भोपालमध्य प्रदेश

रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वालों पर पहला केस दर्ज, एक डॉक्टर, दलाल और दो ब्लैकमेलरों को किया गिरफ्तार

भोपाल
प्रदेश में पहले बार राजधानी में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वालों पर प्रकरण दर्ज करने का मामला सामने आया है। क्राइम ब्रांच भोपाल की टीम ने शाहजहांनाबाद इलाके में शनिवार दोपहर को शहर में अवैध तरीके से रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले चार लोगों को गिरफ्तार किया है। इन चार लोगों में एक डॉक्टर, एक दलाल और दो कालाबाजारी करने वाले शामिल हैं। इनके पास से चार इंजेक्शन भी बरामद किए गए हैं। ये लोग एक-एक इंजेक्शन को 18-20 हजार रुपए में बेच रहे थे। पुलिस ने चारों आरोपियों के खिलाफ 269,270,53,57 आपदा प्रबंधन अधिनियम तथा 3 महामारी अधिनियम व आवश्यक वस्तु अधिनियम.5 और 13 मध्य प्रदेश ड्रग कंट्रोल की धाराओं में प्रकरण दर्ज किया है। आज चारों को न्यायालय में पेश किया जाएगा।

एएसपी गोपाल धाकड़ के अनुसार शनिवारा दोपहर को मुखबिर ने सूचना दी कि इस्लामी गेट के पास शाहजहांनाबाद में समी खान नाम का युवक रेमडेसिविर इंजेक्शन को प्रतिबंध के बाद भी अवैध तरीके से पांच गुना तक दामों में बेच रहा है। क्राइम ब्रांच की टीम ने आरोपी से ग्राहक बनकर संपर्क किया। इसके बाद में आरोपी ने इस्लामीगेट के पास में टीम को मिलने के लिए बुलाया। वहां जालसाज ने एक इंजेक्शन की कीमत बीस हजार रुपए बताई। टीम ने 18 हजार रुपए में उससे सौदा तय किया।

पुलिसकर्मियों ने उसे झांसा देकर अधिक इंजेक्शन की मांग की। जिसके बाद में अधिक कमाई की लालच में आकर आरोपी ने दलाल अखलाक खान से संपर्क किया। अखलाक ने इंजेक्शन मुहैया कराने का दावा किया। कुछ देर में अखलाक स्वयं एक इंजेक्शन के साथ में मौके पर पहुंचा और इस्लामी गेट के पास में क्लीनिक चलाने वाले डॉक्टर एजाज और नौमान सईद से मिलवाने ले गया। वहां से आरोपियों ने दो और इंजेक्शन दिलवाए। चार इंजेक्शन लेने के बाद पुलिस ने आरोपियों को हिरासत में लिया। थाने लाकर आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। आज आरोपियों को न्यायायलय में पेश कर जेल भेज दिया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button