कटनीजबलपुरमध्य प्रदेश

माधवनगर बना आईपीएल क्रिकेट सट्टे का गढ़ :  बस स्टैंड पुलिस ने दो सटोरियों को सट्टा खिलाते पकड़ा 

कटनी, यशभारत। इंडियन क्रिकेट लीग आईपीएल के हर मैच में करोड़ों के दांव लग रहे हैं। जिले में आईपीएल का सट्टा अपने चरम पर पहुंच चुका है। इस अवैध कारोबार पर रोक लगाने के लिए पुलिस प्रयास कर रही है लेकिन पुलिस के हाथ केवल छोटे सटोरिए या बुकीज ही लग रहे हैं, जबकि बड़े सटोरियों तक पुलिस पहुंच ही नहीं पा रही, हालांकि पुलिस ने क्रिकेट सट्टे के कारोबार में लिप्त सटोरियों को पकडऩे के लिए जाल बिछाया।

 

जिस पर माधवनगर पुलिस के बाद अब बस स्टैंड पुलिस को सफलता मिली है। पुलिस ने क्रिकेट का सट्टा खिलाते हुए दो आरोपियों को दबोचा है। पकड़े गए दोनों आरोपी मोबाइल ऐप टेबल 247 और सिल्वर ईएक्ससीएच नामक ऐप के जरिए सट्टा खिलाते पकड़े गए है। पुलिस द्वारा पकड़े गए सटोरियों से पूछताछ करते हुए सट्टे के नेटवर्क का खुलासा करने का प्रयास किया जा रहा है। पकड़े गए दोनों ही आरोपी माधवनगर निवासी हैं।

 

माधवनगर क्षेत्र इन दिनों क्रिकेट सट्टे का गढ़ बना हुआ है। बस स्टैंड चौकी प्रभारी अंकित मिश्रा ने बताया कि आईपीएल की शुरुआत होते ही सट्टे के अवैध कारोबार की सूचना मिलने के बाद सटोरियों को पकडऩे के लिए अलग-अलग टीमें लगाई गई हैं। मुखबिरों की सूचना पर 29 मार्च की देर शाम माधवनगर वार्ड क्रमांक 47 गौरीशंकर मंदिर के समीप रहने वाले 25 वर्षीय रोहित पिता राजकुमार झमनानी को नदीपार केलवारा फाटक के पास मोबाइल के जरिए क्रिकेट सट्टा खिलाते हुए पकड़ा गया। पकड़े गए सटोरिए के पास से एक रेडमी कंपनी का मोबाइल और 2100 नगद रूपयों के अलावा लाखों रुपए के लेनदेन का हिसाब किताब बरामद किया गया है।

 

इसी तरह एक अन्य कार्यवाही में पुलिस ने माधवनगर कुम्हार मोहल्ला निवासी 25 वर्षीय किशन पिता करौंदा वंशकार को शिवाजी नगर सर्कस मैदान के पास क्रिकेट सट्टा खिलाते हुए पकड़ा। आरोपी के पास से एक वीवो कंपनी का मोबाइल 1300 नगद और लाखों रुपए के लेनदेन का हिसाब किताब जप्त किया गया है। जप्त किए गए हिसाब किताब के आधार पर नेटवर्क का भंडाफोड़ करने के प्रयास किया जा रहे हैं।

Rate this post

Related Articles

Back to top button