मध्य प्रदेश

बवाल: रामलीला बंद कराने गई थी पुलिस, जानिए पत्थर मार-मारकर गांववालों ने क्या किया हाल

रतलाम. रतलाम में बुधवार रात अजीबो-गरीब वाकया हुआ. जिले के ग्रामीण इलाके में रामलीला रुकवाने गई पुलिस पर गांववालों ने अचानक पथराव कर दिया. इस हमले में पुलिसकर्मियों ने जैसे-तैसे भागकर जान बचाई. इस दौरान तीन पुलिसकर्मी घायल हुए, जिनमें एक सब इंस्पेक्टर, कॉन्सेटबल और डायल 100 का ड्राइवर शामिल हैं. सूचना मिलते ही आनन-फानन में SDOP और थाना प्रभारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और गांववालों को खदेड़ा.

जानकारी के मुताबिक, ये घटना बुधवार रात की है. किसी ने डायल 100 को सूचना दी कि आलोट से 10 किलोमीटर दूर बर्डिया राठौर गांव में रामलीला चल रही है और उसमें करीब 300 लोग मौजूद हैं. चूंकी, इलाके में लॉकडाउन लगा है, इसलिए पुलिस फौरन हरकत में आई और गांव पहुंची. पुलिस ने उनसे रामलीला बंद करने को कहा तो वे नहीं माने और विवाद करने लगे. इसके बाद कुछ गांववालों ने इलाके की लाइट बंद की और उन पर अचानक पथराव कर दिया.

पुलिस ने बल प्रयोगकर गांववालों को भगाया

इस हमले सहायक उप निरीक्षक आरसी गौड़, आरक्षक विक्रम चौधरी और डायल 100 का ड्राइवर अशोक चौहान घायल हो गए. घायल पुलिसकर्मी थाने पहुंचे और ग्रामीणों के अचानक किए गए हमले की जानकारी दी. इसके बाद आलोट थाने से पुलिस बल के साथ पहुंचे SDOP और थाना प्रभारी ने बल प्रयोग किया.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button