उत्तर प्रदेशराज्य

सियाचिन ग्लेशियर में मेरठ के लाल सूबेदार वीरेंद्र कुमार शहीद

  मेरठ                                            
मेरठ के लाल और सियाचिन ग्लेशियर में करीब 20 हजार फीट की ऊंचाई पर देश सेवा कर रहे सूबेदार वीरेंद्र कुमार शहीद हो गए। 14 अप्रैल की सुबह सांस लेने में उन्हें दिक्कत होने लगी। उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। देर शाम शहीद सूबेदार का पार्थिव शरीर सरस्वती विहार पहुंचा। स्थानीय श्मशान में सांसद, विधायक और अधिकारियों की मौजूदगी में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।

पश्चिम यूपी सब एरिया के प्रवक्ता के अनुसार, रोहटा रोड स्थित सरस्वती विहार फेज-2 निवासी सूबेदार वीरेंद्र कुमार 143 मध्यम तोपखाना में तैनात थे। वह करीब सात माह से सियाचिन में तैनात थे। मूल रूप से भदौड़ा गांव के रहने वाले वीरेंद्र सेना में 23 वर्ष की सेवा पूरी कर चुके थे। उनके परिवार में पत्नी रीना शर्मा सहित तीन बच्चे हैं। बड़ी बेटी कशिश 14 वर्ष, मुस्कान 11 वर्ष और बेटा विवान सात वर्ष है।

शहीद वीरेंद्र कुमार के छोटे भाई कुलदीप शर्मा भी सेना में हैं। शाम करीब पांच बजे सेना की गाड़ी में शहीद का पार्थिव शरीर मेरठ लाया गया। शाम को सांसद राजेंद्र अग्रवाल, कैंट विधायक सत्यप्रकाश अग्रवाल, पुलिस, प्रशासन और सैन्य अधिकारियों की मौजूदगी में अंतिम संस्कार किया गया। नम आंखों से शहीद सूबेदार को अंतिम विदाई दी गई 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button