जबलपुर

यशभारत अपटेड @आशीष शुक्ला रेमडेसिविर इंजेक्शन कालाबाजारी: आशीष-लाइफ मेडिसिटी और संस्कारधानी अस्पताल प्रबंधन को नोटिस जारी

एसटीएफ लगातार कस रही शिकंजा, इंजेक्शन की कालाबाजारी में गिरफ्तार हुए कर्मचारी भेजे गए जेल

यशभारत, जबलपुर। रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करना अब अस्पतालों को मंहगा पड़ता जा रहा है। एसटीएफ ने अपनी कार्रवाई को आगे बढ़ाते हुए आशीष, लाइफ मेडिसिटी और संस्कारधानी अस्पताल प्रबंधन को नोटिस जारी कर सवाल-जवाब किया है। इस नोटिस के बाद अस्पतालों में हड़कंप की स्थिति बनी हुई है।

उल्लेखनीय है कि पुलिस अधीक्षक नीरज सोनी के नेतृत्व में जबलपुर में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी रोकने बड़ी कार्रवाई की गर्ई थी। आशीष अस्पताल, लाइफ मेडिसिटी अस्पताल के एक-एक डॉक्टर सहित संस्कारधानी अस्पताल के एक कर्मचारी सहित 5 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। सभी आरोपियों के पास से 4 इंजेक्शन बरामद किए गए हैं साथ ही 10 हजार 400 रूपए जप्त किए गए हैं।

ये पहुंचे जेल
सुधीर सोनी, गंगानगर गढ़ा, राहुल विश्वकर्मा गंगा नगर गढ़ा, राकेश मालवीय (संस्कारधानी अस्पताल कर्मचारी), डॉ. नीरज साहू ( आशीष अस्पताल में कार्यरत), डॉ. जितेंद्र सिंह ठाकुर (लाइफ मेडिस्टिी अस्पताल) में कार्यरत है। सभी को जेल भेज दिया गया है।

कब से यह धंधा चल रहा है पता किया जाएगा
एसटीएफ पुलिस अधीक्षक नीरज सोनी ने बताया कि तीनों अस्पताल के प्रबंधन को नोटिस जारी किया गया है। नोटिस में पूछा गया है कि पकड़े गए डॉक्टर कब से यह धंधा कर रहे हैं। इसके अलावा इन्होंने अब तक कितने लोगों को इंजेक्शन लगाए हैं और कितनी बिक्री की है। इसके साथ ही एसटीएफ ये भी पता करने में जुटी है कि डॉक्टर और कर्मचारियों के इस धंधे में अस्पताल प्रबंधन का कितना हाथ इस बारे में भी विस्तृत रूप से जांच जारी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button