भोपालमध्य प्रदेश

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा MP में 30 अप्रैल तक जारी रहेंगी पाबंदियां

भोपाल
मध्य प्रदेश में 30 अप्रैल तक पाबंदियां जारी रहेंगी. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ना जरूरी बताया है. सीएम शिवराज ने प्रदेश के लोगों से 30 अप्रैल तक घर से बाहर ना निकलने की अपील की है. उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के लक्षण पर तुरंत जांच कराने की अपील की है. सीएम शिवराज ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सभी से सहयोग मांगा है. होम आइसोलेशन में इलाज की सुविधाएं देने की बात कही है.

बता दें कि इंदौर और भोपाल में कोरोना के आउट ऑफ कंट्रोल होने पर पहले ही कोरोना कर्फ्यू को 19 अप्रैल से 26 अप्रैल तक बढ़ा दिया गया है. ऐसे में सीएम शिवराज का पाबंदियों को 30 अप्रैल तक जारी रखने के लिए कहने का मतलब है कि प्रदेश में कोरोना बेकाबू हो गया है. इसलिए इसकी चेन तोड़ने के लिए सरकार अभी सख्ती जारी रखेगी.

कोविड-19 सेंटर में मरीज को दवाई के साथ भोजन और चाय नाश्ता भी दिया जाएगा. सभी जिलों में कोविड केयर सेंटर में सुविधाएं मिलेंगी. प्रदेश में ऑक्सीजन की उपलब्धता 390 मैट्रिक टन हुई हैं. सरकारी भवनों में निजी अस्पताल शुरू करने की भी बात कही है. मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोरोना का संकट अत्यंत विकट है, यह एक युद्ध है जिसमें सबको सारे मतभेद भुलाकर एकजुट होकर लड़ना पड़ेगा। सरकार अपने स्तर पर पूरे प्रयास कर रही है, परन्तु जब तक समाज का पूरा सहयोग नहीं मिलेगा, हम कोरोना को शीघ्र नियंत्रित नहीं कर पाएंगे।

सीएम शिवराज ने कहा कि आगामी 30 अप्रैल तक प्रदेश में ऑक्सीजन की आपूर्ति 700 एमटी हो जाएगी. चौहान ने इसके लिए केन्द्र सरकार को धन्यवाद भी दिया. इसके अलावा जिलों में छोटे-छोटे ऑक्सीजन प्लांट प्रारंभ किए जा रहे हैं, तथा बड़ी संख्या में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भी भिजवाए जा रहे हैं. चौहान ने कहा कि कोरोना के इलाज में निजी अस्पतालों की भी महत्वपूर्ण भूमिका है. उन्होंने कहा कि यदि इस समय कोई निजी अस्पताल चालू करना चाहता है, तो उसे शासकीय भवन व अन्य सुविधाएं प्रदान की जाएंगी. इन्दौर में राधा स्वामी सत्संग व्यास द्वारा एक कोविड केयर सेंटर प्रारंभ किया गया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button