भोपालमध्य प्रदेश

स्कूली बच्चों को फिट रखने खेल, वॉक्थान, स्वतंत्रता दौड़, खाने तक की आदत सुधारेंगे

भोपाल
फिट इंडिया मूवमेंट के तहत स्कूली बच्चों को शारीरिक रूप से फिट रखने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने पूरे साल का कैलेण्डर तय कर लिया है। इसमें खेल, स्वतंत्रता दौड़, वॉक्थान से लेकर खाने तक की प्रक्रिया तय हो गई है।

स्कूल शिक्षा विभाग ने फिट इंडिया मूवमेंट कैलेण्डर में गतिविधियों का चिन्हांकन शारीरिक, मानसिक और सांस्कृतिक स्वास्थ्य संतुलन को ध्यान में रखते हुए किया है। इन्हें विद्यार्थी अपने विद्यालय अथवा घर पर रहकर तथा समुदाय के लोगों के साथ आपसी समन्वय से कर सकते है। सभी कलेक्टरों को कैलेण्डर में तय गतिविधियां कराने के निर्देश दिए गए है।

अप्रैल महीने में देशभक्ति की थीम पर 75 से 125 किलोमीटर तक की दूरी को चलकर या दौड़कर तय करने के लिए वॉकथान का आयोजन किया जाएगा। सामुदायिक चलन प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी। मई-जून में मानसिक फिटनेस सप्ताह मनाया जाएगा। योग दिवस में 75 विद्यार्थी सामूहिक रुप से योगासन करेंगे।प्राणायाम,मेडिटेशन के तहत पांच मिनट आंखे बंद करके ध्यान करने और उसकी क्रिया को जानने के लिए अलग-अलग सत्र किए जाएंगे। योगा ब्रेक्स के तहत कार्यस्थल पर योग के सरल व्यायाम कार्य क्षमता को बढ़ाने और स्ट्रेस को कम करने का काम करेंगे। हर दिन व्यायाम गतिविधियों में स्ट्रेचिं और वार्मअप को जोड़ा जाएगा। जुलाई में पारंपरिक स्वदेशी खेल, क्षेत्रीय नृत्य, गांव, ब्लॉक और जिला स्तर पर खेल प्रतियोगिता, जागरुकता रैली होंगी।

अगस्त में देशभक्ति गीत, कहानियों को सुनाने, स्वतंत्रता प्राप्ति के घटना स्थलों से स्वतंत्रता दौड़ का आयोजन, मार्निंग असेंबली में देशभक्ति की थीम पर रोल प्ले, डांस प्ले होंगे। स्थानीय स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों पर कहानी, निबंध, वाद-विवाद प्रतियोगिताएं आयोजित होंगी। भारत माला का चित्र सामूहिक रूप से एकत्र होकर बनाया जाएगा। अक्टूबर में फिट इंडिया दौड़ ब्लॉक स्तर पर, हमारा हराभरा गांव, साफ सुथरा गांव आदि थीम पर दौड़ते बलों और रास्ते का कचरा साफ करते चले जैसे आयोजन होंगे।

 नवंबर-दिसंबर में  स्वस्थ भोजन और खाने की प्रेक्टिस बढ़ाने, विद्यार्थियों की खाद्य प्रोफाइल तैयार करने, स्थानीय भोजन की रेसिपी को बढ़ावा देने, क्षेत्रीय भोजन के पोषण मूल्यों को जानने, अंतर विद्यालयीन खेल प्रतियोगिताओं को बढ़ावा देने के आयोजन होंगे। जनवरी और फरवरी में देश भक्ति की थीम पर लोक नृत्य, दिमागी कसरतों के खेल, त्यौहारों पर रंगोली, सजावट से घर के स्वास्थ्य को सुधारने के लिए जागरुक किया जाएगा। पूरे त्यौहार अलग तरीके से मनाए जाएंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button