बिज़नेस

मौद्रिक नीति पर आपकी भी बात सुनी जाएगी, रिजर्व बैंक ने शुरू किया सर्वे

रिजर्व बैंक कर्ज और ब्याज की अपनी नीति की अगली समीक्षा से पहले आम जनता की भी बात सुनेगा

मुंबई
देश की मौद्रिक नीति (Monetary Policy) पर आपकी बात भी सुनी जाएगी। रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) कर्ज और ब्याज की अपनी नीति की अगली समीक्षा से पहले आम जनता की भी बात सुनेगा। मुद्रास्फीति (Inflation) की आगे की दिशा पर आम लोगों की सोच और ग्राहकों के आत्मविश्वास का जायजा लेने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने अपने नियमित दो सर्वे के नए दौर शुरू करने की बुधवार को घोषणा की। बैंक ने कहा है कि कोविड-19 (Covid-19) के प्रकोप के कारण सर्वे के मई 2021 चक्र को फोन के माध्यम से किया जाएगा।

जून में होने वाली है अगली बैठक
भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की मौद्रिक नीति समिति (Monetary Policy Committee) की द्वैमासिक समीक्षा बैठक 2-4 जून 2021 को होने वाली है। मुद्रास्फीति को लेकर लोगों की प्रत्याशा और उपभोक्ताओं के आत्मविश्वास के बारे में सूचनाएं रिजर्व बैंक के लिए नीति निर्धारण की दृष्टि से बड़े महत्व की होती हैं।

18 शहरों में होगा सर्वे
आरबीआई ने कहा है कि मुद्रास्फीति की प्रत्याशा पर परिवारों के बीच सर्वेक्षण (Inflation Expectation Survey of Households) देश भर में 18 शहरों में कराया जाएगा। इस सर्वे का मई 2021 का चक्र होगा। इसमें 6000 परिवारों से महंगाई की दिशा और मुद्रास्फीति घटने-बढ़ने की संभावना के बारे में उनसे वस्तुनिष्ठ प्रश्न पूछे जाएंगे। इसी तरह उपभोक्ता आत्मविश्वास सर्वे (CCS) में 13 शहरों के कुल करीब 5,400 परिवारों से संपर्क किया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button