कटनीजबलपुरमध्य प्रदेश

बाघिन के जबड़े से नहीं बच पाई भूरीबाई… : जबड़े में दबाकर जंगल ले गई थी खूंखार बाघिन

 

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

बरही/कटनी, यशभारत। बीती दोपहर तहसील मुख्यालय बरही से 15 किलोमीटर दूर समीपी उमरिया के चँसुरा गांव से दिल दहलाने वाली खबर है। लकड़ी बीनने पहुंची एक महिला को बाघिन ने घायल कर दिया थाए जबकि एक अन्य महिला भूरी बाई को जबड़े में दबाकर खूंखार बाघिन जंगल के अंदर ले गई थीए जिसकी मौत हो जाने की पुष्टि हो चुकी है। इस इंसानी हमले के बाद समूचे चंसुरा गांव में भय व दहशत के साथ ग्रामीणों में आक्रोश है। बांधवगढ़ पार्क प्रबंधन सारी स्थिति पर निगरानी रखने मौके पर मौजूद है, तो वहीं ग्रामीणों की भीड़ भी एकत्रित हो गई।

 

 

मृतिका की 3 बेटियां व उसके पति का रो-रोकर बुरा हाल था। पार्क प्रबंधन द्वारा मृतिका भूरीबाई का पोस्टमार्टम कराने के उपरांत शव परिजनों के सुपुर्द किया गया। घायल महिला तेरसिया बाई का इलाज मानपुर अस्पताल में जारी है। यह घटना बीटीआर अंतर्गत पनपथा कोर के ग्राम चंसुरा गांव की बताई गई है। तेरसिया बाई उम्र 35 वर्ष घायल बताई जा रही है, वहीं भूरी पति मिजाजी कोल उम्र 50 वर्ष को जबड़े में दबाकर बाघिन जंगल की ओर ले गई थी, जिसकी मौत हो चुकी है। बहरहाल पूरे स्थिति पर पार्क प्रबंधन नजर बनाए हुए है।

Rate this post

Related Articles

Back to top button