कटनीमध्य प्रदेश

शिक्षा विभाग ने स्कूलों में बांट दी घटिया खेल सामग्री

जिला क्रीड़ा अधिकारी पर लगे गंभीर आरोप, शासकीय राशि में हीलाहवाली की शिकायतें, घटिया उपकरण एवं खेल सामग्री मिलने के बाद स्कूलों में पदस्थ खेल प्रशिक्षकों ने जताई नाराजगी

कटनी, यशभारत। राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में खेल गतिविधियों को बढ़ावा देने और खिलाडिय़ों को प्लेटफार्म देकर उनका करिया संवारने की दिशा में लगातार प्रयास किया जा रहा है, लेकिन अधीनस्थ विभाग और अधिकारियों द्वारा शासन की मंशा को पलीता लगाया जा रहा है। ताजा मामला कटनी जिले में जिला शिक्षा विभाग के अंतर्गत क्रीड़ा विभाग द्वारा खेल सामग्री को क्रय करने का सामने आया है। इस मामले में जिला क्रीड़ा अधिकारी अनूप डांगीवाल पर आरोप लगे हैं कि उनके द्वारा घटिया खेल सामग्री का क्रय करते हुए इसे स्कूलों में वितरित किया गया है। घटिया उपकरण एवं खेल सामग्री मिलने के बाद स्कूलों में पदस्थ कोचों ने नाराजगी जताई है। उनका कहना है कि राज्य सरकार द्वारा खेल सामग्री क्रय करने के लिए भारी भरकम राशि प्रदान की जाती है लेकिन जिला क्रीड़ा विभाग द्वारा इस राशि का बंदरवाट करते हुए लीपापोती करते हुए घटिया खेल सामग्री का क्रय किया गया है। गुणवत्ताहीन सामग्री से स्कूलों के खिलाड़ी किस स्तर पर तैयार होंगे और आगे जाकर कटनी जिले का नाम रोशन करेंगे, इसको लेकर संशय है। जानकारी के मुताबिक लोक शिक्षण संचालनालय मध्यप्रदेश भोपाल द्वारा प्रदेश के सभी जिलों में ग्रीष्मकालीन विभिन्न खेल प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जा रहा है। शासन की मंशा अनुसार ग्रीष्मकालीन खेल प्रशिक्षण शिविर में प्रतिभावान खिलाडिय़ों का चयन कर उन्हें प्रशिक्षित करना है, जिससे कि वह जिले, प्रदेश और देश का नाम आगे चलकर रोशन करें। इस प्रशिक्षण शिविर में आवश्यक खेल उपकरणों का आवंटन जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय द्वारा किया गया है, जिसमें निकृष्ट स्तर की गुणवत्ताहीन खेल सामग्री शालाओं के खेल प्रशिक्षकों को प्रदान की गई है। घटिया खेल सामग्री मिलने के बाद कोच ने जिला क्रीड़ा अधिकारी से बात की तो उनका जबाव था कि हमारे पास यही प्रावधान है। यदि आप असंतुष्ट हैं तो आप इन खेल सामग्री को वापस कर दीजिए। जिस पर प्रशिक्षकों ने कहा कि हम इन्हें वापस नहीं करेंगे व इन्हे आम जनता और उच्च अधिकारी को दिखाएंगे। खेल अधिकारी का कहना है, जिसे दिखाना हो दिखाएं।

■इनका कहना है
जिला क्रीड़ा विभाग द्वारा खेल सामग्री करने के लिए टेंडर आमंत्रित किए गए थे और नियमानुसार खेल सामग्री का क्रय किया गया है। खेल सामग्री गुणवत्ताहीन होने की जांच कराई जाएगी।
पी पी सिंह, डीईओ

Related Articles

■ स्कूलों में ग्रीष्मवकाश को लेकर शिविर आयोजित किए जा रहे हैं। शिविरों में बच्चों को खेल सामग्री वितरित की गई है। खरीदी में नियमों एवं मापदंडों का पालन किया गया है। घटिया खेल सामग्री वितरण के आरोप निराधार है।
अनूप डांगीवाल, जिला क्रीड़ा अधिकारीScreenshot 20240512 133259 WhatsApp

1/5 - (3 votes)

Yash Bharat

Editor With मीडिया के क्षेत्र में करीब 5 साल का अनुभव प्राप्त है। Yash Bharat न्यूज पेपर से करियर की शुरुआत की, जहां 1 साल कंटेंट राइटिंग और पेज डिजाइनिंग पर काम किया। यहां बिजनेस, ऑटो, नेशनल और इंटरटेनमेंट की खबरों पर काम कर रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button