जबलपुरमध्य प्रदेशराज्य

प्रशासन के नाक के नीचे हो रहा मुरूम मिट्टी का अवैध उत्खनन : भूमाफियाओं के हौसले बुलंद, रात दिन जेसीबी मशीन लगाकर कर रहे अवैध उत्खनन

यश भारत शहपुरा । क्षेत्र में मिट्टी खनन माफियाओं के द्वारा दिन रात जेसीबी मशीन लगाकर मिट्टी और मुरूम का अवैध खनन किया जा रहा है जिससे राजस्व विभाग को लाखों की क्षति हो रही है।

 

डिंडोरी जिला के शहपुरा तहसील क्षेत्र के ग्रामीण क्षेत्रों में मिट्टी खनन माफियाओं के द्वारा दिन रात जेसीबी मशीन लगाकर मिट्टी का अवैध खनन किया जा रहा है, जिससे राजस्व विभाग को लाखों की क्षति हो रही है। जेसीबी मशीन संचालक राजस्थान वाले नदीम खान के खिलाफ़ में एसडीएम शहपुरा को लिखित शिकायत भी कुछ दिन पूर्व दिया गया है लेकिन अभी तक इन खनिज माफियाओं के हौसले इतने बुलंद है कि उन्हें किसी का डर नही और अभी तक इन पर कोई कार्यवाही नहीं की गई लगातार ग्रामीण क्षेत्रों में जेसीबी संचालकों के द्वारा बिना किसी परमिशन के दिन दहाड़े सरकारी भूमियों की मिट्टी और मुरूम की अवैध खनन का काम लगातार जारी है।

 

ग्रामीणों का कहना है कि क्षेत्र में हो रहे इस तरह की अवैध उत्खनन और जेसीबी संचालकों की मनमानी पर कार्यवाही न करना कहीं ना कहीं कुछ और ही बयां कर रहा है, सवाल खड़े हो रहे हैं आखिर जिम्मेदार अधिकारी क्यों नहीं करवाई कर रहे हैं और उनके सर पर किनका हाथ है। क्षेत्र में खनन माफिया पुलिस की मिलीभगत से मिट्टी का अवैध खनन कर रहे है।

शहपुरा क्षेत्र में लगातार पिछले कई दिनों से मिट्टी मुरूम का अवैध रूप से जेसीबी मशीन के द्वारा खनन किया जा रहा है। ग्रामीणों का आरोप है कि दिनदहाड़े जेबीसी मशीन से मिट्टी खोदकर ट्रैक्टरों की ट्रॉली में भरकर400- 500 रुपये प्रति ट्रॉली की दर से बेची जा रही है। जिससे राजस्व विभाग को हजारों रुपये की क्षति हो रही है।

 

माफिया रातों रात मिट्टी का खनन करते हैं। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि खनन माफिया के पास मिट्टी उठाने का कोई भी परमिट नहीं है। ग्रामीणों ने बताया कि शहपुरा थाना क्षेत्र में चाहे वह बरखेड़ा गुरैया मार्ग हो या फिर डोभी कछारी मार्ग हो या टिकरिया धीरवन क्षेत्र हो जहां पर दिन रात शहपुरा क्षेत्र के चारों ओर मुरूम मिट्टी का अवैध खनन जोरों पर होता देखा जा सकता है। बिना किसी रोक टोक के माफियाओं द्वारा अवैध खनन करके मिट्टी बेचने का गोरखधंधा जोरों पर चल रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button