्षपालों को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही मुख्य उच्च कक्षपाल से जवाब तलब किया गया है। बताया जाता है कि जुम्मन मियां और अभिषेक के अलावा अन्य तीनों बंदी से भी जेल आईजी ने पूछताछ की।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button