जबलपुरमध्य प्रदेश

भाजपा पूर्व नगर उपाध्यक्ष का आरोप: मोखा के अस्पताल में भर्ती पिता की मौत लापरवाही के कारण हुई

जबलपुर, यशभारत। सरबजीत सिंह मोखा के सिटी अस्पताल में भर्ती हुए मरीजों के परिजनों ने सवाल उठाना शुरू कर दिया है। इलाज में लापरवाही होने की बात भी हो रही है। कोरोना के दौर में नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन लगाने से जुड़ी खबरें आने के बाद इस महामारी में अपनो को खो चुके स्वजन सदमे में है। वो अब अपनों की मौत को लेकर संदेह जता रहे हैं कि कही ऐसा तो नहीं कि उनके मरीज को भी नकली इंजेक्शन लगा जिस वजह से मौत हुई। शहडोल जिले के भाजपा नेता ने सिटी अस्पताल की गड़बड़ी की खबर सुनने के बाद इस मामले में कानूनी सलाह लेने का फैसला लिया है। उनके पिता कोरोना संक्रमित होने पर बीते सितंबर 2020 में सिटी अस्पताल इलाज के लिए भर्ती हुए थे। जहां स्वास्थ्य खराब हुआ और नागपुर में उपचार के दौरान उनकी मौत हुई।

शहडोल जिले में भाजपा के पूर्व नगर उपाध्यक्ष और बाल कल्याण समिति सदस्य अभिषेक चौकसे ने बताया कि सिटी अस्पताल में उनके पिता स्वर्गीय सुरेश चौकसे को कोरोना संक्रमण में भर्ती कराया गया था। उस वक्त भी रेमडेसिविर इंजेक्शन लगाए गए थे। जिसके बाद उन्हें खांसी तेज आने लगी। तबियत में सुधार नहीं हुआ तो नागपुर उपचार के लिए ले गए लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। मौजूदा समय में जिस तरह खबर आ रही है कि ?सिटी अस्पताल में नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन लगाए गए है। यह जानने के बाद अभिषेक चौकसे को भी संदेह है कि कही ऐसा तो नहीं कि उनके पिता के उपचार में नकली इंजेक्शन का उपयोग किया गया हो। वो इस संबंध में अपने संदेह को साफ करने के लिए जांच करवाना चाह रहे हैं। ऐसे में कानूनी सलाह भी ले रहे है ताकि न्यायिक जांच हो सके।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button