अध्यात्म

भगवान शिव के 11वें अवतार, कलयुग के देव हनुमान जी का घर-घर में होगा पूजन

ग्वालियर।   हनुमान जयंती चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि 27 अप्रैल मंगलवार को स्वाति नक्षत्र और सिद्धि योग में मनाई जाएगी। हनुमान जयंती को भगवान हनुमान के जन्म के उपलक्ष्य में मनाया जाता है।

 

 

ज्योतिषाचार्य बताया कि राम भक्त हनुमान को कलयुग का देवता और भगवान शिव का 11वां अवतार माना गया है। शास्त्रों में कहा गया है कि हनुमानजी आज भी पृथ्वी पर वास करते हैं। भगवान हनुमान जल्द प्रसन्ना होने वाले और संकटमोचक देवता हैं। गेहूं और गुड़ से बनी वस्तुएं भगवान हनुमान का सबसे पसंदीदा भोजन है। हनुमानजी को प्रसन्ना करने के लिए भक्तों को रामायण, रामचरित मानस का अखंड पाठ, सुंदरकाण्ड का पाठ, हनुमान चालीसा, बजरंग बाण, हनुमान बाहुक आदि का पाठ करना चाहिए। इनकी आराधना करने से नकारात्मक ऊर्जा, भूत-प्रेत बाधा आदि से पूर्णत: मुक्ति मिल जाती है। कोरोना की वजह से इन मंदिरों के पट बंद रहेंगे। इसलिए हनुमान जी की पूजा घर में रहकर ही करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button