देश

हाई लेवल मीटिंग में बोले पीएम मोदी- कोरोना के आंकड़े न छिपाएं राज्‍य, अब गांवों पर हो फोकस

पीएम मोदी ने कहा, स्‍थानीय स्‍तर पर कंटेनमेंट की रणनीति बनाना अहम है

नई दिल्‍ली
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हिसाब से स्‍थानीय स्‍तर पर कंटेनमेंट की रणनीतियों से कोविड-19 संक्रमण की चेन तोड़ी जा सकती है। उन्‍होंने शनिवार को एक उच्‍चस्‍तरीय बैठक में अधिकारियों को इस दिशा में काम करने को कहा। पीएम मोदी ने कहा कि जिन राज्‍यों के जिलों में पॉजिटिविटी रेट ज्‍यादा है, वहां पर यही तरीका अपनाना होगा। प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) की ओर से मिली जानकारी के अनुसार, पीएम मोदी ने हाई-पॉजिटिविटी वाले इलाकों में टेस्टिंग बढ़ाने के भी निर्देश दिए।

पीएम मोदी ने कहा कि RT-PCR और रैपिड टेस्‍ट्स के जरिए टेस्टिंग को तेज किया जाए। उन्‍होंने अधिकारियों से कहा कि वे राज्‍यों को बिना किसी दबाव के महामारी के सही आंकड़े सामने रखने के लिए प्रोत्‍साहित करें। पीएम ने ग्रामीण इलाकों में स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं को बेहतर करने पर जोर दिया और कहा क‍ि वहां डोर-टू-डोर टेस्टिंग और सर्विलांस पर फोकस किया जाना चाहिए।

गांवों के लिए आसान भाषा में गाइडलाइंस हों: पीएम
प्रधानमंत्री मोदी ने आशा और आंगनबाड़ी वर्कर्स को सभी जरूरी चीजें मुहैया कराने को कहा है। ग्रामीण इलाकों में होम आइसोलेशन और ट्रीटमेंट के लिए आसान भाषा में चित्रों के साथ गाइडलाइंस उपलब्‍ध कराने का निर्देश दिया। उन्‍होंने कहा कि ग्रामीण इलाकों में ऑक्सिजन सप्‍लाई सुनिश्चित करने के लिए एक डिस्‍ट्रीब्‍यूशन प्‍लान तैयार किया जाए, जिसमें ऑक्सिजन कंसन्‍ट्रेटर्स का भी प्रावधान हो।

अधिकारियों ने पीएम मोदी को क्‍या बताया?
पीएम को जानकारी दी गई कि देश में कोविड-19 टेस्टिंग मार्च के शुरुआती दिनों में 50 लाख प्रति सप्‍ताह थी जो अब 1.3 करोड़ प्रति सप्‍ताह हो गई है। अधिकारियों ने घटते टेस्‍ट पॉजिटिविटी रेट और बढ़ते रिकवरी रेट से भी पीएम को अवगत कराया। वैक्‍सीनेशन प्रक्रिया के बारे में पीएम मोदी को अपडेट किया गया। आगे किस तरह वैक्‍सीन उपलब्‍ध कराई जाएंगी, इसके रोडमैप पर भी चर्चा हुई। पीएम मोदी ने अधिकारियों से कहा कि राज्‍यों के साथ मिलकर वैक्‍सीनेशन की रफ्तार बढ़ाने पर काम करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button